सार्वजनिक रास्ते पर स्टे आर्डर के बाद भी निर्माण

सार्वजनिक रास्ते पर स्टे आर्डर के बाद भी हो रहा है निर्माण कार्य।एसएसपी व डीएम से शिकायत के बाद भी सार्वजनिक रास्ते को बंद करने का आरोप।

अब्दुल जब्बार एडवोकेट व डॉ0 मो0 शब्बीर

भेलसर(अयोध्या)। पटरंगा थाना क्षेत्र के एक गांव में स्टे आर्डर के बाद भी सार्वजनिक रास्ते को बंद करने का आरोप लगाते हुए पीड़ित ने शिकायती पत्र दिया है।मामला पटरंगा थाना क्षेत्र के ग्राम जैनाबाद पोस्ट सिठौली का है।गांव निवासी दिलीप कुमार वर्मा ने एसएसपी,डीएम को ऑनलाइन शिकायती पत्र देकर कहा है कि गांव जैनाबाद पोस्ट सिठौली निवासी यमुना प्रसाद द्वारा ग्राम पंचायत सिठौली में सार्वजनिक रास्ते के लिए ढाई मीटर छूटे सार्वजनिक रास्ते को स्टेऑर्डर के बावजूद जबरन निर्माण कार्य किया जा रहा है।दिलीप कुमार वर्मा ने ने बताया कि इस गांव के लिए छुटी सार्वजनिक रास्ते की जमीन पर निर्माण को रोकने के लिए एसडीएम की कोर्ट में 133 सीआरपीसी का मुकदमा चल रहा है जो दिलीप कुमार वर्मा बनाम यमुना प्रसाद एसडीएम कोर्ट पर विचाराधीन है।जिसमें नवम्बर 2021 में न्यायालय द्दारा स्थगन आदेश भी पारित किया गया है कि मौके पर यथास्थिति बनाए रखी जाए।उस जगह पर कोई निर्माण न होने पाए।पीड़ित का आरोप है कि इन दबंगो द्दारा रास्ते की भूमि पर निर्माण कार्य तेजी से कराया है रहा है।दिलीप कुमार वर्मा ने बताया कि यमुना प्रसाद द्दारा अपनी दबंगई के बल पर स्टे आर्डर के बावजूद भी सार्वजनिक भूमि पर जबरन निर्माण कार्य किया जा रहा है।