‘हर घर तिरंगा’ अभियान से साढ़े 04 करोड़ राष्ट्रध्वज फहराए जायेंगें

एम0एस0एम0ई0 के माध्यम से 02 करोड़ झण्डे उपलब्ध कराए जाएंगे। 31 जुलाई, 2022 तक सभी जनपदों में राष्ट्रध्वज उपलब्ध करा दिए जाएं।

मुख्यमंत्री ने ‘हर घर तिरंगा’ कार्यक्रम के सम्बन्ध में आहूत बैठक की अध्यक्षता की।प्रधानमंत्री की प्रेरणा से आगामी 11 से 17 अगस्त की अवधि को ‘स्वतंत्रता सप्ताह’ के रूप में आयोजित किया जाना है।‘स्वतंत्रता सप्ताह’ के अन्तर्गत 13 से 15 अगस्त तक ‘हर घर तिरंगा’ का विशेष अभियान आयोजित होगा।हमारा लक्ष्य हो कि ‘हर घर तिरंगा’ अभियान के तहत प्रदेश में साढ़े 04 करोड़ राष्ट्रध्वज फहराए जाएं।सभी आवासों, सरकारी और गैर-सरकारी कार्यालयों और वाणिज्यिक-औद्योगिक इकाइयों अन्य प्रतिष्ठानों कार्यालयों पर ध्वजारोहण हो, सभी अमृत सरोवरों पर झण्डा फहराया जाए।‘हर घर तिरंगा’ राष्ट्रीय गौरव का आयोजन, हर भारतवासी को इससे जुड़ना चाहिए। लोग अपने फहराए तिरंगा के साथ सेल्फी लेकर सोशल मीडिया पर पोस्ट कर सकते हैं, भारत सरकार द्वारा इसके लिए https://harghartiranga.com/ पोर्टल तैयार‘हर घर तिरंगा’ अभियान के व्यापक प्रचार-प्रसार के लिए एन0सी0सी0/एन0एस0एस0 व अन्य स्वयंसेवी संगठनों द्वारा तिरंगा यात्रा निकाली जाए।

लखनऊ। मुख्यमंत्री ने ‘हर घर तिरंगा’ कार्यक्रम के सम्बन्ध में आहूत एक बैठक के दौरान व्यक्त किए। उन्होंने कहा कि हमारा लक्ष्य हो कि ‘हर घर तिरंगा’ अभियान के तहत प्रदेश में साढ़े 04 करोड़ राष्ट्रध्वज फहराए जाएं। सभी आवासों, सरकारी और गैर-सरकारी कार्यालयों और वाणिज्यिक-औद्योगिक इकाइयों अन्य प्रतिष्ठानों कार्यालयों पर ध्वजारोहण हो। सभी अमृत सरोवरों पर झण्डा फहराया जाए।मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी की प्रेरणा से आगामी 11 से 17 अगस्त की अवधि को ‘स्वतंत्रता सप्ताह’ के रूप में आयोजित किया जाना है। यह विशेष अवसर है। ‘स्वतंत्रता सप्ताह’ के अन्तर्गत 13 से 15 अगस्त तक ‘हर घर तिरंगा’ का विशेष अभियान आयोजित होगा। इसमें समरस भाव के साथ हर प्रदेशवासी को सहभाग करना चाहिए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि ‘हर घर तिरंगा’ राष्ट्रीय गौरव का आयोजन है। हर भारतवासी को इससे जुड़ना चाहिए। लोग अपने फहराए तिरंगा के साथ सेल्फी लेकर सोशल मीडिया पर पोस्ट कर सकते हैं। भारत सरकार ने इसके लिए https://harghartiranga.com/ पोर्टल तैयार किया है। यहां भी अपने ध्वज की फोटो पोस्ट की जा सकती है। ‘हर घर तिरंगा’ अभियान के व्यापक प्रचार-प्रसार के लिए एन0सी0सी0/एन0एस0एस0 व अन्य स्वयंसेवी संगठनों द्वारा तिरंगा यात्रा निकाली जाए। स्कूलों में स्लोगन व निबन्ध प्रतियोगिता कराई जाए। स्वतंत्रता सप्ताह में हर दिन स्कूली बच्चों की प्रभात फेरी निकाल कर आयोजन के बारे में लोगों को जानकारी दी जाए। प्रचार-प्रसार के लिए स्थानीय जनप्रतिनिधियों का सहयोग लें। उन्होंने कहा कि ‘स्वतंत्रता सप्ताह’ की अवधि में हर शहीद स्मारक पर प्रत्येक दिन कम से कम आधा घण्टा पुलिस बैण्ड द्वारा राष्ट्र भक्ति गीतों का वादन हो। स्वतंत्रता दिवस के दिन शहीदों/स्वतंत्रता सेनानियों के परिजनों को सम्मानित किया जाए। ‘हर घर तिरंगा’ के महा आयोजन से आमजन को जोड़ने के लिए व्यापक जागरूकता बढ़ानी होगी। लोगों को झण्डा आसानी से उपलब्ध कराने के लिए राशन की दुकानों, ग्राम पंचायत भवनों, जनसेवा केन्द्रों, तहसील/ब्लॉक मुख्यालयों, प्राथमिक विद्यालयों, आंगनबाड़ी केन्द्रों और पेट्रोल पम्प/एल0पी0जी0 सेण्टरों, जिलों के विकास भवन/नगर निगम/नगर पालिका, अर्बन लोकल बॉडी, विकास प्राधिकरण, सिविल डिफेंस आदि से वितरण कराया जाए। रेजिडेंट वेलफेयर सोसाइटी, निगम पार्षद, बीट कॉन्स्टेबल, शिक्षामित्र आदि के माध्यम से भी घरों में वितरण कराया जा सकता है। जिलाधिकारी इन कार्यक्रमों की निगरानी करेंगे।

