प्राकृतिक रूप से हीमोग्लोबिन बढ़ायें..!

57
प्राकृतिक रूप से हीमोग्लोबिन बढ़ायें..!
प्राकृतिक रूप से हीमोग्लोबिन बढ़ायें..!

सेब,अंगूर,केला,अनार और तरबूज हीमोग्लोबिन का स्तर बढ़ाने मे बेहद सहायक होते हैं। जब बात हीमोग्लोबिन का स्तर बढ़ाने की हो तो सेब सबसे अच्छा विकल्प है क्योंकि इनमें आयरन की मात्रा सबसे ज्यादा मात्रा होती है। अनार प्रोटीन, फ़ाइबर के साथ आयरन और कैलशियम का अच्छा स्रोत होता है। प्राकृतिक रूप से हीमोग्लोबिन बढ़ायें

आयुर्वेदिक डॉ. रोहित गुप्ता

हीमोग्लोबिन, जो लाल रक्त कोशिकाओं में पाया जाने वाला आयरन से भरपूर प्रोटीन होता है, आपके रक्त को लाल रंग देता है। यह शरीर के हर भाग में ऑक्सीजन पहुंचाने का काम करता है। ऑक्सीजन पहुंचाने के साथ ही, यह कोशिकाओं से कार्बन डाएऑक्साइड को हटाने और निष्कासन के लिए फ़ेफ़ड़ों तक उसे ले जाने का काम करता है। मूल रूप से, हीमोग्लोबिन बहुत जरूरी प्रोटीन है, जो सेहतमंद जीवन जीने के लिए महत्वपूर्ण है।

अमरूद अमरूद जितना ज्यादा पका हुआ होगा, उतना ही पौष्टिक होगा। पके अमरूद को खाने से शरीर में हीमोग्लोबिन की कमी नहीं होती। इसलिए महिलाओं के लिए यह और भी लाभदायक हो जाता है।

आम आम खाने से हमारे शरीर में रक्ति अधिक मात्रा में बनता है, एनीमिया में यह लाभकारी होता है।

सेब सेब एनीमिया जैसी बीमारी में लाभकारी होता है। सेब खाने से शरीर में हीमोग्लोबिन बनता है।

अंगूरअंगूर में भरपूर मात्रा में आयरन पाया जाता है। जो शरीर में हीमोग्लोबिन बनाता है, और हीमोग्लोबिन की कमी संबंधी बीमारियों को ठीक करने में सहायक होता है।

चुकन्दर चुकन्दर से प्राप्त उच्च गुणवत्ता का लोह तत्व रक्त में हीमोग्लोबिन का निर्माण व लाल रक्तकणों की सक्रियता के लिए बेहद प्रभावशाली है। खून की कमी यानी एनीमिया की शिकार महिलाओं के लिए चुकंदर रामबाण के समान है। चुकन्दर के अलावा चुकन्दर की हरी पत्तियों का सेवन भी बेहद लाभदायी है। इन पत्तियों में तीन गुना लौह तत्व अधिक होता है।चुकंदर प्राकृतिक आयरन, मैगनीशियम, कॉपर, फ़ॉस्फ़ोरस और विटामिन बी1, बी2, बी6, बी12 और सी से भरपूर होता है। इस सब्जी में मौजूद पोषण का खजाना आपको हीमोग्लोबिन काउंट बढ़ाने और नई लाल रक्त कोशिकाओं के निर्माण में मदद करता है। इसे आप सलाद में कच्चा या पका कर खा सकते हैं। वैकल्पिक तौर पर आप इसे ब्लेंड करके चुकंदर का जूस भी तैयार कर सकते हैं।

तुलसी तुलसी रक्त की कमी को कम करने के लिए रामबाण है। तुलसी के नियमित सेवन से शरीर में हीमोग्लोबिन की मात्रा बढ़ती है।

