जनता की राय से ही तय होगा विकास का रोडमैप-मुख्यमंत्री

जन अपेक्षाओं को जानने जनता के बीचसहज माध्यम बना ‘सरकार आपके द्वार’।जन भावनाओं के अनुरूप ही काम करेगी जनता की सरकार।जनसेवा के संकल्प को पूरा करने में उपयोगी होंगे मंत्री समूहों के अनुभव,जनता की राय से ही तय होगा विकास कार्यों का रोडमैप।मुख्यमंत्री से बोले मंत्री, मंडलीय दौरों से बढ़ा सरकार के प्रति जनविश्वासमंडलीय दौरों से लौटे मंत्रियों ने बताए अनुभव, विकास के लिए दिए सुझाव।

लखनऊ।  उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में लोकभवन स्थित मंत्रिपरिषद कक्ष में मंत्रिमंडल की बैठक सम्पन्न हुई। मंत्रिमंडल के सदस्यों को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री जी ने कहा कि सरकार गठन के उपरान्त ‘सरकार आपके द्वार’ की भावना के साथ गठित 18 मंत्री समूह मंडलीय भ्रमण के लिए गठित किये गए थे। मंत्री समूहों के मंडलीय भ्रमण के दो चरण पूर्ण हो चुके हैं।भीषण गर्मी और उमस के माहौल में जबकि लोग ठंडे क्षेत्रों में पर्यटन की तैयारी करते हैं, उत्तर प्रदेश सरकार जनता के द्वार पर उपस्थित रही। राज्य के सभी मंत्रियों ने गांवों/जिलों में दौरे किए। जन चौपाल में जनता से भेंट की, विकास परियोजनाओं/व्यवस्थाओं की पड़ताल की। इसका सकारात्मक असर देखने को मिल रहा है। यह क्रम आगे भी बना रहेगा। विगत 05 जुलाई को हमारी सरकार ने दूसरे कार्यकाल के प्रथम 100 दिन भी पूर्ण कर लिए हैं। प्रत्येक माननीय मंत्री द्वारा मीडिया के माध्यम से विभागीय उपलब्धियों का ब्यौरा जनता के समक्ष प्रस्तुत किया जा रहा है। यह हमारा दायित्व भी है कि हम जनता को अपनी कार्यप्रणाली, योजनाओं, जनहित के लिए किए जा रहे प्रयासों की जानकारी दें। यह कार्य नियमित अंतराल पर आगे भी जारी रखा जाना चाहिए।


मुख्यमंत्री ने कहा कि मंत्री समूह की रिपोर्ट सम्बन्धित जिलों के नोडल अधिकारियों को दी जाए, ताकि जन अपेक्षाओं के अनुरुप विकास कार्यों को गति दी जा सके, साथ ही मंत्रिगणों ने जिन क्षेत्रों में सुधार की जरूरत बताई है, उस पर अमल किया जाए। मंत्रिसमूह की रिपोर्ट जिलों के नोडल अधिकारियों को दी जाए। नोडल अधिकारी द्वारा मंत्री समूहों की अनुशंसा के आधार पर आवश्यक क्रियान्वयन सुनिश्चित किया जाए। रिपोर्ट के आधार पर क्षेत्रीय विकास के कार्यक्रम बनाये जा सकते हैं। अगला मंत्री समूह जब भ्रमण पर जाएगा तो पहले की रिपोर्ट के क्रियान्वयन की समीक्षा जरूर करेगा। हम एक लोकतांत्रिक व्यवस्था में निवास करते हैं। मंडलीय भ्रमण के दौरान हमें विपक्षी दलों के जनप्रतिनिधियों से संवाद कर सुझाव लेना चाहिए। उन्होंने कहा कि कैबिनेट मंत्री अपने राज्य मंत्रिगणों के साथ समन्वय बनाये रखें। विभागीय बैठकों में राज्य मंत्रियों को सम्मिलित रखें। उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार, अनियमितता की एक भी घटना स्वीकार्य नहीं है। निर्णय मेरिट के आधार पर लें। जल्दबाजी में कोई निर्णय न लें।


थाना दिवस, तहसील दिवस, विकास खण्ड दिवस को अपने उद्देश्यों में सफल बनाने में मंत्रिगण भी अपनी भूमिका का निर्वहन करें। लैंड डिजिटाइजेशन के कार्य को तेज किया जाए। उन्होंने कहा कि प्रदेश के किसी भी जनपद में अवैध टैक्सी स्टैंड, बस स्टैंड/रिक्शा स्टैंड संचालित न हों। ऐसे स्टैंड पर अवैध वसूली होने को बढ़ावा देते हैं। जहां कहीं भी ऐसी गतिविधियां संचालित हो रही हों, उन्हें तत्काल बंद कराया जाए। ई-रिक्शा का रूट तय होना चाहिए। जनवरी, 2023 में ‘यू0पी0 ग्लोबल इन्वेस्टर समिट’ के आयोजन प्रस्तावित हैं। इससे पूर्व मंत्री समूहों को विभिन्न देशों में भ्रमण के लिए जाकर वहां के औद्योगिक जगत में उत्तर प्रदेश के ‘यू0पी0 ग्लोबल इन्वेस्टर समिट-2023’  के लिए अनुकूल माहौल तैयार करना होगा।


