भाजपा का तीन दिवसीय प्रशिक्षण

चित्रकूट। भारतीय जनता पार्टी उत्तर प्रदेश का तीन दिवसीय प्रशिक्षण वर्ग शुक्रवार को नानाजी देशमुख सभागार ,चित्रकूट में प्रारंभ हुआ। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ,राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं प्रदेश प्रभारी राधा मोहन सिंह ,पूर्व राष्ट्रीय महामंत्री मुरली धर राव, राष्ट्रीय संगठक वी सतीश जी और पार्टी के प्रदेश महामंत्री संगठन सुनील बंसल ने पंडित दीन दयाल उपाध्याय व डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी जी के चित्र पर पुष्पार्चन व दीप प्रज्ज्वलन कर वर्ग का शुभारंभ किया गया।प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह जी ने वर्ग के प्रारम्भ में अपने स्वागत भाषण में कहा कि प्रशिक्षण वह प्रयत्न होता है जिसके द्वारा कार्यकर्ता अपनी क्षमता तथा अपनी प्रतिभा को बढ़ता है। इसके साथ ही वह एक विशेष दिशा मे अपनी प्रवृत्ति तथा उच्च भावना को भी उत्पन्न करता है। उन्होंने कहा प्रशिक्षण का मुख्य उद्देश्य सांगठनिक कार्यों मे कार्यकुशलता लाना है। प्रशिक्षण के द्वारा कार्यकर्ता में स्वयं को अपनी संस्था का अंग बनने की क्षमता आती है।


प्रदेश प्रशिक्षण वर्ग के प्रथम सत्र में मुख्य अतिथि के रूप में मौजूद पार्टी के पूर्व राष्ट्रीय महामंत्री मुरलीधर राव जी ने एकात्ममानववाद पर चर्चा करते हुए कहा कि हमारी विचारधारा, सिद्धांत, मौलिक दृष्टि, संगठन निर्माण, सामूहिकता के दृष्टि अन्य पार्टी के वैचारिक मूल्यों से अलग है। हमने पूंजीवाद, साम्यवाद की भावना को नकारते हुए एकात्म मानववाद एवं अंत्योदय की भावना को आत्मसात किया है। हमारा संघर्ष कभी भी धर्म और विज्ञान के बीच नहीं हुआ, अपितु हमारे धर्म में व्यापक दर्शन है, सृष्टि को देखने का बोध अलग है। संगठन ने समाज और व्यक्ति में कभी भिन्नता नहीं की। हमारी दार्शनिक विचारधारा है कि जो पिण्ड में है वही ब्रम्हांड में है।


इसके पूर्व पार्टी के राष्ट्रीय संगठक वी सतीश जी ने वर्ग की प्रस्तावना रखते हुए कहा कि अनुशासित, देशव्यापी, संस्कारित, समर्पित कार्यकर्ताओं के निर्माण हेतु प्रशिक्षण अत्यंत अनिवार्य है। कोई विचार अच्छा तभी हो सकता है जब उस पर चलने वाले संस्कारिक लोग हों। शरीर, मन, बुद्धि, संस्कार के माध्यम से ही हम अपने उद्देश्यों की पूर्ति कर सकते हैं। भारतीय प्रज्ञा के आधार पर हमें अपने देश की समस्या का समाधान खोजने का प्रयास करना होगा। उन्होंने कहा हजारों वर्षों तक विदेशी आक्रांताओं के अधीन रहने के बाद भी भारत की राष्ट्रीयता जीवित रही, क्योंकि हमारा सांस्कृतिक राष्ट्रवाद जीवित था।


प्रशिक्षण वर्ग में पार्टी के राष्ट्रीय व प्रदेश पदाधिकारियों ,वरिष्ठ नेताओं द्वारा विभिन्न विषयों पर अलग अलग सत्रों में चर्चा की जाएगी। वर्ग में केंद्रीय मंत्री डॉ.महेन्द्र नाथ पाण्डेय, एस पी सिंह बघेल, उपमुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक, पूर्व उप मुख्यमंत्री डॉ.दिनेश शर्मा, कैबिनेट मंत्री सूर्य प्रताप शाही, कैबिनेट मंत्री धर्मपाल सिंह, भूपेंद्र चौधरी, अनिल राजभर, अरविन्द शर्मा, नन्द गोपाल गुप्ता नंदी, जितिन प्रसाद, जय वीर सिंह, जे.पी.एस राठौर, दयाशंकर सिंह, पार्टी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष रमापति राम त्रिपाठी प्रदेश पदाधिकारी ,मोर्चा के अध्यक्ष, विभागो /प्रकोष्ठ के प्रदेश संयोजकों सहित, क्षेत्रीय अध्यक्ष व महामंत्री, जिला प्रभारियों सहित केंद्र सरकार के मंत्रीगण राज्य सरकार के कैबिनेट मंत्रियों सहित अन्य प्रमुख नेता सम्मलित हो रहे है।