क्या भ्रष्टाचार कांग्रेस का राष्ट्रीय चरित्र है-उपमुख्यमंत्री

नेशनल हेराल्ड मामले में कांग्रेस क्यों डरी हुई है..?

मनीष दीक्षित

लखनऊ। प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने रविवार को कांग्रेस पर जमकर हमला बोलते हुए सवाल किया कि आखिर नेशनल हेराल्ड मामले में कांग्रेस क्यों डरी हुई है? उन्होंने कहा नेशनल हेराल्ड भ्रष्टाचार के मामले में सोनियां गांधी और राहुल गांधी बेल पर जेल से बाहर हैं। अब जांच के सिलसिले में यदि सोनिया गांधी और राहुल गांधी को ईडी का नोटिस आया है तो यह तो भ्रष्टाचार का मामला हुआ। उन्होंने कहा मामले को राजनीतिक तूल देने की कांग्रेस असफल प्रयास कर रही है। भ्रष्टाचार कांग्रेस का राष्ट्रीय चरित्र है। सोनिया-राहुल भ्रष्टाचार के आरोप में बेल पर हैं। जब ईडी उनके खेल पर पर्दा उठा रहा है तो मां-बेटे देश की अस्मिता और शांति से खेलने लगे हैं।उपमुख्यमंत्री श्री मौर्य ने रविवार को पार्टी के राज्यमुख्यालय पर आयोजित पत्रकार वार्ता में कहा कि राहुल गांधी जी, आपका ये फॉर्मूला पुराना हो चुका है कि आप भ्रष्टाचार करें और जब एजेंसी आपको पूछताछ के लिए बुलाए तो आप राजनीतिक प्रदर्शन करने लग जाएं और भीड़ जुटाने लगें ताकि आपके भ्रष्टाचार की चर्चा न हो। उन्होंने कहा कि यदि आप ने गलत नहीं किया है तो फिर आपके पूछताछ से डर भी नहीं लगना चाहिए। आप ने देश की संपत्ति को लूटा है, इसलिए आप केस की मेरिट पर बात न कर इधर-उधर की बातें कर रहे हैं और इस राजनीतिक रंग देने की कोशिश कर रहे है। श्री मौर्य ने कहा कि वे अगर दोषी नहीं हैं तो ईडी के सामने पेश क्यों नहीं हो रहे…..?


प्रदेश के उपमुख्यमंत्री ने कहा कि सोनिया गांधी और राहुल गांधी ने एक ऐसी कम्पनी बनाई जिसका मकसद कारोबार नहीं था बल्कि वो इस कम्पनी के जरिए ए.जे.एल. को खरीदकर उसकी 2 हजार करोड़ रूपये की सम्पति को अपने नाम पर करना चाहते थे। वर्ष 2011 में इसलिए कांग्रेस पार्टी ने यंग इंडिया लिमिटेड बना कर हजारों करोड़ की राष्ट्रीय संपति हड़प ली।उन्होंने कहा कि कांग्रेस और उसके नेताओं को मोदी जी की यह बात याद होनी चाहिए जिसमें उन्होंने स्पष्ट कहा था कि न खाऊंगा और न ही खाने दूंगा और जो जनता की गाढ़ी कमाई खा गए हैं उनके पेट से निकाल कर लाऊंगा और गरीबों के कल्याण पर खर्च करूंगा। अब चोरी और सीनाजोरी वाला जमाना चला गया है। कांग्रेस नेताओं को यह बात याद होनी चाहिए कि देश में मोदी सरकार है और संसाधनों की लूट किसी सूरत में स्वीकार नहीं है चोरी की है तो सजा तो भुगतनी पड़ेगी चाहे कितना भी बड़ा या उच्च पद पर आसीन व्यक्ति ही क्यों ना हो। जिसने भी चोरी की है उसे डरना ही पड़ेगा।


उन्होंने कहा कि देश के पहले प्रधानमंत्री प. जवाहर लाल नेहरू ने 20 नवम्बर 1937 को एसोसिएटेड जर्नल लिमिटेड यानी ए.जे.एल. शुरू किया था। यह कंपनी अंग्रेजी में नेशनल हेराल्ड, हिन्दी में नवजीवन और उर्दु में कौमी आवाज समाचार पत्र निकालती थी। इसमें 5000 स्वतंत्रता संग्राम सेनानी शेयर धारक थे, लेकिन 2000 करोड़ से अधिक की संपत्ति की लालच में सोनिया गांधी और राहुल गांधी ने इस पर अवैध रूप से कब्जा कर देश की आजादी में जीवन खपा देने वाले सेनानियों और उनके परिवारों का अपमान किया है।  उन्होंने कहा कि राहुल गांधी में हिम्मत है तो वे आरोपों का सामना करें, ईडी के सवालों का जवाब दें और अपना पक्ष रखें। गुमराह करने और झूठ को छिपाने के लिए शक्ति प्रदर्शन से अब काम नहीं चलेगा। लालच, लूट और आकंठ भ्रष्टाचार में डूबी कांग्रेस पार्टी आज देश में बुरी स्थिति में है, इसके बाद भी इनके नेता इस पर परदा ही डालने का काम कर रहे हैं। अब ऐसा नहीं होने वाला है। देश का कानून एक है और यह सब पर समान रूप से लागू होता है। गांधी खानदान से आने के कारण इसमें छूट मिल जाएगी ऐसा नहीं है। यदि आरोप गलत हैं तो वे बाइज्जत बरी होंगे, लेकिन आरोप सच्चे हुए तो उन्हें सजा पाने से कोई बचा नहीं पाएगा।

[/Responsivevoice]