गलत सूचनाये देकर भ्रमित करता ईपीएफओ

पेंशन बढ़ाने की मांग कर रहे पेंशनरों ने ईपीएफओ कार्यालय का किया घेराव।

अजय सिंह

लखनऊ। ई पी एस 95 राष्ट्रिय संघर्ष समिति ने आज भारी बारिश के बावजूद कर्मचारी भविष्य निधि संगठन कार्यालय पर जोरदार प्रदर्शन कर सार्वजनिक और निजी क्षेत्र के पेंशनरो की पेन्शन बढ़ाने व कैशलेस चिकित्सा सुविधा की माँग की। वक्ताओ ने कहा कि केंद्र और राज्य सरकार दोनो गूँगी बहरी हो गयी हैं। जहाँ दो बार प्रधानमंत्री द्वारा आश्वासन दिये जाने के बावजूद केंद्र सरकार ने न्यूनतम पेन्शन बढ़ाने का अभी तक कोई आदेश नही किया है वहीं दूसरी ओर उ प्र के मुख्यमंत्री सरकारी कर्मियो/पेंशनरो को कैशलेस चिकित्सा सुविधा प्रदान कर रहे है और सार्वजनिक/निजी क्षेत्र के पेंशनरो को इस सुविधा से अलग कर घोर अन्याय कर रहे है, साथ ही अनेक निगमो मे छठे वेतनमान का एरियर रोक रखा है जिसके भुगतान का आदेश नही करके अल्प पेन्शनभोगियो का शोषण कर रहे हैं।

ईपीएफओ द्वारा गलत सूचनाये देकर सरकार को भ्रमित किया जा रहा है, जिसका ए जी ऑडिट होना चाहिये। इसके विरोध मे आयुक्त ईपीएफओ के माध्यम से प्रधानमंत्री के लिये ज्ञापन दिया गया,जिसमे सार्वजनिक/ निजी क्षेत्र के पेंशनरो की न्यूनतम पेन्शन 7500 करने व डी ए तथा कैशलेस चिकित्सा सुविधा प्रदान करने की माँग शामिल है।साथ ही आवश्यक वस्तु निगम के पेंशनर्स की दो वर्ष अधिक जमा पेन्शन अंशदान की वापसी व अपट्र।न सहित कई विभागो की समस्याओ का निस्तारण न करके उनको परेशान करने के विरोध मे प्रदर्शन किया गया । ईपीएस 95 पेंशनर्स अब 1 अगस्त से दिल्ली मे ईपीएफओ पर क्रमिक अनशन करेंगे और 7 अगस्त से आमरण अनशन करेंगे। साथ ही 8 अगस्त को रामलीला मैदान दिल्ली मे “करो या मरो” रैली होगी जिसमे देशभर से लाखो की संख्या मे पेंशनर्स भाग लेंगें।


आज धरना/ प्रदर्शन मे लखनऊ मंडल के अनेक सार्वजनिक निगमो, निजी क्षेत्र के पेंशनर्स ने हजारो की संख्या ने भाग लिया तथा प्रदर्शन स्थल पर सभा को सर्वश्री के एस तिवारी, राज शेखर नागर, राजीव भटनागर, पी के श्रीवास्तव, आर एन द्विवेदी, उमाकान्त सिंह, शम्शुल हसन, अशोक बाजपेयी,आर सी मिश्रा,सुभाष चौबे, दिलीप पांडे,फेड्रिक क्रूज़,राजेश तिवारी ,गिरेन्द्र सिंह अचल मेहता, काज़िम रजा व गीता वर्मा , अखिलेश दयाल आदि ने सम्बोधित किया ।