डेढ़ वर्ष बाद भी नहीं हुई चकरोड की पटाई

चकरोड की पैमाइश व स्वीकृति व वर्क आईडी जारी होने के डेढ़ वर्ष बाद भी नहीं हुई चकरोड की पटाई।

अब्दुल जब्बार एडवोकेट

भेलसर(अयोध्या)। विकास खण्ड मवई के एक गांव में चकरोड की पैमाइश व स्वीकृति व वर्क आईडी जारी होने के डेढ़ वर्ष बाद भी चकरोड की पटाई न होने पर ग्राम पंचायत सदस्य ने शिकायतीपत्र दिया है।मवई ब्लॉक के ग्राम मवई के ग्राम पंचायत सदस्य मुदस्सिर इकबाल ने शिकायतीपत्र के माध्यम से कहा है कि चकमार्ग गाटा संख्या 813 की पैमाइश के लिए डेढ़ वर्ष पूर्व दिया था जिसकी पैमाइश लेखपाल द्वारा मौजूदा ग्राम प्रधान के पति व गांव के व्यक्तियों के सामने निशानदेही कर दी गयी थी।उक्त चकरोड अकोहरी जंगल के बगल से सुहेल की बाग तक है।उक्त चकमार्ग की पटाई के लिए कई बार ग्राम विकास अधिकारी व मौजूदा प्रधान से लिखित तौर पर कहा गया लेकिन कोई दिलचस्पी नही ले रहे है और चकरोड की स्वीकृति व वर्क आईडी जारी हुए डेढ़ वर्ष बीत गए हैं और चकरोड का चिन्हांकन भी हो चुका है लेकिन पटाई कार्य नहीं शुरू किया गया जबकि गांव ही में नाले की पटाई के लिए कोई कार्ययोजना तैयार किये बगैर ग्राम विकास अधिकारी व प्रधान द्वारा पटाई की जा रही है जो नियम विरुद्ध है।पीड़ित ने डी0सी0 मनरेगा को जनहित मे ऑनलाइन शिकायत कर उक्त मार्ग की पटाई व मनरेगा कार्यो की जांच कराने की मांग की है।