समाजवाद का मूलमंत्र सामाजिक न्याय-निषाद

54
समाजवाद का मूलमंत्र सामाजिक न्याय-निषाद
समाजवाद का मूलमंत्र सामाजिक न्याय-निषाद

समाजवाद का मूलमंत्र सामाजिक न्याय व समानुपातिक प्रतिनिधित्व है। संविधान,लोकतंत्र व आरक्षण को बचाने के लिए सपा को जीताना जरूरी-लौटन राम निषाद समाजवाद का मूलमंत्र सामाजिक न्याय-निषाद

मैनपुरी। समाजवादी पार्टी पिछड़ावर्ग प्रकोष्ठ के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष चौ.लौटनराम निषाद ने भोगाँव विधानसभा क्षेत्रांतर्गत नगला उदी,नगला सेवार,नगला उजीर,जगतपुर में आयोजित चुनावी चौपाल को सम्बोधित करते हुए कहा कि भाजपा हिन्दुत्व,धर्म और राम के नाम पर नफरत फैलाने व जनता का ध्यान असल मुद्दों से भटकाने का षडयंत्र कर रही है।उन्होंने कहा कि आमजन राम के अनुयायी हैं और भाजपा राम की व्यवसायी है।चुनावाचार्य नरेन्द्र मोदी सनातन परम्परा के विरूद्ध शंकराचार्यों को नजरअंदाज कर राजनीतिक लाभ लेने के लिए आधे-अधूरे मंदिर का उद्घाटन व प्राण-प्रतिष्ठा कर दिया। “जिसकी जितना संख्या भारी, उसकी उतना हिस्सेदारी” के लिए जातिगत जनगणना व समानुपातिक प्रतिनिधित्व के मुद्दे पर आगे बढ़ रही है।अपने को पिछड़ा बताने वाले पीएम मोदी नीलवर्ण श्रृंगाल व पिछड़ी जातियों के दुश्मन हैं।एनडीए के हिस्सा ओमप्रकाश राजभर,संजय निषाद व अनुप्रिया पटेल भाजपा जैसी शिकारी की कटिया/बंसी के चारा है।वर्तमान में भाजपा सरकार सरकारी संस्थानों,उपक्रमों को अपने पूंजीपति मित्रों के हाथों नीलाम कर निजीकरण के द्वारा ओबीसी, एससी,एसटी का आरक्षण खत्म कर रही है।उन्होंने कहा कि भाजपा हिन्दू-मुसलमान, भारत- पाकिस्तान कर जनता को गुमराह कर रही है।

चौ.लौटन राम निषाद ने आगे कहा कि जब सरकार एससी, एसटी, धार्मिक अल्पसंख्यक (मुस्लिम,सिक्ख,ईसाई,बौद्ध,जैन,पारसी,रेसलर) और किन्नरों की जनगणना कराती है, जानवरों एवं पेड़ों की गिनती कराती है तो पिछड़ों वंचितों की क्यों नहीं? उन्होंने कहा कि अपने को पिछड़ी जाति व नीच जाति का बताने वाले पीएम मोदी पिछड़ों की जनगणना क्यों नहीं करा रहे, ओबीसी पीएम की सरकार में पिछड़ों की हकमारी क्यों हो रही है?उन्होंने कहा कि भाजपा वोट के लिए निषाद,कुर्मी, कुशवाहा, विश्वकर्मा,प्रजापति,विश्वकर्मा,राजभर,चौहान,लोधी, कोरी, पासी, धानुक, वनवासी, नाई, बारी, साहू आदि को हिन्दू कहती है, वही सरकार बनने पर इन्हीं पिछड़ी जातियों का आरक्षण खुलेआम लूटकर इनका प्रतिनिधित्व खत्म किया जा रहा है।उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार आरएसएस के इशारे पर लोकतंत्र, संविधान, आरक्षण को खत्म करने में जुटी हुई है, बंच ऑफ थाट्स व वी ऑर अवर नेशनहुड डिफॉइंड की नीतियों को लागू कर वर्णव्यवस्था का राजतंत्र स्थापित करने में जुटी है। उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव 2024 में सपा का पीडीए ही एनडीए को हरायेगा। भाजपा बांटों और राज करो की नीति पर चलती है और जाति से जाति को लड़ाकर पिछड़ों, दलितों की ताकत को कमजोर करने का काम करती है।उन्होंने कहा कि मण्डल कमीशन की विरोधी भाजपा और आरएसएस कभी पिछड़ों की भलाई नहीं कर सकती।


उन्होंने कहा कि भाजपा शिकारी पार्टी है जो पिछड़े वंचित दलित वर्ग के गुलाम मानसिकता के स्वार्थी नेताओं को चारा के रूप में प्रयोग कर शिकार बनाती है।भोगाँव विधानसभा के नगला उदी,नघला सेवार,नगला उजीर,जगतपुर में आयोजित चुनावी चौपाल को सपा पिछड़ावर्ग प्रकोष्ठ के जिला महासचिव महेन्द्र सिंह कश्यप, बृजमोहन कश्यप,सुषमा देवी कश्यप,मनीष कश्यप,रामगोपाल कश्यप,रामविलास कश्यप, शिवम निषाद,आलोक शाक्य, आशीष लोधी,देवेन्द्र राजपूत आदि मौजूद रहे। समाजवाद का मूलमंत्र सामाजिक न्याय-निषाद