प्रदेश सरकार की प्राथमिकता भू-गर्भ जल संरक्षण

मंत्री स्वतंत्र देव सिंह ने “जल के लिए चल” जागरूकता अभियान को दिखायी हरी झण्डी।”जल है तो कल है” की भावना को प्रत्येक नागरिक को आत्मसात करना होगा।भू-गर्भ जल संरक्षण प्रदेश सरकार की प्राथमिकताओं में।

लखनऊ। प्रदेश के जलशक्ति मंत्री स्वतंत्र देव सिंह द्वारा आज स्वप्न फाउंडेशन और भूगर्भ जल विभाग द्वारा हजरतगंज में जागरूकता अभियान “जल के लिए चल ” को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया गया। इस कार्यक्रम में लखनऊ की 20 से अधिक विद्यालयों एवं संस्थाओं ने भाग लिया। हजरतगज में गांधी स्मारक से जागरूकता अभियान की शुरुआत की गई, जहां विभिन्न वक्ताओं ने छात्रो को भूजल के महत्व के बारे में बताया जिसमें विभिन्न संस्थानों के लगभग 800 छात्रो ने भाग लिया और एक मानव श्रृंखला बनाई गयी।


जल शक्ति मंत्री ने इस अवसर पर कहा कि प्रदेश सरकार जल संरक्षण के सम्बन्ध में गंभीर है इसलिए भू-गर्भ जल संरक्षण को सर्वोच्च प्राथमिकताओं में रखा गया है। आने वाली पीढ़ी को पानी नसीब है। इसके लिए भूमि के भीतर स्थित जल भंडार समृद्ध रखना एवं सुरक्षित रखना आवश्यक है। उन्होंने कहा कि “जल है तो कल है” की भावना को प्रत्येक नागरिक को आत्मसात करना होगा तथा जल संरक्षण के अभियान के साथ जुड़कर अपनी दिनचर्या का हिस्सा बनाना पड़ेगा। जल संकट से निपटने की दिशा में “अटल भू-जल योजना” मील का पत्थर साबित हो रही है। इस योजना के माध्यम से प्रदेश के हर क्षेत्र में भूजल का संवर्धन करने व भू-जल स्तर को बनाए रखने के लिए निरन्तर प्रयत्नशील है।


कार्यक्रम में छात्रों ने आगे तख्तियां लेकर सड़कों पर भीड़ के साथ बातचीत की। स्वप्न के कार्यकर्ताओं के साथ छात्रों ने बारिश के पानी के संरक्षण का संकल्प लिया और हर संभव तरीके से पानी बचाने का फैसला किया। कार्यक्रम का समापन स्कूलों और विभिन्न संस्थानों के सम्मान के साथ हुआ जो की भूजल के प्रति निरंतर समर्पण सप्ताह में शामिल थे।कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि डीएम लखनऊ सुर्यपाल गंगवार, भू-गर्भ जल विभाग के निदेशक बी.के. उपाध्याय सहित स्कूल के छात्र-छात्रायें की उपस्थिति में जागरूकता मार्च का कार्यक्रम आयोजित किया गया।