राष्ट्रपति चुनने के लिए भाजपा के पास पर्याप्त वोट हैं-शरद पवार

कश्मीर में जमात ए इस्लामी ट्रस्ट द्वारा संचालित 300 स्कूल बंद होंगे।ट्रस्ट के पदाधिकारियों के संपर्क पाकिस्तान में बैठे भारत विरोधी संगठनों से।

एस0 पी0 मित्तल

कश्मीर घाटी में आए हो रही हिन्दुओं की हत्या और बढ़ती आतंकी वारदातों पर नियंत्रण पाने के लिए जम्मू कश्मीर प्रशासन ने प्रभावी पहल करते हुए कश्मीर घाटी में संचालित जमात ए इस्लामी ट्रस्ट के सभी 300 स्कूलों को बंद करने का फैसला किया है। सरकार आदेश में स्थानीय प्रशासन को निर्देश दिए गए हैं कि इन स्कूलों में पढ़ने वाले 11 हजार विद्यार्थियों का प्रवेश अगले 15 दिनों में सरकारी स्कूलों में करवा दिया जाए। ताकि कोई भी विद्यार्थी शिक्षा से वंचित न रहे। प्राप्त जानकारी के अनुसार जम्मू कश्मीर प्रशासन को खुफिया एजेंसियों के माध्यम से सूचनाएं मिल रही थी कि जमात ए इस्लामी ट्रस्ट के पदाधिकारियों के संबंध पाकिस्तान में सक्रिय भारत विरोधी संगठनों से हैं। सूचनाओं के अनुसार इन स्कूलों का उपयोग आतंकवाद को बढ़ावा देने के लिए भी हो रहा है। ट्रस्ट ने कई स्कूलें सरकारी जमीन पर भी बना रखी हैं। स्कूलों की गतिविधियां भी संदिग्ध बताई गई। ट्रस्ट की ओर से सरकार के दिशा निर्देशों की पालना भी नहीं की जा रही थी। सरकार ने विद्यार्थियों के अभिभावकों को भरोसा दिलाया है कि कोई भी विद्यार्थी शिक्षा से वंचित नहीं रहेगा। सरकार के इस कदम को आतंकवादी गतिविधियों पर नियंत्रण पाने के लिए प्रभावी माना जा रहा है।

भाजपा के पास पर्याप्त वोट:-

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने 14 जून को दिल्ली में प्रमुख विपक्षी दलों की बैठक कर राष्ट्रपति चुनाव पर मंथन किया। ममता का प्रयास है कि भाजपा के मुकाबले में संयुक्त विपक्षी दल अपना उम्मीदवार खड़ा करे, लेकिन ममता के इन प्रयासों की हवा एनसीपी के नेता शरद पंवार ने ही निकाल दी है। बैठक से पहले 14 जून को मुंबई में ममता ने शरद पवार से मुलाकात की। इस मुलाकात में ही शरद पवार ने स्पष्ट कहा कि अपना राष्ट्रपति चुनने के लिए भाजपा के पास पर्याप्त वोट हैं। पवार का कहना रहा कि विपक्षी दलों में एकता नहीं है। पवार ने ममता को भी सलाह दी कि वे राष्ट्रपति चुनाव में भाग लेने से पहले विपक्षी दलों के सांसदों और विधायकों के वोटों का आकलन कर ले।