खेल विश्वविद्यालय के लिए विभिन्न तकनीकी संस्थाओं का सहयोग लें-मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री ने मेजर ध्यानचंद खेल विश्वविद्यालय, मेरठ के निर्माण कार्यों को समयबद्ध एवं गुणवत्तापूर्ण ढंग से मानकों के अनुसार पूर्ण कराने के निर्देश दिए। खेल विश्वविद्यालय की डिजाइन एवं निर्माण कार्य के लिए विभिन्न तकनीकी संस्थाओं का सहयोग लिया जाए। यह विश्वविद्यालय मेरठ के साथ-साथ पूरे उ0प्र0 के लिए एक गौरव का प्रतीक होगा। खेल विश्वविद्यालय की डिजाइन उ0प्र0 की सांस्कृतिक विरासत और सम्पदा से प्रेरित हो तथा इनमें प्रदेश की कला, संस्कृति और वास्तु विशेषताओं का समावेश किया जाए। खेल विश्वविद्यालय में अन्तर्राष्ट्रीय स्तर की सुविधाओं का विकास किया जाए तथा अन्तर्राष्ट्रीय स्तर की खेल प्रतियोगिताओं के दृष्टिगत निर्माण कार्यों को सम्पादित किया जाए। मुख्यमंत्री ने मेजर ध्यानचंद खेल विश्वविद्यालय के निर्माण कार्याें के क्रियान्वयन की स्थिति की समीक्षा की। मुख्यमंत्री के समक्ष खेल विश्वविद्यालय के निर्माण कार्याें के सम्बन्ध में एक ले-आउट का प्रस्तुतिकरण।

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मेजर ध्यानचंद खेल विश्वविद्यालय, मेरठ के निर्माण कार्यों को समयबद्ध एवं गुणवत्तापूर्ण ढंग से मानकों के अनुसार पूर्ण कराने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि इसकी डिजाइन एवं निर्माण कार्य के लिए विभिन्न तकनीकी संस्थाओं का सहयोग लिया जाए। इस विश्वविद्यालय का परिसर एक विशिष्ट परिसर होगा, जिससे प्रदेश के युवाओं में खेल के प्रति अभिरुचि बढ़ेगी। यह विश्वविद्यालय मेरठ के साथ-साथ पूरे उत्तर प्रदेश के लिए एक गौरव का प्रतीक होगा।


मुख्यमंत्री ने मेजर ध्यानचंद खेल विश्वविद्यालय के निर्माण कार्याें के क्रियान्वयन की स्थिति की समीक्षा कर रहे थे। इस अवसर पर मुख्यमंत्री जी के समक्ष खेल विश्वविद्यालय के निर्माण कार्याें के सम्बन्ध में एक ले-आउट का प्रस्तुतिकरण किया गया। उन्होंने कहा कि खेल विश्वविद्यालय की डिजाइन उत्तर प्रदेश की सांस्कृतिक विरासत और सम्पदा से प्रेरित हो तथा इनमें प्रदेश की कला, संस्कृति और वास्तु विशेषताओं का समावेश किया जाए। इस खेल विश्वविद्यालय में अन्तर्राष्ट्रीय स्तर की सुविधाओं का विकास किया जाए तथा अन्तर्राष्ट्रीय स्तर की खेल प्रतियोगिताओं के दृष्टिगत निर्माण कार्यों को सम्पादित किया जाए। यह एक आईकॉनिक प्रोजेक्ट है।


मेजर ध्यानचंद खेल विश्वविद्यालय लगभग 90 एकड़ भूमि पर स्थापित होने वाला उच्चस्तरीय अत्याधुनिक खेल विश्वविद्यालय होगा। इस विश्वविद्यालय में सभी तरह के ओलम्पिक खेलों जैसे-हॉकी, वॉलीबॉल, ट्रैक एण्ड फील्ड, सूटिंग रेंज, जैवलिन थ्रो, भारोत्तोलन आदि की अत्याधुनिक प्रशिक्षण सुविधाएं विकसित की जा रही हैं। साथ ही, भारत के पारम्परिक खेल जैसे-मलखम्भ, खो-खो आदि जैसे खेलों के प्रोत्साहन के लिए भी प्रशिक्षण दिया जाएगा। अत्याधुनिक टर्फ मैदानों के साथ ओलम्पिक साइज स्वीमिंग पूल,साइकिलिंग ट्रैक के साथ ही, विश्वविद्यालय में प्रशासनिक भवन, शैक्षणिक भवन, छात्रों के हॉस्टल एवं प्राध्यापकांे व कर्मचारियों के आवास भी निर्मित किए जाएंगे।