मंत्रिमंडल की बैठक में सभी 18 मंत्री समूहों के अध्यक्षों ने अपने प्रभार वाले मंडलों की स्थिति के बारे में जनपदवार जानकारी दी। मंत्रीगणों ने बताया कि मंडलीय भ्रमण के दौरान मंडलीय समीक्षा बैठक कर विकास परियोजनाओं की अद्यतन स्थिति का जायजा लिया गया। कार्य की गुणवत्ता और समयबद्धता के लिए अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दिए गए। विस्तृत रिपोर्ट मुख्यमंत्री कार्यालय को उपलब्ध करा दी गई है।मेरठ मंडल के भ्रमण पर श्री सुरेश कुमार खन्ना की अध्यक्षता में गठित मंत्री समूह ने गौतमबुद्धनगर में स्वच्छता/सैनिटाइजेशन और सॉलिड वेस्ट के बेहतर मैनेजमेंट पर और नियोजित प्रयास की आवश्यकता बताई।


लखनऊ मण्डल के लिए गठित मंत्री समूह के अध्यक्ष सूर्य प्रताप शाही ने महमूदाबाद क्षेत्र में स्वास्थ्य सुविधाओं में और बेहतरी किए जाने की अनुशंसा की। साथ ही, सीतापुर में एक परिषदीय विद्यालय की चर्चा करते हुए इसे कायाकल्प अभियान का अनुपम उदाहरण बताया। मंत्री समूह ने लखनऊ बख्शी के तालाब क्षेत्र में ‘अमृत सरोवर’ निर्माण कार्य की सराहना की। साथ ही, मुख्यमंत्री जी से भी इस सरोवर का निरीक्षण करने का आग्रह किया। लखनऊ और हरदोई में ट्रैफिक जाम की समस्या से मुख्यमंत्री जी को अवगत कराया।
देवीपाटन मंडल के मंत्री समूह के अध्यक्ष अनिल राजभर ने मंत्री समूह के सकारात्मक संदेश को उत्साहवर्धक बताया। मंत्री समूह ने ग्रामीण क्षेत्रों में तहसील और थानों की कार्यप्रणाली को और जनोपयोगी बनाने का सुझाव दिया।


गोरखपुर मण्डल के मंत्री समूह के अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने जिलाधिकारी, सी0डी0ओ0 और पुलिस अधीक्षक के बेहतर टीम स्पिरिट वर्क की सराहना की।बस्ती मण्डल के भ्रमण पर गए मंत्री समूह की अध्यक्ष बेबी रानी मौर्य ने अस्पतालों में चिकित्सकों की संख्या बढ़ाये जाने की अनुशंसा की।बरेली मण्डल के मंत्री समूह के अध्यक्ष लक्ष्मी नारायण चौधरी ने भ्रमण के दौरान आयोजित किसान-संवाद कार्यक्रम का जिक्र करते हुए केंद्र व राज्य सरकार की किसान हितैषी नीतियों से किसानों के मन में बढ़े विश्वास की जानकारी दी। उन्होंने स्मार्ट सिटी परियोजना के अंतर्गत विभिन्न विभागों के बीच और बेहतर समन्वय की जरूरत भी बताई।वाराणसी मंडल के भ्रमण से लौटे मंत्री समूह की ओर से जयवीर सिंह ने श्रीकाशी विश्वनाथ कॉरिडोर के निर्माण के उपरांत सृजित रोजगार के अनेक प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष अवसरों को उत्साहजनक बताया। मंत्री समूह ने मुख्यमंत्री जी के जनपदीय दौरों से जनता में बढ़े विश्वास को हर्षदायक बताया। मंत्री समूह ने जल जीवन मिशन कार्यों में अंतर्विभागीय समन्वय और राजस्व के लंबित मामलों के समयबद्ध निस्तारण की अनुशंसा की।झांसी भ्रमण से लौटे मंत्री समूह के अध्यक्ष नन्द गोपाल गुप्ता ‘नन्दी’ ने वहां आयोजित जन चौपाल की जानकारी दी। साथ ही बुंदेलखंड में जल जीवन मिशन, एक्सप्रेस-वे आदि परियोजनाओं से बेहतर हो रही स्थिति से अवगत कराया।आगरा मंडल के भ्रमण से लौटे मंत्री समूह की ओर से भूपेन्द्र सिंह चौधरी ने मलिन बस्तियों में स्वच्छता/सैनिटाइजेशन बढ़ाने पर जोर दिया। साथ ही, प्रधानमंत्री आवास योजना/मुख्यमंत्री आवास योजना के तहत आवास से वंचित लोगों को यथाशीघ्र आवास दिलाने के लिए विशेष शिविरों के आयोजन की आवश्यकता बताई।मुरादाबाद मण्डल के मंत्री समूह के अध्यक्ष जितिन प्रसाद ने क्षेत्र में तेजी से बढ़ते रियल एस्टेट कारोबार, नई कॉलोनियों के विकास को नियोजित स्वरूप देने की आवश्यकता बताई।आजमगढ़ मण्डल से लौटे मंत्री समूह की ओर से योगेन्द्र उपाध्याय ने महाराजा सुहेलदेव जी के नाम पर स्थापित हो रहे आजमगढ़ राज्य विश्वविद्यालय के निर्माण कार्यों में तेजी की अपेक्षा जताई। उन्होंने आजमगढ़ में वृहद वृक्षारोपण की सराहना की।


