सरकारी स्कूल है जानलेवा-दिनेश सिंह पटेल

आप के अभियान सेल्फी विद सरकारी स्कूल में बच्चों के साथ साथ शिक्षकों ने भी मोर्चा संभाला.भाजपा निराधार मुद्दों पर बात कर जनता को गुमराह करती है.भाजपा के सरकारी स्कूल है जानलेवा.भाजपा शासित प्रदेशों के सरकारी स्कूलों की स्थिति अत्यंत दयनीय.

महेंद्र सिंह

लखनऊ – आम आदमी पार्टी के निवर्तमान प्रदेश महासचिव दिनेश सिंह पटेल ने प्रेस वार्ता कर कहा कि आम आदमी पार्टी शिक्षक दिवस 5 सितंबर से 1 हफ्ते तक लगातार सेल्फी विद सरकारी स्कूल अभियान चला रही है. दिनेश सिंह पटेल ने बताया कि इस अभियान में लोगों ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया है और रोज हमारे पास लगभग 100 ऐसे सरकारी स्कूलों के फुटेज आ रहे हैं जो बेहद जर्जर और खस्ताहाल अवस्था में है. दिनेश सिंह पटेल ने कहा इस अभियान के अंतर्गत जहां एक तरफ सरकारी स्कूलों की फुटेज और तस्वीरें हमें हर जिलों से भेजी जा रही हैं वहीं दूसरी और सबसे सकारात्मक बात यह हुई है कि शिक्षक भी अपनी समस्याओं को लेकर हमको पत्र भेज रहे हैं और संबंधित सरकारी स्कूलों की फुटेज भेज रहे हैं.

उन्होंने कहा कि राजधानी लखनऊ तो मंत्रियों, अधिकारियों और सांसदों का गढ़ है और इसी राजधानी लखनऊ का प्राथमिक विद्यालय जलभराव के कारण तालाब बन चुका है और प्रधानाचार्य के कार्यालय में भूसा भरा हुआ है. दिनेश सिंह पटेल ने कहा कि अभी चंद घंटे पहले महोबा से खबर आई है कि बनवारी विकास खंड के प्राथमिक विद्यालय में छत गिरने से एक छात्रा और शिक्षक बुरी तरह से घायल हो गए हैं तो सरकारी अस्पताल में भर्ती हैं. उन्होंने कहा कि प्राथमिक विद्यालयों स्थिति इतनी बदतर हो चुकी है कि अभिभावक डरे रहते हैं कि उनका बच्चा सही सलामत घर आएगा या नहीं.

दिनेश सिंह पटेल ने आभार व्यक्त करते हुए कहा की उत्तर प्रदेश के सभी जिलों से बच्चों और शिक्षकों ने मिलकर सेल्फी विद सरकारी स्कूल अभियान को सफल बनाया है, ऐसी कोई जगह नहीं बची जहां से फोटो और वीडियोस ना आए हो चाहे वह फिरोजाबाद, बलरामपुर, एटा, अलीगढ़, सिद्धार्थ नगर, लखनऊ, बाराबंकी, कानपुर, हमीरपुर, बांदा, शाहजहांपुर, सीतापुर, महमूदाबाद, गोंडा, बस्ती, इटावा, बरेली आदि कोई भी जगह हो हर जिलों से जर्जर और खस्ताहाल सरकारी स्कूलों की फुटेज हमारे पास भेजी गई है. दिनेश सिंह पटेल ने कहा कि अरविंद केजरीवाल जी का शिक्षा मॉडल भारत से लेकर विदेशों तक चर्चित हो चुका है और आम आदमी पार्टी की लोकप्रियता ही अच्छी शिक्षा और बेहतर चिकित्सा पर ही निर्भर है, लेकिन बात करें अगर उत्तर प्रदेश की तो मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बजाय आम आदमी पार्टी से कुछ सीखने के वह आम आदमी पार्टी के नेताओं पर आरोप लगाकर उन्हें नीचा दिखाना चाहते हैं जिसमें उन्हें कभी सफलता नहीं मिलेगी.

दिनेश सिंह पटेल ने कहा कि भाजपा लगातार कोशिश कर रही की आप की शिक्षा व्यवस्था को नीचा दिखाया जा सके. भाजपा शासित राज्यों में प्राथमिक विद्यालयों की दशा इतनी दयनीय है कि इन्होंने अपनी कमियों को छुपाने के लिए बेसिक शिक्षा अधिकारियों द्वारा आदेश तक जारी करवाएं हैं कि वहां कोई भी बाहरी व्यक्ति अथवा पत्रकार जाकर दौरा नहीं कर सकता तो आप खुद सोच सकते हैं कि किसका शासन लचर है और किसकी व्यवस्थाएं पूर्ण रूप से ध्वस्त हो चुकी हैं. उन्होंने गाजियाबाद के स्कूल का चित्र दिखाया साथ ही दिल्ली के स्कूल का चित्र दिखाया जिस ने स्पष्ट किया कि दोनों की दशाओं में जमीन आसमान का अंतर है. दिनेश सिंह पटेल ने कहा कि भाजपा केवल निराधार मुद्दों की राजनीति कर लोगों को उनकी मूलभूत आवश्यकताओं से गुमराह करने का काम कर रही है जो भविष्य में बेहद खतरनाक साबित होगा, हमें इस बात को समझने की जरूरत है कि उनके इस गंदी राजनीति से दूर रहना चाहिए और आपसी भाईचारा बनाए रखना चाहिए.