लखनऊ की आईटीआई को लाईट हाउस आईटीआई बनाने के निर्देश

प्रमुख सचिव व्यावसायिक शिक्षा एवं कौशल विभाग ने की सभी मण्डलीय अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक। आईटीआई प्रशिक्षण प्राप्त युवाओं का अधिक से अधिक प्लेसमेंट करवायें। लखनऊ की आईटीआई को लाईट हाउस आईटीआई बनाने के निर्देश। जिलाधिकारी एवं मुख्य विकास अधिकारी की कमेटी करेगी निर्माण कार्यों की गुणवत्ता की जांच।

लखनऊ। प्रदेश के व्यावसायिक शिक्षा एवं कौशल विभाग सुभाष चन्द्र शर्मा की अध्यक्षता में प्रशिक्षण एवं सेवायोजन उ0प्र0 लखनऊ के सभागार में समीक्षा बैठक की गयी। बैठक में सभी मण्डलों के संयुक्त निदेशक आई0टी0आई0 ने प्रतिभाग किया। प्रमुख सचिव ने निर्देश दिया कि आई0टी0आई0 उत्तीर्ण प्रशिक्षार्थियों के लिए प्लेसमेन्ट मेले अधिक से अधिक लगवाने एवं अप्रेन्टिस की संख्या बढाने एवं आई0टी0आई0 में प्रशिक्षणरत प्रशिक्षार्थियों के ओ0जी0टी0 की डाटा फीडिंग, डी0एस0टी0 की डाटा फीडिंग एव आई0टी0आई0 को के0पी0आई0 के अचीवमेन्ट प्राप्त करने के निर्देश दिये। उन्होंने प्रशिक्षणरत प्रशिक्षार्थियों के स्किल ग्रो एवं वॉक इन एडमीशिन एवं प्रत्येक मण्डल के किसी एक आई0टी0आई0 में कौशल विकास के माध्यम से मोबाइल रिपेयरिंग, मेडिकल हेल्पर, मेडिकल असिस्टेण्ट, आक्सीजन प्लॉण्ट आपरेटर, ड्रोन टेक्नीशियन, ड्रोन ऑपरेटर, साइबर सिक्योरिटी कोर्स चलाने के निर्देश समस्त संयुक्त निदेशको को दिये।

जिलाधिकारी एवं मुख्य विकास अधिकारी की कमेटी बनाकर निर्माण कार्यो के गुणवत्ता की जांच करने के निर्देश दिये गये है।समीक्षा बैठक में अभिषेक सिंह, विशेष सचिव, डॉ0 नन्द किशोर धर द्विवेदी, वित्त नियंत्रक, नीरज कुमार, अपर निदेशक, मानपाल सिंह, अपर निदेशक, डी0के0 सिंह निदेशक प्राविधिक, राजेन्द्र प्रसाद, संयुक्त निदेशक, एस0सी0बी0टी0 सहित मण्डलों के संयुक्त निदेशक तथा निदेशालय के अधिकारीगण उपस्थित रहे। बैठक का समापन हरिकेश चौरसिया, निदेशक, प्रशिक्षण एवं सेवायोजन उ0प्र0 लखनऊ ने धन्यवाद के साथ किया।