लोकसभा उपचुनाव में भाजपा ने झोंकी ताकत अखिलेश ने बनाई दूरी

राजू यादव

जमगढ़ लोकसभा उपचुनाव में समाजवादी पार्टी ने अखिलेश यादव के भाई धर्मेद्र यादव को टिकट दे कर मैदान में उत्तारा है, जबकि भाजपा ने दिनेश लाल यादव उर्फ निरहुआ को उतारा है। बसपा ने शाह आलम उर्फ गुड्डू जमाली को उम्मीदवार बनाकर लड़ाई को त्रिकोणीय और रोचक बना दिया है। आजमगढ़ में 23 जून को वोटिंग है। 26 जून को नतीजे आएंगे। वहीं रामपुर भाजपा से घनश्याम सिंह लोधी किस्मत आजमा रहे हैं तो सपा से आसिम राजा चुनावी मैदान में उतरे हैं।आजमगढ़ लोकसभा उपचुनाव सपा के लिए हॉट सीट बन गई है। यह उपचुनाव सपा के लिए इतना महत्वपूर्ण हो गया है कि पार्टी ने प्रदेश भर के अपने नेताओं की पूरी फौज ही आजमगढ़ में उतार दी है।दरअसल इसके पीछे सबसे बड़ी वजह यह है कि ये सीट तब खाली हुई जब सपा सुप्रीमों अखिलेश यादव ने यहां से इस्तीफा दिया और उससे पहले जब 2022 के विधानसभा चुनाव हुए तब सपा ने आजमगढ़ की 10 की 10 विधानसभा सीटों विजय प्राप्त की थी। आजमगढ़ सपा का गढ़ रहा है और पार्टी किसी भी कीमत पर 2024 के लोकसभा चुनाव से पहले इस सीट को गंवाना नहीं चाहती,क्योंकि उसे ये भी पता है अगर यह उसके हाथ से निकल गई तो भाजपा 2024 के लोकसभा चुनाव में इसके जरिए मतदाताओं को मेसेज देने का काम करेगी।उत्तर प्रदेश में लोकसभा की दो सीटों रामपुर और आजमगढ़ पर उपचुनाव को लेकर समाजवादी पार्टी ने अपनी तैयारी तेज कर दी है। आजमगढ़ लोक सभा सीट पर होने वाला उपचुनाव सपा के लिए 2024 के लोकसभा चुनाव से पहले सफलता का बड़ा पैरामीटर बन गया है। आजमगढ़ की सीट अखिलेश यादव के इस्तीफा देने के बाद खाली हुई और सपा किसी भी कीमत पर इस सीट को गंवाना नहीं चाहती, यही वजह है कि सपा का ध्यान आजमगढ़ की लोकसभा सीट जीतने पर है।

उत्तर प्रदेश की आजमगढ़ और रामपुर लोकसभा सीट पर हो रहे उपचुनाव को लेकर सियासी पारा एक बार फिर चढ़ने लगा है। रविवार को योगी आदित्यनाथ ने आजमगढ़ में भाजपा प्रत्याशी दिनेश लाल यादव निरहुआ के लिए वोट मांगे। उन्होंने कहा कि अखिलेश यादव आजमगढ़ को मजधार में छोड़कर गायब हो गए। इस पर सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि भाजपा ने हमेशा आजमगढ़ की उपेक्षा की है, लोगों को धोखा देने से बाज नहीं आ रही है।अखिलेश यादव ने कहा कि आजमगढ़ ने हमेशा भाजपा की साम्प्रदायिकता और विकास विरोधी ताकतों को नकारा है। उन्होंने कहा कि समाजवादियों ने हमेशा आजमगढ़ और पूर्वांचल में विकास और जनता को सम्मान दिया है। आजमगढ़ की जनता ने भी हमेशा समाजवादियों का साथ दिया है। यह भरोसा अटूट है।अखिलेश यादव ने कहा कि समाजवादी सरकार में समाजवादी पूर्वांचल एक्सप्रेसवे के लिए जमीन अधिग्रहण हुआ। एलाइनमेंट भी हुआ, लेकिन भाजपा सरकार बनने के बाद काम रोक दिया गया। इतना ही नहीं, समाजवादी पूर्वांचल एक्सप्रेसवे का नाम भी बदल दिया गया। उन्होंने अपने बयान में कहा कि समाजवादियों ने हमेशा आजमगढ़ और पूर्वांचल के विकास के लिए काम किया है। आजमगढ़ में मेडिकल कॉलेज, चीनी मिल, पैरा मेडिकल कॉलेज, हॉस्पिटल और सड़के समाजवादी सरकार में बनी।

आजमगढ़ और रामपुर लोकसभा सीट पर हो रहे उपचुनाव में जहां भाजपा ने मंत्रियों की पूरी फौज को मैदान में उतार दिया है और कमान खुद सीएम योगी ने संभाल ली है। वहीं सपा प्रमुख अखिलेश यादव अभी तक चुनाव प्रचार से दूरी बना रखी है। आजमगढ़ चुनाव प्रचार के लिए गठबंधन के साथी जयंत चौधरी और आजम खान गए हैं पर अखिलेश नहीं गए हैं। ऐसा ही कुछ रामपुर सीट पर भी हुआ है अखिलेश यादव यहां भी प्रचार करने अभी तक नहीं गए हैं। अभी तक प्रचार से दूरी को लेकर सियासी गलियारों में चर्चा है कि अखिलेश यादव आत्मविश्वास में हैं कि दोनों सीटें जीत लेंगे। इसलिए अखिलेश यादव आजमगढ़ और रामपुर प्रचार करने नहीं पहुंचे हैं। वहीं रालोद प्रमुख जयंत चौधरी ने प्रचार दूरी को रणनीति का हिस्सा बताया।

