बहुआयामी प्रतिभा के धनी थे डा0 मुखर्जी -स्वतंत्र देव

मनीष दीक्षित

लखनऊ। भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं ने जनसंघ के संस्थापक एवं देश की एकता और अखण्डता के लिए अपने प्राणों की आहुति देने वाले डा. श्यामा प्रसाद मुखर्जी के बलिदान दिवस पर गुरुवार को प्रदेश भर में बूथ स्तर पर श्रद्धाजंलि अर्पित की। प्रदेश में सभी संगठनात्मक जिला ईकाईयों ने डा. श्यामा प्रसाद मुखर्जी के विचार एवं प्रेरणा से सम्बधित विचार गोष्ठियों का आयोजन किया। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह सहारनपुर में डा. श्यामा प्रसाद मुखर्जी की पुण्यतिथि पर सहारनपुर महानगर के बूथ क्रमांक 398 पर आयोजित बलिदान दिवस के कार्यक्रम पर हुई संगोष्ठी में सम्मिलित होकर उनके व्यक्तित्व और कृतित्व के बारे में प्रेरक बातें पार्टी कार्यकर्ताओं को बताई। पार्टी के राज्य मुख्यालय पर भी कार्यकर्ताओं ने बलिदान दिवस पर डा. श्यामा प्रसाद मुखर्जी जी को श्रद्धाजंलि अर्पित की।


प्रदेश अध्यक्ष व प्रदेश के जल शक्ति मंत्री श्री स्वतंत्र देव सिंह ने सहारनपुर में डा. श्यामा प्रसाद मुखर्जी जी को श्रद्धाजंलि अर्पित करते हुए उन्हें आजादी के बाद देश की एकता और अखण्डता के लिए प्रथम बलिदानी योद्धा बताया। उन्होंने कहा कि डा. श्यामा प्रसाद मुखर्जी जी ने एक विधान एक प्रधान और निशान का नारा दिया था और इसी के लिए उन्होंने अपना बलिदान दिया। उन्होने कहा कि माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में भाजपा सरकार ने जम्मू कश्मीर से धारा 370 हटाकर परम श्रद्धेय डा. श्यामा प्रसाद मुखर्जी जी को सच्ची श्रद्धाजंलि दी है। हम सबको मिलकर एक भारत श्रेष्ठ भारत की दिशा में कार्य करते रहना है।


प्रदेश भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि डा. श्यामा प्रसाद मुखर्जी बहुआयामी प्रतिभा के धनी थे। उन्होंने कहा कि डा. श्यामा प्रसाद मुखर्जी जी के सपनों को साकार करने का काम माननीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केन्द्र की भाजपा सरकार ने किया है। श्री सिंह ने कहा भाजपा शुरू से ही एक सशक्त भारत के निर्माण के लिए समर्पित रही है। उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं का आहृवान किया कि वे डा. श्यामा प्रसाद मुखर्जी के दिखाए रास्ते पर चलते हुए एक सशक्त भारत के निर्माण के लिए अपनी भूमिका का निर्वाहन करें।