ओडीओपी योजना से प्रदेश एक्सपोर्ट हब के रूप में हुआ विकसित-मुख्यमंत्री

  • मुख्यमंत्री का जनपद मुरादाबाद भ्रमण,यू0पी0 बोर्ड की परीक्षाओं में मुरादाबाद जनपद के उत्तीर्ण मेधावी छात्र-छात्राओं से संवाद किया।
  • मुख्यमंत्री ने ओ0डी0ओ0पी0 योजना के तहत जनपद मुरादाबाद के चिन्ह्ति विशिष्ट उत्पाद ‘मेटल क्राफ्ट’ के उत्पादनकर्ताओं एवं नियार्तकों के साथ बैठक की।
  • मुख्यमंत्री ने दिल्ली रोड जीरो प्वाइण्ट के निकट 100 लाख रु0 की लागत से निर्मित किए जा रहे पीतलनगरी मुरादाबाद के भव्य प्रवेश द्वार का शिलान्यास किया।
  • मुख्यमंत्री ने ग्राम मोढ़ा तैय्या स्थित झील के कायाकल्प कार्यों की आधारशिला रखी।मुख्यमंत्री ने क्वालिटी मैनेजमेण्ट सिस्टम के अर्न्तगत मुरादाबाद विकास प्राधिकरण को प्राप्त आईएसओ 9001ः2015 प्रमाण-पत्र प्राधिकरण के उपाध्यक्ष को प्रदान किया।
  • शिक्षा के क्षेत्र में तकनीक का अधिकाधिक प्रयोग किया जाएछात्र-छात्राएं मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना के अर्न्तगत ऑनलाइन एवं ऑफलाइन माध्यम से प्रदान की जा रही निःशुल्क कोचिंग का लाभ उठाकर अपने भविष्य को उज्ज्वल बनाएं।
  • मुख्यमंत्री ने अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस के उपलक्ष्य में छात्र-छात्राओं को अपनी जीवन शैली में योग को सम्मिलित कर  स्वस्थ शरीर में स्वस्थ मन की परिकल्पना को साकार करने तथा रचनात्मक कार्यों  के माध्यम से व्यक्तित्व का सर्वांगीण विकास सुनिश्चित करने पर बल दिया।
  • ओ0डी0ओ0पी0 योजना के सफल संचालन से प्रदेश एक्सपोर्ट हब के रूप में विकसित हुआ, योजना ने प्रधानमंत्री की ‘वोकल फॉर लोकल’ नीति को भी साकार किया
  • मुरादाबाद में कॉमन फैसिलिटी सेण्टर एवं निर्यात को प्रोत्साहित करने हेतु शीघ्र ही ‘एक्सपोर्ट सेण्टर’ विकसित किया जाएगा।
  • जनपद मुरादाबाद की ओ0डी0ओ0पी0 योजना के तहत वित्त पोषण, प्रशिक्षण एवं टूलकिट प्राप्त करने वाले लाभार्थियों को प्रतीक चिन्ह प्रदान करके सम्मानित किया।
  • जनपद मुरादाबाद में ओ0डी0ओ0पी0 योजना के अर्न्तगत 10,829 औद्योगिक इकाइयों तथा 1500 निर्यातक  इकाइयों से लगभग 03 लाख लोगों के लिए रोजगार सृजन, लगभग 9500 करोड़ रु0 के धातु शिल्प का प्रतिवर्ष निर्यात।

मुरादाबाद/लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जनपद मुरादाबाद भ्रमण कार्यक्रम के अर्न्तगत मुरादाबाद एयरपोर्ट पर आयोजित एक समारोह में माध्यमिक शिक्षा परिषद, उत्तर प्रदेश की बोर्ड परीक्षाओं में मुरादाबाद जनपद के उत्तीर्ण मेधावी छात्र-छात्राओं से संवाद किया। उन्होंने एक जनपद, एक उत्पाद (ओ0डी0ओ0पी0) योजना के तहत जनपद मुरादाबाद के चिन्ह्ति विशिष्ट उत्पाद ‘मेटल क्राफ्ट’ के उत्पादनकर्ताओं एवं नियार्तकों के साथ बैठक की। मुख्यमंत्री ने मुरादाबाद विकास प्राधिकरण द्वारा दिल्ली रोड जीरो प्वाइण्ट के निकट 100 लाख रुपये की लागत से निर्मित किए जा रहे पीतलनगरी मुरादाबाद के भव्य प्रवेश द्वार का शिलान्यास किया। उन्होंने मुरादाबाद विकास प्राधिकरण द्वारा आजादी के अमृत महोत्सव के अन्तर्गत 100 लाख रुपये की लागत से विकास खण्ड छजलैट, ग्राम मोढ़ा तैय्या स्थित झील के कायाकल्प के कार्यों की आधारशिला भी रखी। उन्होंने क्वालिटी मैनेजमेण्ट सिस्टम के अर्न्तगत मुरादाबाद विकास प्राधिकरण को प्राप्त आईएसओ 9001ः2015 प्रमाण-पत्र प्राधिकरण के उपाध्यक्ष को प्रदान किया।


