हर घर तिरंगा अभियान हर घर में झंडा लगाने के निर्देश

अयोध्या। मण्डलायुक्त की अध्यक्षता में शासन के महत्वपूर्ण प्राथमिकता कार्यक्रमों की माह मई 2022 की प्रगति रिपोर्ट पर मण्डलीय समीक्षा बैठक का आयोजन आयुक्त कार्यालय सभाकक्ष में मण्डल के सभी जिलाधिकारियों, मुख्य विकास अधिकारियों एवं मण्डलीय अधिकारियों के साथ आयोजित की गयी। मण्डलायुक्त ने कहा कि वर्तमान वित्तीय वर्ष के दो माह व्यतीत हो चुके है सम्बंधित अधिकारी अपने-अपने विभागों में ऐसे कार्य करें कि जनपद के साथ-साथ मण्डल को प्रदेश स्तर अच्छी रैकिंग प्राप्त हो सकें। मण्डलायुक्त ने संचारी रोग नियंत्रण अभियान व दस्तक अभियान जो दिनांक 01 जुलाई से 31 जुलाई 2022 तक संचालित होना है, से सम्बंधित जिला, तहसील, ब्लाक व स्वास्थ्य केन्द्र स्तर पर समितियों का गठन कर कार्ययोजना तैयार की जाय जिसमें शासन के निर्देशों का अनुपालन तथा जागरूकता अभियान को वृहद स्तर पर चलाया जाय। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा करते हुये दवाईयों की उपलब्धता, चिकित्सक की उपस्थिति को बेहतर करने तथा नियमित टीकाकरण एवं कोविड टीकाकरण में तेजी लाने के निर्देश दिये। मण्डलायुक्त ने यह भी कहा कि शासन से अयोध्या, देवीपाटन एवं लखनऊ मण्डल की खरीफ गोष्ठी आयोजित करने के निर्देश प्राप्त हुये है इसके लिए कृषि विभाग सहित ए0पी0सी0 शाखा के 13 अन्य विभाग अपनी-अपनी कार्ययोजना की रिपोर्ट तैयार कर शासन व मण्डलायुक्त कार्यालय को शीघ्र उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें।

मण्डलायुक्त ने कहा कि शासन के निर्देशानुसार हर घर तिरंगा अभियान के तहत हर घर में झंडा लगाने के निर्देश दिया गया है इसके क्रम में पंचायत विभाग को नोडल विभाग बनाया गया है और निर्देश दिये गये है कि प्रत्येक ग्राम सभाओं के घरो में झंडा लगाने हेतु कार्ययोजना बनाते हुये समय पर कार्यवाही पूर्ण करें। मण्डलायुक्त ने यह भी बताया कि शासन द्वारा आगामी 21 जून को अष्टम अन्र्तराष्ट्रीय योग दिवस मनाने के निर्देशों के क्रम में सभी जिलाधिकारी निर्धारित लक्ष्यों के अनुसार कार्ययोजना तैयार करते हुये सभी तैयारियां समय पर पूर्ण करें। शासन द्वारा मण्डल के प्रभारी मंत्रियों को नामित किया गया है, जिसके क्रम में अयोध्या मण्डल के प्रभारी मंत्री के रूप में उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य को बनाया गया है, जिनके द्वारा एक सप्ताह के अंदर मण्डल भ्रमण का कार्यक्रम प्रस्तावित है इसके लिए सभी सम्बंधित विभाग निर्धारित बिन्दुओं पर रिपोर्ट तैयार कर शीघ्र आयुक्त कार्यालय को प्रस्तुत करें।


मण्डलायुक्त ने मण्डलीय समीक्षा के दौरान पाया कि विकास विभाग के पशुपालन, ग्राम्य विकास, नलकूप, सिंचाई, चिकित्सा, बाल विकास, खाद्य, समाज कल्याण, शिक्षा व निर्माण कार्यो से जुड़े विभागों द्वारा समीक्षा के लिए प्रस्तुत रिर्पोटो का अवलोकन नही किया जाता है तथा अपने सहायकों द्वारा प्रस्तुत रिर्पोटो को ही यथावत भेज दिया जाता है जो गम्भीर स्थिति है। जिस पर मण्डलायुक्त ने सभी मण्डलीय अधिकारियों को निर्देश दिये कि बैठक में आने से पूर्व अन्र्तविभागीय बैठक अनिवार्य रूप से कर लें तथा जो रिपोर्ट मण्डलायुक्त कार्यालय को समीक्षा के लिए भेजी जा रही है उसकी समीक्षा करते हुये सही रिपोर्ट भेजें। मण्डलायुक्त ने कहा कि मा0 मुख्यमंत्री जी द्वारा विगत दिनांक 06 मई 2022 को मण्डलीय समीक्षा की गयी थी जिसकी विभागों द्वारा कार्यवृत्त की कार्यवाही अनुपालन आख्या प्रस्तुत करने के निर्देश दिये गये थे जो अभी तक मण्डलायुक्त कार्यालय को प्राप्त नही हुये है, जिस पर उन्होंने सभी सम्बंधित विभागों को अतिशीघ्र अनुपालन आख्या प्रस्तुत करने के लिए कहा।