स्कूलों में स्लोगन व निबन्ध प्रतियोगिता कराई जाए, स्वतंत्रता सप्ताह में हर दिन स्कूली बच्चों की प्रभात फेरी निकाल कर आयोजन के बारे में लोगों को जानकारी दी जाए, प्रचार-प्रसार के लिए स्थानीय जनप्रतिनिधियों का सहयोग लें।‘हर घर तिरंगा’ के महा आयोजन से आमजन को जोड़ने के लिए व्यापक जागरूकता बढ़ानी होगी।लोगों को झण्डा आसानी से उपलब्ध कराने के लिए राशन की दुकानों, ग्राम पंचायत भवनों, जनसेवा केन्द्रों, तहसील/ब्लॉक मुख्यालयों, प्राथमिक विद्यालयों, आंगनबाड़ी केन्द्रों और पेट्रोल पम्प/एल0पी0जी0 सेण्टरों, जिलों के विकास भवन/नगर निगम/नगर पालिका, अर्बन लोकल बॉडी, विकास प्राधिकरण, सिविल डिफेंस आदि से वितरण कराया जाए।‘स्वतंत्रता सप्ताह’ की अवधि में गांव और शहर में स्वच्छता अभियान संचालित किया जाए।हमें बड़ी से संख्या में ध्वज तैयार करने हैं, ऐसे में समय का ध्यान रखना होगा, इसके लिए स्वयं सहायता समूहों, एन0जी0ओ0, एम0एस0एम0ई0, खादी एवं ग्रामोद्योग, निजी सिलाई केन्द्रों का सहयोग लिया जाए।


‘स्वतंत्रता सप्ताह’ की अवधि में गांव और शहर में स्वच्छता अभियान संचालित किया जाए। पार्कों को सजाया जाए। मंत्रीगणों के स्तर पर बेसिक, माध्यमिक, प्राविधिक, व्यावसायिक व उच्च शिक्षा विभाग जनपद, ब्लॉक स्तर तक तत्काल तैयारियों की समीक्षा कर की जाए। हमें बड़ी से संख्या में ध्वज तैयार करने हैं, ऐसे में समय का ध्यान रखना होगा। इसके लिए स्वयं सहायता समूहों, एन0जी0ओ0, एम0एस0एम0ई0/खादी एवं ग्रामोद्योग, निजी सिलाई केन्द्रों का सहयोग लिया जाए। एम0एस0एम0ई0 के माध्यम से 02 करोड़ झण्डे उपलब्ध कराए जाएंगे। 31 जुलाई, 2022 तक सभी जनपदों में राष्ट्रध्वज उपलब्ध करा दिए जाएं।मुख्यमंत्री ने कहा कि यह सुनिश्चित किया जाए कि राष्ट्र ध्वज संशोधित झण्डा संहिता 2021 के अनुसार ही तैयार हों। राष्ट्र ध्वज हमारी ‘अस्मिता’ का प्रतीक है। हमारी आन, बान, शान का प्रतीक है। अतः राष्ट्रध्वज संहिता के अनुरूप ध्वजारोहण में नियमों का कड़ाई से अनुपालन किया जाए। लोगों को नियमों के बारे में विस्तृत जानकारी दी जाए।