ई.वी.एम./वी.वी.पैट मशीनें स्ट्रांग रुम में राजनैतिक दलों/प्रत्याशियों के सामने नहीं की गई सील

88

राजेन्द्र चौधरी

  उत्तर प्रदेश विधान सभा सामान्य निर्वाचन-2022 में जनपद फतेहपुर में समस्त  6 विधानसभा क्षेत्र में मतदान सम्पन्न हो जाने के बाद शेष रिजर्व/अतिरिक्त ई.वी.एम. व वी0वी0 पैट मशीनें रख दी गई है। उनका रिकॉर्ड राजनैतिक दलों/सभी प्रत्याशियों को जिला निर्वाचन अधिकारी फतेहपुर द्वारा उपलब्ध नहीं कराया गया। शेष बची ई.वी.एम./ वी.वी. पैट मशीनें किसी स्ट्रांग रुम में राजनैतिक दलों/प्रत्याशियों के सामने सील भी नहीं की गई, जिससे दुरुपयोग की आशंका व्यक्त की जा रही है।समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल द्वारा मुख्य चुनाव आयुक्त, भारत निर्वाचन आयोग, नई दिल्ली को पत्र लिख कर उत्तर प्रदेश विधानसभा सामान्य चुनाव-2022 में जनपद फतेहपुर में समस्त 6 विधानसभा क्षेत्रों में मतदान सम्पन्न हो जाने के बाद शेष रिजर्व/अतिरिक्त ई. वी.एम. व वी.वी. पैट मशीन का रिकॉर्ड सभी राजनैतिक दलों को उपलब्ध कराने की मांग की है।


    समाजवादी पार्टी ने मांग की है कि जनपद फतेहपुर में समस्त 6 विधानसभा क्षेत्र में मतदान सम्पन्न हो जाने के बाद शेष रिजर्व/अतिरिक्त ई.वी.एम. व वी.वी. पैट मशीन का रिकॉर्ड सभी राजनैतिक दलों को उपलब्ध कराया जाय, जिससे कि स्वतंत्र, निष्पक्ष, निर्भीक चुनाव सम्पन्न हो सके।श्री पटेल ने एक अन्य पत्र में लिखा है कि उत्तर प्रदेश विधान सभा सामान्य निर्वाचन-2022 में जनपद बस्ती में मतदान में प्रयुक्त की गई ई.वी.एम. मशीनें स्ट्रांग रूम में रखी गई है, स्ट्रांग रूम के आगे व पीछे सी.सी. टी.वी. कैमरा तत्काल लगानी चाहिए।उत्तर प्रदेश विधान सभा सामान्य निर्वाचन-2022 में जनपद बस्ती में स्ट्रांग रूम के पास प्रत्याशियों के नाम की पर्चियां फेंके जाने एवं जलाये जाने तथा फार्म-17 ग की प्रतियां फेंके जाने एवं जलाये जाने तथा ई.वी.एम. के सील टैग बड़ी संख्या में फंेके जाने व जलाये जाने की शिकायतें प्राप्त हुई है। स्ट्रांग रुम के आगे व पीछे बड़ी संख्या में झाड़ एवं जंगल है जहाँ से गड़बडी की आशंका है।


    समाजवादी पार्टी की मांग है कि स्वतंत्र, निष्पक्ष, निर्भीक चुनाव सम्पन्न कराने के लिए जनपद बस्ती के स्ट्रांग रूम के आगे व पीछे सी.सी. टी.वी. कैमरा तत्काल प्रभाव से लगाया जाय जिससे कि स्ट्रांग रुम की सुरक्षा और पुख्ता की जा सके।श्री पटेल ने एक अन्य पत्र में पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा बड़ी संख्या में पुलिस कर्मियों से मतदाता पहचान पत्र, आधार कार्ड तथा हस्ताक्षर युक्त फोटो जमा कराये जाने तथा उसके आधार पर उनके पोस्टल मतों का दुरूपयोग होने के विरूद्ध शिकायत की निष्पक्ष जाँच करके दुरूपयोग किये गये पोस्टल मतों को अवैध घोषित करके मतगणना में शामिल नहीं किये जाने की मांग की है।


    पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा जनपद सीतापुर व मुजफ्फरनगर सहित प्रदेश को समस्त जनपद में कार्यरत पुलिस कर्मियों से मतदाता पहचान पत्र, आधार कार्ड तथा हस्ताक्षर युक्त फोटो जमा कराये जाने तथा उसके आधार पर उनके पोस्टल मतों का दुरूपयोग किये जाने की आशंका व शिकायतें बड़ी संख्या में लगातार प्राप्त हो रही है। इसके बारे में दिनांक 26.02.2022 को तथा कई अन्य शिकायतें भेजी जा चुकी है। यह चिन्ताजनक एवं गम्भीर मामला ह,ै तथा स्वतन्त्र, निष्पक्ष एंव निर्भीक चुनाव सम्पन्न होने पर प्रश्न चिन्ह लगा रहा है।


    समाजवादी पार्टी ने मांग की है कि पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा जनपद सीतापुर व मुजफ्फरनगर सहित प्रदेश के समस्त जनपद में कार्यरत पुलिस कर्मियों से मतदाता पहचान पत्र, आधार कार्ड तथा हस्ताक्षर युक्त फोटो जमा कराये जाने तथा उसके आधार पर उनके पोस्टल मतों का दुरुपयोग किये जाने व टेªनिंग स्थल से अलग हट कर किसी अन्य जगह पोस्टल मत का मतदान कराने की तत्काल जाँच कराई जाये।श्री पटेल ने मांग की है कि जिन पुलिस कर्मियों को इलेक्शन ड्यूटी सर्टिफिकेट जारी किया गया है सिर्फ उनको पोस्टल मत से मतदान की सुविधा दी जाय और उसकी विधान सभावार सूची समाजवादी पार्टी को उपलब्ध करायी जाये। मुख्य निर्वाचन आयोग सख्त निर्देश जारी करें कि निर्वाचन ड्यूटी सर्टिफिकेट प्राप्त करने वाले कर्मियों से ही पोस्टल मत का मतदान कराया जाये व उसी मतों को मतगणना में शामिल किया जाये।