सहजन की पत्तियां- सहजन की पत्तियां जिंक, आयरन, कॉपर, मैग्नीशियम जैसे मिनिरल और विटामिन ए, बी और सी से भरपूर होती हैं। अच्छी तरह से कटी सहजन की कुछ पत्तियां लीजिए और उसे पीसकर पेस्ट बना लें। इसमें एक टेबल स्पून पिसा हुआ गुड़ मिला लें। सुबह के नाश्ते के साथ इस चूर्ण का नियमित तौर पर सेवन करें जिससे अपका हीमोग्लोबिन का स्तर और लाल रक्त कोशिकाओं की संख्या बढ़ती है।

तिलतिल हमारे शरीर में हीमोग्लोबिन की मात्रा को बढ़ाता है। तिल खाने से रक्ताअल्पता की बीमारी ठीक होती है।काले तिल के बीज खाने से भी आप आपने आयरन का सेवन बढ़ा सकते हैं क्योंकि ये आयरन, कैलशियम, मैग्नीशियम, कॉपर, जिंक, सेलेनियम और विटामिन बी6, ई और फ़ोलेट से भरपूर होता है। आप थोड़े पानी में इन्हें रात भर भिगो सकते हैं और अगली सुबह इस पानी को पी सकते हैं। एक चम्मच सूखे भुने काले तिल के बीज को एक चम्मच शहद में मिलाकर गोलाकार बना लें। अपने आयरन के स्तर को बढ़ाने के लिए इस पौष्टिक लड्डू का नियमित सेवन करते रहें। इन बीज को आप अपने सेरेल्स या ओटमील या दही या फलों के सलाद पर छिड़क सकते हैं।

खजूर, किशमिश और अंजीर– खजूर और किशमिश से आयरन और विटामिन सी प्राप्त होता है। वहीं अंजीर आयरन, मैगनीशियम, विटामिन ए और फ़ोलेट से भरपूर होते हैं। एक मुठ्ठी सूखी अंजीर, किशमिश और दो या तीन खजूर को रोजाना सुबह सेवन करने से आपको तुरंत एनर्जी मिलती है और आपका हीमोग्लोबिन का स्तर बढ़ता है। हीमोग्लोबिन का स्तर बढ़ाने के लिए आपको अंजीर का दूध रात को सोते समय सप्ताह में दो बार पीने की सलाह दी जाती है। मधुमेह रोगियों को इस तरह के मेवे का संतुलित मात्रा में सेवन करना चाहिए।

हरी पत्तेदार सब्ज़ियां हीमोग्लोबिन बढ़ाने के लिए पालक, सरसों, सेलेरी और ब्रोक्ली जैसी आयरन से भरपूर हरी पत्तेदार सब्ज़ियां खा सकते हैं। आपको पालक पकाकर खाने की सलाह दी जाती है क्योंकि कच्ची पत्तियों में ऑग्जैलिक एसिड होता है जो आयरन को शरीर में एब्ज़ॉर्ब नहीं होने देता। यह हरी पत्तेदार सब्ज़ी विटामिन बी12, फ़ोलिक एसिड और अन्य जरूरी पोषण का प्राकृतिक स्रोत होती है। अगर आप अपना हीमोग्लोबिन बढ़ाना चाहते हैं तो आपको इसे रोजाना अपनी थाली का हिस्सा बनाना चाहिए। शरीर में हीमोग्लोबिन बढ़ाने के लिए ज्यादा से ज्यादा हरी सब्जियां को अपने भोजन में शामिल करना चाहिए। हरी सब्जियों में हीमोग्लोबिन बढ़ाने वाले तत्व ज्यादा मात्रा में पाये जाते है। सूखे पालक में आयरन काफी मात्रा होती है। जो शरीर में हीमोग्लोबिन की कमी को ठीक करता है।

नारियल. – नारियल शरीर में उत्तकों, मांसपेशियों और रक्त जैसे महत्वपूर्ण द्रव्यों का निर्माण करता है, यह संक्रमण का सामना करने के लिए इन्जाइम और रोग प्रतिकारक तत्वों के विकास में सहायक होता है।

गुड़- गुड़ में अधिक खनिज लवण होते है। जो हमारे शरीर में हीमोग्लोबिन बढ़ाने में मदद करता है। प्राकृतिक रूप से हीमोग्लोबिन बढ़ायें