पति-पत्नी का एक साथ उठा जनाजा

पति-पत्नी का एक साथ उठा जनाजा।पति की मौत का सदमा नहीं बर्दाश्त कर सकी पत्नी।पत्नी की भी हुई मौत।मौत की खबर पाते ही मां बाप के जनाज़े में शामिल होने सऊदी आया पुत्र।

अब्दुल जब्बार एडवोकेट व डॉ0 मो0 शब्बीर

अयोध्या। भेलसर(अयोध्या)साथ जीएंगे साथ मरेंगे की बातें तो होती रहती हैं लेकिन रुदौली तहसील क्षेत्र के ग्राम पंचायत अल्हवाना में ऐसा होते सबने देखा जब पति-पत्नी का जनाजा एक साथ उठा।ज्ञात हो कि 21 जून मंगलवार को ग्राम अल्हवाना निवासी मोहम्मद इदरीस अपनी मोपेड गाड़ी से ग्राम मुजफ़्फ़रा में लगने वाली टाटी बाबा की बाज़ार जा रहे थे जिनको मुजफरा गांव के निकट ही राष्ट्रीय राजमार्ग पर अयोध्या की ओर जा रही एक तेज रफ़्तार यूपी 51 ए आर 7921 बालेनो कार ने जोरदार टक्कर मार दी जिसमे मोहम्मद इदरीस पुत्र निरहू उर्फ मुबारक 60 वर्ष की दर्दनाक मौत हो गई।पति की सड़क दुर्घटना में हुई मौत की खबर सुनते ही पत्नी रब्बुन निशा अपने पति की मौत का सदमा बर्दाश्त नही कर सकीं और उनकी तबियत अचानक खराब हो गई और वह बेहोश हो गई उनकी तबियत और अधिक बिगड़ती देखकर लोगों ने उन्हें इलाज के लिए फैज़ाबाद के प्रावेट अस्पतालों में दिखाया जिनकी हालत सीरियस देखते हुए डाक्टरों ने भर्ती नही किया जिन्हें रात में ही परिजन घर ले आए।रब्बुन निशा को बुधवार की सुबह लगभग आठ बजे अचानक पलटी हुई उसी के बाद उनकी भी मौत हो गई और उनकी मौत से परिजनों में कोहराम मच गया। उनकी पुत्रियों का रोरोकर बुरा हाल है।उनकी मौत की खबर गांव में सुनते ही गांव सहित आसपास के लोगों की भारी भीड़ इकट्ठा हो गई।

पति पत्नी की दर्दनाक मौत की खबर सुनकर कोई भी अपने आंसू को नहीं रोक पाया।स्वर्गीय मोहम्मद इदरीस के एक लड़का व चार पुत्रियां है।इदरीस का एक ही लड़का मोहम्मद शमीम है जो सऊदी अरब में रहता है।अपने पिता की दुर्घटना में हुई मौत की खबर पर बुधवार को घर पहुंचते ही अपने मां बाप का एक साथ जनाज़ा देखकर फफक फफक कर रो पड़ा जिससे वहां मौजूद लोगों की आंखे भी नम हो गईं।सैकड़ों की संख्या में लोगों ने एक साथ पति पत्नी के जनाज़े को बुधवार को 6 बजे उनके अबाई कब्रिस्तान आदम शहीद रहमतुल्लाह अलैह की दरगाह स्थित कब्रिस्तान दरगाहन में सैकड़ों की संख्या में लोगों ने नम आंखों से सुपुर्दे खाक कर दिया।