सरकारें लगातार मजदूरों के अधिकार सीमित करती जा रही-भाकपा(माले)

अजय सिंह

लखनऊ। आल इंडिया कांस्ट्रक्सन वर्कर्स फेडरेशन संबद्ध ऐक्टू का दूसरा राज्य सम्मेलन आज दारुल शफा कामन हाल में संपन्न हुआ ,जिसका उद्घाटन भाकपा ( माले) के राज्य सचिव सुधाकर यादव ने करते हुए कहा कि यह सम्मेलन बहुत कठिन दौर में हो रहा है , सरकारें मजदूरों के अधिकारों को निरंतर सीमित करती जा रही हैं , श्रम कानूनों में संशोधन के नाम पर प्रचलित सारे कानूनों को समाप्त कर चार श्रम संहिताएं निर्मित कर मजदूरों को पूंजीपतियों की गुलामी की ओर ढ़केला जा रहा है , फिक्स टर्म एंप्लायमेंट जैसे कानून बनाकर मजदूरो की समाजिक सुरक्षा के साथ सेवा की समस्त अवधारणाओ को समाप्त कर दिया गया है।

उसी कानून का सेना मे 4 वर्ष की भर्ती के लिए अग्निवीर योजना लायी गई है , आने वाले समय में देश का चेहरा क्या होगा सहज ही अन्दाजा लगाया जा सकता है ।
उन्होने आगे कहा कि समाज से सभी कमजोर तबके सरकार के मजदूर ,महिला , दलित आदिवासी ,छात्र ,नौजवान ,किसान ,अल्पसंख्यक सत्ता की काली नीतियों के दमन के सर्वाधिक शिकार हैं , मेहनतकश वर्ग की रोटी रोजी के साथ उनके हक अधिकारों पर डाकाजनी हो रही है।यही नहीं विभाजनकारी सत्ता इस देश मे लोकतंत्र के खात्मे की तरफ बढ़ रही है । आज़ हम सब मेहनत कश ,उत्पीडित तबकों को एकजुट होकर अपने हक अधिकारों के लिए फासीवादी निजाम के विरुद्ध खडे होना होगा ।

फैजाबाद निर्माण मजदूर यूनियन के अध्यक्ष राम भरोष जी ने कहा कि आज़ मजदूर के सामने निर्माण मजदूरों के कल्याण कारी बोर्ड को ही खत्म कर देनी की सरकारी कोशिशों के खिलाफ मोर्चा लगाना होगा । उन्होने कहा कि पूंजीपरस्त सरकार से आज़ कुछ भी नया हासिल करने की नही है बल्कि अतीत मे संघर्षो से हासिल को ही बचाने की चुनौती है ।ऐक्टू के प्रदेश अध्यक्ष विजय विद्रोही ने कहा कि मजदूरों ने ही इतिहास में हर बदलाव की बुनियाद डाली है, और संप्रदायिक फासीवाद का मुकाबला भी मजदूर ही करेगा ।

सम्मेलन मे अमर नाथ राजभर अध्यक्ष व राना प्रताप सिंह सचिव के साथ 21 सदस्यीय राज्य कमेटी चुनी गई,सम्मेलन मे अग्नि बीर भर्ती योजना वापस लेने ,दलितों, अल्पसंख्यको के घरों को बुलडोज करने की कार्यवाही के विरुद्ध प्रस्ताव पारित किये गये और आगामी 22 अगस्त को लखनऊ में निर्माण मजदूरों के विशाल प्रदर्शन का कार्यक्रम तय किया गया ,कार्यक्रम की अध्यक्षता काम .अर्जुन लाल ने और संचालन गौरव सिंह ने किया।