कोविड प्रोटोकॉल के उल्लंघन पर सपा के 2500 लोगों पर FIR दर्ज

लखनऊ। समाजवादी पार्टी में पिछड़ा वर्ग के नेताओं के स्वागत के लिए धूम-धड़ाके के साथ आयोजित किया गया मेगा शो पार्टी पर भारी पड़ गया है। कोविड-19 प्रोटोकॉल के उल्लंघन का संज्ञान लेते हुए चुनाव आयोग की ओर से इस मामले में पुलिस और प्रशासन को जब आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए तो जांच पडताल के बाद आयोजकों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।शुक्रवार को समाजवादी पार्टी की ओर से राज्य मुख्यालय पर भारतीय जनता पार्टी को छोड़कर आए कैबिनेट मंत्रियों एवं विधायकों के स्वागत और उन्हें पार्टी की सदस्यता ग्रहण कराने के लिए मेगा शो का आयोजन किया गया था। समारोह के लिए बनाए गए मंच पर पहुंचे समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने स्वामी प्रसाद मौर्य एवं धर्म सिंह सैनी समेत अन्य भाजपा विधायकों को पार्टी की सदस्यता ग्रहण कराई है।

इस दौरान स्वामी प्रसाद मौर्य ने कहा था कि वह जिस तरफ चल देते हैं, सरकार उसकी ही बन जाती है। इस बार कितने भी दिल्ली वाले क्यों नहीं उत्तर प्रदेश में आ जाएं, परंतु बाबा इस बार पास होने वाले नहीं है। उन्होंने हुंकार भरी है कि इस बार साइकिल का हैंडल भी ठीक है और पहिये भी, पैडल चलाने वाले अब समाजवादी पार्टी के भीतर आ गए हैं।उन्होंने दंभ भरा कि अब समाजवादी पार्टी की सरकार बनने से कोई नहीं रोक सकता है। मेगा शो के थोड़ी देर बाद ही कोविड-19 प्रोटोकॉल के उल्लंघन का चुनाव आयोग की ओर से संज्ञान लिया गया, जिसके चलते मेगा शो की जांच के लिए पुलिस और प्रशासन की टीमें समाजवादी पार्टी के दफ्तर पर पहुंची है। अब राजधानी के गौतमपल्ली थाने में कोविड-19 प्रोटोकॉल के उल्लंघन के मामले को लेकर 2500 लोगों पर एफआईआर दर्ज कर ली गई है।