मण्डलायुक्त द्वारा सिंचाई विभाग की समीक्षा करते हुये पाया गया कि रोस्टर के अनुसार नहरों का संचालन 8 जून से किया जाना था, परन्तु किन्ही कारणों से 08 जून से प्रारम्भ न होकर 15 जून से प्रारम्भ कर दी गयी है। जिस पर उन्होंने कहा कि इसकी पूर्ण जानकारी आमजन को भी अनिवार्य रूप से उपलब्ध करा दी जाय और रोस्टर में जो बदलाव किये गये है उसको भी प्रकाशित करा दिये जाये। मण्डलायुक्त ने यह भी कहा कि कोई भी अधिकारी बिना सक्षम अधिकारी के अनुमति के रोस्टर में बदलाव न करें और यदि बहुत आवश्यक है तो उसकी अनुमति सक्षम अधिकारी से प्राप्त करने व विचार विर्मश करने के पश्चात ही आगामी कार्यवाही सुनिश्चित करें। मण्डलायुक्त ने निराश्रित गौवंश की समीक्षा करते हुये पाया कि शासन द्वारा निराश्रित गौवंशों को संरक्षित करने के लिए शासन द्वारा लक्ष्य व तिथि निर्धारित की गयी है, जिसमंे जनपदों द्वारा आपेक्षित कार्यवाही में शिथिलता बरती जा रही है, जिस पर उन्होंने सभी मुख्य विकास अधिकारियों व पशु चिकित्सा अधिकारियों एवं सम्बंधित अधिकारियों को प्राथमिकता पर कार्यवाही करने के निर्देश दिये तथा यह भी कहा कि पशुओं के टीकाकरण व पशु चारों के भुगतान की कार्यवाही समय पर पूर्ण कर ली जाय।

मण्डलायुक्त ने समीक्षा के दौरान सोलर फोटो सिंचाई पम्प, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना, धान खरीद व भुगतान, मुख्यमंत्री निराश्रितध्बेसहारा गौवंश सहभागिता योजना, पशु टीकाकरण, प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना, आयुष्मान भारत, हेल्थ एवं बेलफेयर सेंटर, सामुदायिक शौचालय, आपरेशन कायाकल्प, सड़क एवं सेतु निर्माण, ग्राम पंचायतों में पंचायत भवन का निर्माण, प्रधानमंत्री आवास योजना, राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना, विद्यालयों का निरीक्षण, कौशल विकास मिशन, प्रधानमंत्री रोजगार सृजन योजना सहित शासन की अन्य महत्वपूर्ण योजनाओं की संक्षिप्त समीक्षा की गयी। मण्डलायुक्त ने विकास कार्यो की समीक्षा के पश्चात राजस्व कार्यक्रमों की समीक्षा राजस्व विभाग के अधिकारियों के साथ की गयी। संयुक्त विकास आयुक्त अरविन्द चन्द्र जैन द्वारा शासन के प्रारूपों के आधार पर बिन्दुवार विवरण प्रस्तुत किया गया। इस अवसर पर जिलाधिकारी अयोध्या नितीश कुमार, जिलाधिकारी बाराबंकी डा0 आदर्श सिंह, जिलाधिकारी अम्बेडकरनगर सैमुअल पाल, जिलाधिकारी सुल्तानपुर रवीश गुप्ता, जिलाधिकारी अमेठी राकेश कुमार मिश्र, मुख्य विकास अधिकारी अयोध्या अनिता यादव, मुख्य विकास अधिकारी बाराबंकी एकता सिंह, मुख्य विकास अधिकारी सुल्तानपुर डा0 अतुल वत्स, मुख्य विकास अधिकारी अम्बेडकरनगर घनश्याम मीणा, मुख्य विकास अधिकारी अमेठी डा0 अंकुर लाठर, आदि के अतिरिक्त मण्डलीय अधीक्षण अभियन्ता गण, अपर निदेशक, संयुक्त निदेशक, उप निदेशक अर्थ एवं संख्या धीरेन्द्र यादव, उपनिदेशक सूचना डा0 मुरलीधर सिंह एवं अन्य सहायक निदेशक गण व मण्डल स्तरीय अधिकारी एवं सम्बंधित विभाग के प्रतिनिधियों आदि ने भाग लिया।