पाँच दिवसीय सी.आई.एस.वी. एशिया पैसिफिक रीजनल कान्फ्रेन्स का आयोजन

108

सी.एम.एस. की मेजबानी में पाँच दिवसीय सी.आई.एस.वी. एशिया पैसिफिक रीजनल कान्फ्रेन्स का आयोजन।

लखनऊ। सिटी मोन्टेसरी स्कूल की मेजबानी में आयोजित हो रहे पाँच दिवसीय सी.आई.एस.वी. रीजनल ट्रेनिंग फोरम एवं जूनियर एशिया पैसिफिक रीजनल कान्फ्रेन्स में प्रतिभाग हेतु न्यूजीलैण्ड, जापान, कोरिया, इण्डोनेशिया, फिलीपीन्स एवं भारत के विभिन्न प्रान्तों से पधारे प्रतिनिधियों का लखनऊ पधारने भव्य स्वागत हुआ। यह सम्मेलन 12 से 16 अगस्त तक सी.एम.एस. कानपुर रोड ऑडिटोरियम में आयोजित किया जा रहा है। यह सम्मेलन विभिन्न देशों के सी.आई.एस.वी. प्रतिनिधियों के विचारों के आदान-प्रदान एवं सी.आई.एस.वी गतिविधियों को मजबूती प्रदान करने हेतु आयोजित किया जा रहा है। यही अनुभव आगे चलकर सी.आई.एस.वी. कैम्प (चिल्ड्रेन्स इण्टरनेशनल समर विलेज कैम्प) के प्रतिभागी बच्चों के लिए महत्वपूर्ण साबित होगा, जिसके अन्तर्गत विभिन्न देशों के बच्चे एक साथ एक छत के नीचे एक माह तक साथ-साथ रहते हैं।


सी.एम.एस. विगत 25 वर्षों से अधिक समय से चिल्ड्रेन्स इण्टरनेशनल समर विलेज कैम्प की मेजबानी लखनऊ में करता आ रहा है। देशों से पधारे प्रतिनिधियों का स्वागत करते हुए सी.एम.एस. संस्थापक व प्रख्यात शिक्षाविद् डा. जगदीश गाँधी, प्रेसीडेन्ट, सी.आई.एस.वी. इण्डिया चैप्टर ने कहा कि सी.एम.एस. की मेजबानी में आयोजित यह सम्मेलन विभिन्न देशों के प्रतिभागियों को अन्तर्राष्ट्रीय सहयोग, सामन्जस्य, समझदारी, मित्रता, न्याय, समता तथा उत्साह की भावना को प्रोत्साहित करने में अत्यन्त महत्वपूर्ण है। इस अवसर पर सी.आई.एस.वी. एशिया पैसिफिक रीजनल कान्फ्रेन्स के प्रतिभागी 6 देशों के प्रतिनिधियों ने एक स्वर से कहा कि विश्व एकता व विश्व शान्ति की शिक्षा वर्तमान समय की सर्वोपरि आवश्यकता है। इन प्रतिनिधियों का कहना था कि हम अपने लिए जिस प्रकार की दुनिया चाहते हैं, उसी के अनुरूप हमें स्वयं भी बदलना होगा।