2022 में बदलाव जरूरी है-लोकदल

2022 चुनाव में सूबे की राजनीति में बदलाव जरूरी है।

अजय सिंह

लखनऊ। लोकदल के राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी सुनील सिंह ने राजधानी लखनऊ में नेताओं द्वारा एक मंच से दूसरे मंच पर आने जाने वाले नेताओं पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा है कि भारतीय जनता पार्टी खुद इससे अछूती नहीं है। हैरत की बात तो यह है कि भाजपा के शीर्ष नेता वंशवाद पर तो अकसर भाषण देते रहते हैं, लेकिन खुद अपनी पार्टी के वंशवाद की तरफ़ से आंखें मूंद लेते हैं।15 साल तक सपा, बसपा ने प्रदेश को लूटा है। यही कारण है कि सभी सुविधाएं उलब्ध होने के बाद भी प्रदेश पिछड़े क्षेत्रों में गिना जाता है। गांव की दशा नहीं बदली सरकार की कार्य प्रणाली के चलते लोग परेशान हैं। इस सरकार ने किसानों, गरीबों और युवाओं को ठगा है साथ ही साथ पूर्व की सरकार ने भी नहीं छोड़ा सरकार ने युवा के लिए कुछ नहीं किया है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने सौ से अधिक योजनाएं गरीबों के लिए शुरू की हैं। जो कागजों में और विज्ञापनों में दिखाई देते हैं धरातल पर नहीं।

वर्तमान की सरकार एवं पूर्ववर्ती सरकारों ने अपराधी पाले है। जिससे पूरा प्रदेश डरा हुआ है अपराधी कानून व्यवस्था को अंगूठा दिखा रहे हैं बीजेपी सरकार केवल झूठे प्रचार पर चल रही है। गरीबों, किसानों, नौजवानों के बुनियादी मुद्दों पर बात नही करती है एक तरफ भाजपा सरकार बड़े-बड़े दावे कर रही है उन्ही के मंत्री नाराज होकर डूबती नाव से दूसरी डूबती हुई नाव पर जा रहे हैं मतलब पार्टी से पलायन कर रहे हैं। इससे पता चलता है कि भाजपा का झूठी और फर्जी बनाया जहाज अब डूब रहा है। भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि भाजपा की नैया डूब रही है और भाजपा और सपा के नेताओं द्वारा पार्टी छोड़ने के बाद सारे छेद गिना दिए हैं। मतलब की भाजपा और सपा और बसपा सभी पार्टी ही सत्ता के लालच में काम कर रही थी। उन्होंने कहा कि बीते पांच साल में भाजपा सरकार ने विकास के नाम पर दलितों, पिछड़ों ,व्यापारियों और नौजवानों को धोखे में रखकर प्रचार और प्रोपगंडा फैलाया। इन्हीं के सरकार के मंत्री अपनी पार्टियों को छोड़कर दूसरी पार्टियों के नाकामियों को मंचो पर बता रहे हैं किसान, बेरोजगार, महिलाओं के मुद्दों पर भाजपा ने सिर्फ झूठ परोसा है।

भाजपा की गलत नीतियों के चलते उत्तर प्रदेश की जनता त्रस्त है। धर्म और जाति की की राजनीति करने वाली इस पार्टी की ढोल फट चुकी है। बीजेपी की नफरत की राजनीति को इस प्रदेश की जनता हराएगी। लोकदल के राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी सुनील सिंह के नेतृत्व में लोकदल 403 विधानसभा सीटों पर अपने प्रत्याशी उतारकर जनता के मुद्दों को लेकर कार्य करेगी। और उत्तर प्रदेश के विकास की झूठी बात कर रही भाजपा सरकार को सत्ता से बाहर का रास्ता दिखाए जाने के लिए लोकदल संकल्पित है। 2022 में प्रदेश की जनता ने भाजपा को हटाने का मन बना लिया है। सोच इमानदार काम दमदार नारा देने वाली भारतीय जनता पार्टी का कार्य धरातल पर कहीं भी दिखाई नहीं देता सिर्फ कागजी दावों की पोल खोलती हुई दिख रही है। सरकार विज्ञापनों में चाहे कितने दावे कर ले, लेकिन सच न तो बदला जा सकता है और न झुठलाया जा सकता है। सच यही है कि वर्तमान की सरकार बीते पांच साल से न तो रोजगार देने दिशा में कुछ कर पाई है और न ही कानून व्यवस्था में कोई सुधार हुआ है। इस गंदगी को साफ करने के लिए विधानसभा 2022 के चुनाव में लोकदल को चुनना होगा। अबकी बार किसानों की सरकार चुननी होगी। अबकी बार किसान मुख्यमंत्री ही होगा।