प्रदेश में माहौल खराब करने वालों से सख्ती से निपटे -मुख्यमंत्री


प्रदेश में कायम अमन-चैन के माहौल को खराब करने का प्रयास करने वालों से सख्ती से निपटा जाए। मुख्यमंत्री ने जनपद कानपुर नगर की घटना के सम्बन्ध में निर्देशित किया कि उपद्रवियों को चिन्हित कर उनके विरुद्ध सख्त कार्यवाही की जाए, आवश्यकता होने पर वहां पर अतिरिक्त पुलिस बल तैनात किया जाए।अनावश्यक बयानबाजी कर माहौल खराब करने की कोशिश करने वालों पर कड़ी कार्यवाही की जाए।डायल-112 के वाहन नियमित पेट्रोलिंग करें, पुलिस द्वारा नियमित फुट पेट्रोलिंग की जाए।प्रत्येक माह जिलाधिकारी उद्यमियों के साथ बैठक कर उनकी समस्याओं कानिराकरण कराएं, बैंकर्स के साथ होने वाली बैठकों में उद्यमियों के प्रतिनिधियों को भी बुलाया जाए, जनप्रतिनिधियों के साथ भी प्रत्येक माह में बैठक की जाए।जनसमस्याओं का त्वरित निस्तारण हो, थाना-तहसील संवदेनशील होकर कार्य करें।यह सुनिश्चित किया जाए कि सड़क पर धार्मिक गतिविधियां न आयोजित हों।गत दिनों अभियान चलाकर धार्मिक स्थलों से या तो माइक उतारे गए हैं या उनकी आवाज कम की गई है, यह सुनिश्चित किया जाए कि दोबारा धार्मिक स्थलों के माइक की आवाज तेज न हो।समस्त जिलों के पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी आगामी 10 जून तक सभी सड़कों को अतिक्रमण से मुक्त कराएं।मंत्री स्तरीय समूह आगामी 11 जून से पुनः मण्डलीय व जनपदीय दौरे पर जाएंगे, यह समूह इन बिन्दुओं के साथ कानून-व्यवस्था की भी समीक्षा करेंगे।

गोरखपुर। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने आज जनपद गोरखपुर में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से समस्त जनपदों के अधिकारियों के साथ बैठक करते हुये निर्देशित किया कि प्रदेश में कायम अमन-चैन के माहौल को खराब करने का प्रयास करने वालों से सख्ती से निपटा जाए। उन्होंने कहा कि प्रत्येक जनपद प्रत्येक सूचना को गम्भीरता से लें। उन्होंने जनपद कानपुर नगर की घटना के सम्बन्ध में निर्देशित किया कि उपद्रवियों को चिन्हित कर उनके विरुद्ध सख्त कार्यवाही की जाए। आवश्यकता होने पर वहां पर अतिरिक्त पुलिस बल तैनात किया जाए।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि अनावश्यक बयानबाजी कर माहौल खराब करने की कोशिश करने वालों पर कड़ी कार्यवाही की जाए। उन्होंने कहा कि डायल-112 के वाहन नियमित पेट्रोलिंग करें। पुलिस द्वारा नियमित फुट पेट्रोलिंग भी की जाए। प्रत्येक माह जिलाधिकारी उद्यमियों के साथ बैठक कर उनकी समस्याओं का निराकरण कराएं। बैंकर्स के साथ होने वाली बैठकों में उद्यमियों के प्रतिनिधियों को भी बुलाया जाए और जनप्रतिनिधियों के साथ भी प्रत्येक माह में बैठक की जाए।

उन्होंने कहा कि आम जनमानस के साथ सद्व्यवहार किया जाए।मुख्यमंत्री ने कहा कि जनसमस्याओं का त्वरित निस्तारण हो, थाना-तहसील संवदेनशील होकर कार्य करें। शिकायतों का निस्तारण गुणवत्तायुक्त हो। ज्यादा शिकायतें संज्ञान में आने पर सम्बन्धित थाने एवं तहसील की जवाबदेही भी तय की जायेगी। यह सुनिश्चित किया जाए कि सड़क पर धार्मिक गतिविधियां न आयोजित हों। गत दिनों अभियान चलाकर धार्मिक स्थलों से या तो माइक उतारे गए हैं या उनकी आवाज कम की गई है। यह सुनिश्चित किया जाए कि दोबारा धार्मिक स्थलों के माइक की आवाज तेज न हो।


मुख्यमंत्री ने समस्त जिलों के पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों को निर्देशित किया कि आगामी 10 जून तक सभी सड़कें अतिक्रमण मुक्त होनी चाहिए। अवैध टेम्पो स्टैण्ड हटा दिए जाएं। बसों को भी उनके निर्धारित स्थान पर ही पार्क कराया जाए। यह सुनिश्चित किया जाए कि किसी भी प्रतिष्ठान के स्वामी सड़क पर आगे बढ़कर दुकान न लगाएं। स्ट्रीट वेण्डरों का व्यवस्थित पुनर्वास किया जाए। इन वेण्डरों को पीएम स्वनिधि योजना का लाभ भी दिलाया जाए।मुख्यमंत्री ने कहा कि मंत्री स्तरीय समूह आगामी 11 जून से पुनः मण्डलीय व जनपदीय दौरे पर जाएंगे। यह समूह इन बिन्दुओं के साथ कानून-व्यवस्था की भी समीक्षा करेंगे। किसी भी प्रकार की लापरवाही मिलने पर सम्बन्धित के विरुद्ध कार्यवाही सुनिश्चित की जाएगी।वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में प्रदेश के सभी जिलों से प्रशासनिक व पुलिस अधिकारी जुड़े रहे।