त्योहार से जुड़े सभी आयोजनों को आजादी के अमृत पर्व से जोड़ें

हर घर तिरंगा कार्यक्रम की तैयारी के दृष्टिगत प्रदेश भर के विभिन्न नागरिक गैर सरकारी संगठनों के साथ मुख्य सचिव ने की बैठक।इस बार का स्वतंत्रता दिवस बहुत ही विशेष,हर कोई अपने तरीके से स्वतंत्रता सप्ताह से जुड़े।इस दौरान सभी के घरों, सरकारी गैर सरकारी दफ्तरों, संस्थानों, सार्वजनिक स्थलों पर फहरे तिरंगा।खेल प्रतिस्पर्धा, सांस्कृतिक कार्यक्रम, गीत, संगीत, तीज, त्योहार से जुड़े सभी आयोजनों को स्वतंत्रता दिवस आजादी के अमृत पर्व से जोड़ें।स्वतंत्रता दिवस पर दिवाली जैसी साफ-सफाई का चले विशेष अभियान।

लखनऊ। भारत की आजादी के अमृत पर्व पर आयोजित स्वतंत्रता सप्ताह के तहत हर घर तिरंगा कार्यक्रम की तैयारी के दृष्टिगत प्रदेश भर के विभिन्न नागरिक गैर सरकारी संगठनों के साथ मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्र की अध्यक्षता में बैठक संपन्न हुई। श्री मिश्र ने कहा कि भारत सरकार के निर्देश के मुताबिक इस बार का स्वतंत्रता दिवस बहुत ही विशेष है। इस बार 11 से 17 अगस्त तक देश स्वतंत्रता सप्ताह मनाएगा। इस दौरान सभी के घरों, सरकारी गैरसरकारी दफ्तरों, संस्थानों, सार्वजनिक स्थलों पर तिरंगा फहराया जाना तय हुआ है।


           मुख्य सचिव ने कहा कि समाज के हर एक वर्ग को हर तबके को हर सामाजिक संगठन, जनप्रतिनिधियों, स्वयंसेवी संस्थाओं, एनसीसी कैडेट, नेहरू युवा केंद्र, गांव के नवयुवक मंगल दल, महिला स्वयंसेवी संगठनों, खेल ज्यूडिशरी, व्यापारी संगठन आदि को जोड़ें। हर कोई अपने तरीके से स्वतंत्रता सप्ताह से जुड़े ऐसी हमारी कोशिश हो। स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों बलिदानी वीरों, सेना और पुलिस के शहीदों के परिजनों को ब्लॉक पर जिले में कार्यक्रमों में बुलाकर उन्हें सम्मानित किया जाए।


           उन्होंने कहा कि यह हमारे लिए एक बड़ा इवेंट है। आगे 25 वर्षों के बाद ही ऐसा अवसर आएगा। आज हम सबके लिए कुछ बेहतर करने का मौका है। पूरी दुनिया देखे ऐसा जबरदस्त माहौल रहे। स्वतंत्रता दिवस के इस अविस्मरणीय अवसर पर कोई भी छुट्टी मनाने न जाए। मकसद यही है कि स्वतंत्रता सप्ताह पर्व महज एक सरकारी कार्यक्रम न रहे बल्कि हर एक नागरिक का कार्यक्रम बने। पूरे सात दिन तक उत्सव का माहौल हो। हमारी जिम्मेदारी हो कि आज़ादी का अमृत पर्व यादगार के रूप में मनाया। यह ध्यान रहे कहीं भी राष्ट्र ध्वज का अपमान न हो। जो झंडा फहरे उसे आजादी के 75 वर्ष के स्मृति के रूप में संजो कर रखा जाए। सरकारी कार्यालयों में खादी के झंडों आरोहण और और अवरोहण कार्य झंडा एक्ट का पालन करते हुए किया जाए। इन सभी स्थलों पर इस दौरान पूरी साफ सफाई रहे। इसके लिए विशेष अभियान चलाया जाए।


          प्रदेश के स्वयंसेवी सगठनों से अपील करते हुए मुख्य सचिव ने कहा कि आप सब सामाजिक संगठन वर्षों से जनता के बीच में सेवा कार्य कर रहे हैं। आपकी बातों को जनता गंभीरता से लेती है। आप अधिक से अधिक लोगों तक इस कार्यक्रम को पहुंचा सकते हैं। खेल प्रतिस्पर्धा, सांस्कृतिक कार्यक्रम, गीत, संगीत, तीज, त्योहार से जुड़े सभी आयोजनों को स्वतंत्रता दिवस आजादी के अमृत पर्व से जोड़ें। कानपुर के पार्षद श्यामलाल गुप्ता जी का लिखा विजयी विश्व तिरंगा प्यारा गान व अन्य देशभक्ति गीतों का सस्वर गान किया जाए। बच्चों को इन गीतों के साथ राष्ट्रगान और राष्ट्रगीत कंठस्थ कराया जाए। स्वतंत्रता दिवस पर दिवाली जैसी साफ-सफाई का विशेष अभियान चलाया जाये। लोगों को आजादी की उपयोगिता और महत्व बताएं। देश के निर्माण देने वाले श्रमिकों, मजदूरों, घरों में सेवा कार्य कर रहे लोगों, स्वच्छाग्रहियों का सम्मान कार्यक्रम करें।


           उन्होंने कहा कि तिरंगा हमारे देश के सम्मान, आन, और संप्रभुता का प्रतीक है। इसे जन जन का अभियान बनाने की आवश्यकता है। इसके लिए बड़े पैमाने पर प्रचार प्रसार किया जाए। यह हमारे लिए संकल्प और प्रेरणा का समय है। आशा है कि आप सब अपनी बाकी टीम के साथ बैठक कर सबको प्रेरित करें। सब पूरी ऊर्जा के साथ स्वतंत्रता सप्ताह, हर घर तिरंगा अभियान को सफल बनाएंगे। इस अवसर पर प्रमुख सचिव पर्यटन एवं संस्कृति मुकेश मेश्राम एवं जिलाधिकारी लखनऊ सहित सम्बन्धित अन्य वरिष्ठ अधिकारीगण एवं विभिन्न नागरिक गैर सरकारी संगठनों के पदाधिकारीगण उपस्थित थे। अन्य जनपदों से शीर्ष आलाधिकारी एवं गैर सरकारी संगठनों के पदाधिकारीगण वीडियो कॉन्फ्रेन्सिंग के माध्यम से भी जुड़े थे।