विधानसभा में दलितों को पूरी भागीदारी और हिस्सेदारी मिले

सिद्धिश्री

लखनऊ। आज दिनांक 22 सितम्बर को प्रदेश कांग्रेस अनुसूचित जाति विभाग की कार्यकारिणी बैठक हुई, जिसमें विशिष्ठ अतिथि के रूप में एआईसीसी सचिव प्रदीप नरवाल जी उपस्थित रहे इसके अलावा एलडीएमआरसी के राष्ट्रीय प्रभारी क्षितिज अध्यालकर, मध्य जोन के कार्यकारी अध्यक्ष पूर्व सांसद कमल किशोर कमाण्डो, मध्य जोन के कार्यकारी अध्यक्ष श्री तनुज पुनिया, पश्चित जोन के योगी जाटव तथा प्रदेश के मंडल प्रभारी और प्रदेश पदाधिकारी मौजूद रहे। अध्यक्षता प्रदेश अनुसूचित जाति विभाग के प्रदेश अध्यक्ष आलोक प्रसाद जी द्वारा की गयी। सर्वप्रथम बैठक में नवनियुक्त राष्ट्रीय प्रभारी पश्चिम उत्तर प्रदेश के विक्रम बालमिकि और पूर्वी उत्तर प्रदेश के राष्ट्रीय प्रभारी अजीत बोरासी जी का प्रदेश अध्यक्ष आलोक प्रसाद द्वारा स्वागत किया गया।विशिष्ट अतिथि एआईसीसी सचिव प्रदीप नरवाल जी ने कहा कि आप सब पदाधिकारीगण विभाग की रीढ़ है, आप सब की मेहनत और एकजुटता से काम करने से ही हम 2022 में अपनी सरकार बनाने में सक्षम हो पायेगें।


राष्ट्रीय प्रभारी अजीत बोरासी ने कहा कि स्वयं में दम होना चाहिए, हम सभी को मिलकर मेहनत मशक्कत करके आने वाले कुछ महीनों में मौजूदा सरकार को हिलाकर रख देना हैं। जिला, ब्लाकों की कमेटी में बैठक करके आपके द्वारा बनाये गये तीन हजार ग्राम अध्यक्षों के साथ मिलकर जमीनी स्तर पर जाकर बूथ स्तर पर काम करना होगा।पश्चिमी उत्तर प्रदेश के राष्ट्रीय प्रभारी श्री विक्रम बालमिकि जी ने कहा कि उत्तर प्रदेश में दलित समाज को मान सम्मान दिलाउंगा और आने वाले विधानसभा में दलितों को पूरी भागीदारी और हिस्सेदारी मिले इसका पूरा प्रयास करेगें।मध्य जोन के कार्यकारी अध्यक्ष श्री तनुज पुनिया ने बताया कि 22 सितम्बर को हाथरस काण्ड की बरसी को लेकर 29 सितम्बर को कांग्रेस अनुसूचित जाति विभाग प्रत्येक जनपद में कैण्डल मार्च करके मृतका के प्रति अपनी शोक संवेदना व्यक्त करेगें, इसके अलावा सभी पदाधिकारियों को सप्ताह में दो बार दलित ग्रामों में प्रवास करके दलित समाज के सुख-दुख में शामिल होकर उनको हर संभव न्याय दिलाने के साथ-साथ कांग्रेस पार्टी द्वारा किये गये कार्यो की चर्चा करते हुए कांग्रेस पार्टी का प्रचार-प्रसार करेगें।  


प्रदेश कार्यकारिणी बैठक को सम्बोधित करते हुए प्रदेश अध्यक्ष आलोक प्रसाद जी ने कहा कि दलित समाज की जगह कांग्रेस पार्टी के दिल में है। पंजाब प्रांत में दलित समाज का मुख्यमंत्री बनाना समाज के प्रति लगाव का कोई पहला काम नहीं है। कांग्रेस पार्टी के दलित प्रेम को दिखावा की संज्ञा देने वाले आजादी के बाद के इतिहास में जांए तो वह देखेंगें कि पंजाब प्रांत का दलित समाज का मुख्यमंत्री बनाने के पूर्व 1960 में आंध्र प्रदेश में दलित समाज के ही दामोदर संजीव्वैया, राजस्थान में दलित समाज के जगन्नाथ पहाड़िया, बिहार में भोला पासवान शास्त्री तथा महाराष्ट्र प्रांत में दलित समाज की सुशील कुमार शींदे जी को मुख्यमंत्री की कुर्सी पर बैठकर कांग्रेस पार्टी ने दलित समाज को सम्मान दिया है। वही बाबा साहब भीमराव अम्बेडकर की योग्यता को देखकर कांग्रेस पार्टी के सदस्य नहीं होने बाद भी कांग्रेस पार्टी ने उन्हें देश का पहला कानून मंत्री तथा संविधान सभा का अध्यक्ष बनाकर जो सम्मान दिया है उसे दलित समाज कभी भूल नहीं सकता।


कार्यकारिणी की बैठक में दो प्रस्ताव रखे गये, जिसमें अखिल भारतीय अनुसूचित जाति विभाग के अध्यक्ष श्री नितिन राउत जी द्वारा दिल्ली में प्रस्ताव दिया गया था कि राहुल गांधी जी को भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस का अध्यक्ष बनाया जाए। उसी प्रस्ताव को आज उत्तर प्रदेश कांग्रेस अनुसूचित जाति विभाग द्वारा पुरजोर समर्थन किया गया।  दूसरे प्रस्ताव में राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीमती सोनिया गांधी तथा पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री राहुल गांधी द्वारा चरनजीत सिंह चन्नी जी को पंजाब में दलित मुख्यमंत्री बनाये जाने पर बहुत – बहुत धन्यवाद और आभार प्रकट किया गया।  
कार्यकारिणी बैठक के पश्चात कांग्रेस पार्टी में आस्था और विश्वास रखते हुए जिला बहराइच से आये हुए शिव बालक, मोविद खान, रामेश्वर कुमार, अलीम खान, सिराजुद्दीन ने अपने सैकड़ों कार्यकर्ताओं के साथ अनुसूचित जाति विभाग के प्रदेश अध्यक्ष आलोक प्रसाद , पश्चिम उत्तर प्रदेश के प्रभारी विक्रम बालमिकि, पूर्वी उत्तर प्रदेश के प्रभारी अजीत बोरासी, पूर्व सांसद, कार्यकारी अध्यक्ष कमल किशोर कमाण्डो,तनुज पुनिया, योगी जाटव के समक्ष कांग्रेस पार्टी की सदस्यता ग्रहण की।बैठक में प्रमुख रूप से मनोज गौतम, सिद्धिश्री, संदीप सिंह, साहब सरन पासी  विषम सिंह, सुशील बालमिकि, विकास सोनकर, राकेश सचान, राकेश पासवान, संतराम निलांचल, मोहन सिंह,अमित कन्नौजिया, पंकज सोनकर,  पवन देवी कोरी, विनित गौतम, महेश बालमिकि, विनय गौतम सहित सैकड़ों कार्यकर्ता मौजूद रहे।