आजम के गढ़ में सेंधमारी करने के लिए भाजपा ने झोकी पूरी ताकत।आजम खां के गढ़ में सेंधमारी करने के लिए भाजपा ने पूरी ताकत झोंक दी है। प्रदेश ही नहीं केंद्र के मंत्री भी रामपुर में कैंप कर रहे हैं। मंत्रियों की पूरी फौज रामपुर के मतदाताओं को रिझाने में लगी है। केंद्र सरकार में सहकारिता राज्यमंत्री बी0 एल0 वर्मा ने रामपुर का दौरा कर और भाजपा प्रत्याशी के समर्थन में वोट मांगे। योगी सरकार में वित्त एवं संसदीय कार्य मंत्री सुरेश खन्ना और समाज कल्याण स्वतंत्र प्रभार राज्य मंत्री समाज कल्याण असीम अरूण भी जनता को अपनी ओर मोड़ने में लगे हैं। इसके अलावा लोक निर्माण विभाग के मंत्री जतिन प्रसाद, लघु उद्योग मंत्री राकेश सचान, राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार संदीप सिंह, कैप्टन विकास गुप्ता राज्यमंत्री, विधायक राजीव गुंबर ने भी डोर-टू-डोर जाकर भाजपा सरकार की उपलब्धियों को गिनाया।

लोकसभा उपचुनाव के लिए आजमगढ़ की जनता में जो उत्साह एवं समाजवादी पार्टी और माननीय राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव जी के प्रति निष्ठा देखने को मिल रही है उससे यह सिद्ध होता है साइकिल जनता की पहली पसंद है। क्षेत्र की जनता से अपील है की चुनाव में साइकिल वाला बटन दबाकर पूर्व सांसद धर्मेंद्र यादव जी को अधिक से अधिक वोटों से जितायें….अनुराग यादव

आजमगढ़ में भी भाजपा ने लगाया जोर।अखिलेश यादव की संसदीय सीट रही आजमगढ़ उपचुनाव के लिए भी भाजपा ने पूरी ताकत लगा दी है। रविवार को पार्टी प्रत्याशी के समर्थन में दो चुनावी जनसभाओं को संबोधित करने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का आगमन हो रहा है। मुख्यमंत्री का एक कार्यक्रम सदर तहसील के अकबेलरलपुर गांव में आयोजित किया गया है। तो दूसरी जनसभा बिलरियागंज ब्लॉक क्षेत्र में आयोजित की गई है।

आजमगढ़ में जयंत और आजम ने किया प्रचार।आजमगढ़ में अखिलेश यादव नहीं पहुंचे पर गठबंधन के साथी जयंत चौधरी और सपा वरिष्ठ नेता आजम खां चुनाव प्रचार के लिए गए थे। आजम शनिवार को गोपालपुर विस क्षेत्र के नसीरपुर गांव और मुबारकपुर विस क्षेत्र के कपूराशाह दीवान बाग में आयोजित चुनावी जनसभा को संबोधित किया और सपा प्रत्याशी के समर्थन वोट मांगे। वहीं जयंत चौधरी शुक्रवार को आजमगढ़ पहुंचे थे।समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भाजपा सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि ‘मंत्रणा, सम्मति, मशवरा, परामर्श, विचार-विमर्श, संयुक्त निर्णय और सामूहिक बैठक ये लोकतांत्रिक शब्द भाजपाई शब्दकोश में नहीं हैं। इसलिए बार-बार मनमानी भरे फैसले थोपे जा रहे हैं। देश की ऊर्जा व जनशक्ति सरकार की जनविरोधी नीतियों और योजनाओं के विरोध में बर्बाद हो रही है।’

अग्निपथ स्कीम को लेकर क्या बोले अखिलेश यादव
“उत्तर प्रदेश में जनता आंदोलित है। कानून व्यवस्था ध्वस्त है। महंगाई, भ्रष्टाचार व बुलडोजर से लोग त्रस्त हैं। विवादित बोल पर आक्रोश थमा नहीं था कि अग्निपथ खून से लथपथ दिखने लगा है।अखिलेश ने अपने एक बयान में कहा कि समाजवादी सरकार के विकास कार्यों का नाम और रंग बदलने के अलावा और कुछ भाजपा सरकार ने नहीं किया है। भाजपा ने उत्तर प्रदेश की बदनामी करने में कोई कसर नहीं छोड़ी है।”अखिलेश यही नहीं रुके, उन्होंने भाजपा सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि सरकार की जनविरोधी और गलत नीतियों का खामियाजा पूरा प्रदेश और देश भुगत रहा है। किसान, नौजवान, व्यापारी सभी भाजपा सरकार से नाराज और आक्रोशित है। उत्तर प्रदेश महंगाई, बेरोजगारी और अपराध की घटनाओं से झुलस रहा है। प्रदेश की जनता जानती है कि भाजपा राज में महंगाई, भ्रष्टाचार और बच्चियों के दुष्कर्म की घटनाएं लगातार बढ़ती जा रही हैं। सत्ता संरक्षित दबंगों ने बीजेपी राज को जंगलराज में तब्दील कर दिया है।