इन्वेस्टर्स-सम्मिट बुलाना किसान विरोधी

120

इन्वेस्टर्स-सम्मिट बुलाना किसान विरोधी

जमीन-मकान बचाओ संयुक्त मोर्चा के नेतृत्व में खिरियां बाग में119 वें दिन जारी रहा धरना। अडानी गुब्बारा पिचकने के बाद भी कारपोरेट घरानों के स्वागत में इन्वेस्टर्स-सम्मिट बुलाना किसान विरोधी। किसान इन्वेस्टर सम्मिट के खिलाफ धरने में किसान सम्मिट करेंगे।

अजय सिंह

खिरिया की बाग( कप्तानगंज) आजमगढ़ । जमीन-मकान बचाओ संयुक्त मोर्चा के तत्वाधान में 119 वें दिन धरना जारी रहा। एयरपोर्ट का विस्तार बहाना है-जमीन लूट निशाना है,एयरपोर्ट विस्तार का मास्टर प्लान वापस लो,कौन बनाता हिंदुस्तान-भारत का मजदूर किसान,जमीन हमारी आपकी-नहीं किसी के बाप की,जंग जीतेंगे अबकी बार-ये ऐलान हमारा है आदि नारें गूंजते रहे। महिलाओं ने अपने गीत गाए

धरना को संबोधित करते हुए वक्ताओं ने कहा कि मोदी राज में कारपोरेट जगत के मशहूर अडानी का गुब्बारा पिचकने के साथ शेयर बाजार भी हिचकोले खाने लगा है।भारतीय बैंक स्टेट में खासकर स्टेट बैंक और एल.आई.सी.ने गुब्बारे में खूब हवा भरी थी। तीन कृषि काले कानूनों के जरिये खेती,किसानी की जमीन भी निशाने पर थी लेकिन ऐतिहासिक किसान आंदोलन के कारण कानून वापसी के लिए मजबूर होना पड़ा।आज पुनः आजमगढ़ में एयरपोर्ट के विस्तार के नाम पर जमीन लूट निशाना है।इसी तरह मुरादाबाद में 252दिन से चल रहे आंदोलन से पता चला कि स्मार्ट सीटी के नाम पर वहां भी जमीन लूट चल रही है ।

READ MORE- साज़िश है मोहन भागवत का बयान-लौटनराम निषाद

जमीन लूट कारपोरेट घराने के निजी हाथों में सौंपने के लिए हो रही है। 10,11,12फरवरी2023 को इन्वेस्टर्स समिट के नाम पर कॉरपोरेट घरानों को लुभाने की कोशिश हो रही है जिसका गुब्बारा खुद पिचक रहा है। उनके काले कारनामे, नंगे सच को जनता के सामने लाने के लिए हम किसान सम्मिट करेंगें।धरना को रामनयन यादव,विनोद सिंह, राजनेत यादव, रामकुमार यादव ,दुखहरन राम, राजीव यादव, राजेश आजाद,सुनील पंडित, सूरजपाल अशोक, किश्मती,नीलम, सुशीला आदि लोगों ने संबोधित किया ।

इन्वेस्टर्स-सम्मिट बुलाना किसान विरोधी