अलीगढ़ मण्डल के भ्रमण के अनुभव साझा करते हुए सम्बंधित मंत्री समूह के अध्यक्ष अरविन्द कुमार शर्मा ने स्मार्ट सिटी परियोजना के अंतर्गत किये जा रहे कार्यों की सराहना की। साथ ही, कासगंज में नवस्थापित सीवेज ट्रीटमेंट प्लाण्ट को उपयोगी बताया। उन्होंने क्षेत्रीय गौशालाओं में बेहतर प्रबंधन की सराहना भी की।सहारनपुर मंडल के भ्रमण के अनुभव साझा करते हुए सम्बंधित मंत्री समूह के अध्यक्ष आशीष पटेल ने मुजफ्फरनगर में औद्योगिक क्षेत्र के विकास के लिए लैंड बैंक को बढ़ाये जाने की अनुशंसा की। मंत्री समूह ने बड़े हर्ष के साथ जनपद शामली में विभिन्न परियोजनाओं के अंतर्गत निर्माणाधीन भवनों की गुणवत्ता की सराहना की। साथ ही बताया कि उन्हें कोई ऐसा व्यक्ति नहीं मिला, जिसने पूछे जाने पर मुफ्त राशन योजना की सराहना न की हो।चित्रकूट मंडल के मंत्री समूह के अध्यक्ष संजय निषाद ने नहरों में जल की व्यवस्था को बेहतर करने की जरूरत बताई। मंत्री समूह ने जल जीवन मिशन से बुंदेलखंड में पेयजल की बेहतर हुई स्थिति को सुखद बताया और जालौन जिले में घरौनी वितरण के कार्य को अनुकरणीय कहा। मंत्री समूह ने कीरत सागर के पास स्व प्रेरणा से सुबह-शाम अध्ययन-अध्यापन के लिए जुटते युवाओं की सराहना की। मुख्यमंत्री जी ने इस क्षेत्र में तत्काल एक सर्वसुविधा युक्त पुस्तकालय की स्थापना के निर्देश दिए।


मंडलीय भ्रमण के दौरान महिला सुरक्षा के मामलों, एस0सी0/एस0टी0 के प्रकरणों में अभियोजन की स्थिति, पुलिस पेट्रोलिंग, बाल यौन अपराधों, व्यापारियों की समस्याओं, गैंगस्टर पर कार्रवाई आदि का विवरण प्राप्त करते हुए जीरो टॉलरेंस नीति के साथ बेहतर कानून-व्यवस्था के लिए जरूरी निर्देश भी दिए गए।मंत्री समूहों ने भ्रमण के दौरान ‘जन चौपाल’ और ‘सहभोज’ के अनुभवों को भी साझा किया। मंत्री समूह के मुताबिक महिला सुरक्षा, बेहतर स्वास्थ्य सुविधा और स्कूलों के कायाकल्प और पात्र लोगों को बिना भेदभाव मिल रहे मुफ्त राशन के विषय पर जनता में सकारात्मक माहौल है।मंत्रियों ने जनसमस्याओं/शिकायतों के निस्तारण की व्यवस्था को और बेहतर बनाये जाने की अपेक्षा भी जताई। साथ ही, मंडलीय भ्रमण के लिए मंत्री समूह के गठन के प्रयास को अभिनव बताते हुए मुख्यमंत्री जी को धन्यवाद भी दिया।