जनपद मुरादाबाद की बोर्ड परीक्षाओं के अर्न्तगत हाईस्कूल परीक्षा-2022 के मेधावी छात्र-छात्राओं को सम्मानित किया। इनमें प्रदेश में द्वितीय स्थान प्राप्त करने वाली संस्कृति ठाकुर सहित राहुल जोशी, माधव सिंह,अनम जहां, अर्पित सिंह, विशाल कुमार, प्रकृति विश्नोई, अतिथि गौड़, विवेक कुमार, स्वालेहा परवीन, उलूबा बी एवं तरुण कुमार शामिल हैं। इसके अतिरिक्त, मुख्यमंत्री जी ने इण्टरमीडिएट परीक्षा-2022 में उल्लेखनीय उपलब्धि हासिल करने वाले मुरादाबाद जनपद के जतिन राज, संदीप तिवारी, सनी सिंह, रदा खातिमा, रजनीश कुमार, श्री सार्थक यादव, यशि सेहरावत, शाल सिंह, विकास कुमार तथा स्नेहा त्यागी को सम्मानित किया।मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर उपस्थित छात्र-छात्राओं, शिक्षकों, प्रधानाचार्यों व अभिभावकों का आह्वान किया कि शिक्षा के क्षेत्र में तकनीक का अधिकाधिक प्रयोग किया जाए। छात्र-छात्राएं शासन द्वारा संचालित मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना के अर्न्तगत विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं एवं प्रोफेशनल कोर्सेज हेतु ऑनलाइन एवं ऑफलाइन माध्यम से प्रदान की जा रही निःशुल्क कोचिंग का लाभ उठाकर अपने भविष्य को उज्ज्वल बनाएं। उन्होंने छात्र-छात्राओं से कहा कि यदि उनका जीवन लक्ष्य प्रशासनिक अधिकारी, डॉक्टर, इंजीनियर अथवा सेना में अफसर बनने का है, लेकिन अभावों के चलते, वे ऐसा नही कर पा रहे हैं, तो ऐसे साधनविहीन युवाओं हेतु शासन द्वारा मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना शुरु की गयी है। इस अभिनव योजना के तहत फिजिकली और वर्चुअली निःशुल्क कोचिंग की व्यवस्था की गयी है। यह योजना उन छात्रों के लिए वरदान साबित हो रही है, जिनमें पढ़ने की तथा कुछ कर दिखाने की चाह है।मुख्यमंत्री ने छात्र-छात्राओं से सीधा संवाद करते हुए उनकी जीवन शैली व अनुभवों के बारे में जानकारी प्राप्त की तथा जीवन में सफलता हेतु सकारात्मक दृष्टिकोण अपनाने की आवश्यकता पर बल दिया। उन्होंने कहा कि वे मेहनत, लगन एवं निष्ठा से अध्ययन करें, क्योंकि सच्चे मन से किया गया परिश्रम ही सफलता की कुंजी है। उन्होंने आज अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस के उपलक्ष्य में छात्र-छात्राओं को अपनी जीवन शैली में योग को सम्मिलित कर स्वस्थ शरीर में स्वस्थ मन की परिकल्पना को साकार करने तथा रचनात्मक कार्यों के माध्यम से व्यक्तित्व का सर्वांगीण विकास सुनिश्चित करने पर भी बल दिया।


मुख्यमंत्री ने एक जनपद, एक उत्पाद (ओ0डी0ओ0पी0) योजना के मुरादाबाद जनपद के मेटल क्राफ्ट उत्पादनकर्ताओं एवं निर्यातकों के साथ आयोजित बैठक में कहा कि प्रदेश शासन की महत्वाकांक्षी योजना ओ0डी0ओ0पी0 का मुख्य उद्देश्य प्रदेश के समस्त जनपदों के परम्परागत उद्योगों एवं उनमें लगे हस्तशिल्पियों को आत्मनिर्भर बनाना है। ओ0डी0ओ0पी0 योजना के सफल संचालन के फलस्वरुप प्रदेश एक्सपोर्ट हब के रूप में विकसित हुआ है। ओ0डी0ओ0पी0 योजना ने प्रधानमंत्री जी की ‘वोकल फॉर लोकल’ नीति को भी साकार किया। प्रदेश सरकार सभी जनपदों के संतुलित एवं समान रुप से विकास करने हेतु प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि उद्यमी स्वावलम्बी बनेंगे, तो समाज स्वतः ही सशक्त हो जाएगा। मुरादाबाद में कॉमन फैसिलिटी सेण्टर एवं निर्यात को प्रोत्साहित करने हेतु शीघ्र ही ‘एक्सपोर्ट सेण्टर’ विकसित किया जाएगा। उन्होंने उद्यमियों से आह्वान किया कि वे अपने उत्पादों को विश्वस्तरीय बनाकर देश के लिए अधिकाधिक विदेशी मुद्रा अर्जित करें।


मुख्यमंत्री ने जनपद मुरादाबाद की ओ0डी0ओ0पी0 योजना के तहत वित्त पोषण, प्रशिक्षण एवं टूलकिट प्राप्त करने वाले लाभार्थियों- पूर्णिमा अग्रवाल,अनुपम अग्रवाल, निश्चल आर्य, रजत सिंघल, अरविन्द चौधरी, निखित बंसल, शाहबुद्दीन, इल्यास साबरी, क्रान्ति एवं चमन जहां को प्रतीक चिन्ह प्रदान करके सम्मानित किया।जनपद मुरादाबाद में ओ0डी0ओ0पी0 योजना के अर्न्तगत औद्योगिक इकाइयों की संख्या 10,829 तथा निर्यातक इकाइयों की संख्या 1500 है, जिससे लगभग 03 लाख लोगों का रोजगार सृजन होता है तथा लगभग 9500 करोड़ रुपये का धातु शिल्प प्रतिवर्ष निर्यात होता है।इस अवसर पर जनप्रतिनिधिगण तथा शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

[/Responsivevoice]