सड़क निर्माण में हीलाहवाली बर्दाश्त नहीं-जितिन प्रसाद

150
सड़क निर्माण में हीलाहवाली बर्दाश्त नहीं-जितिन प्रसाद
सड़क निर्माण में हीलाहवाली बर्दाश्त नहीं-जितिन प्रसाद

पीडब्ल्यूडी मंत्री ने अभियंताओं की लगाई जमकर क्लास दिये कड़े निर्देश। निर्माणाधीन सड़को को उच्च गुणवत्ता के साथ तत्काल पूर्ण कराया जाए। सड़क निर्माण कार्य में हीलाहवाली बर्दाश्त नहीं की जाएगी। रविंद्रपुरी में लगभग 3 फीट ऊंचाई में बनाए जा रहे सड़क के मानक पर मंत्री रविंद्र जायसवाल एवं विधायक सौरभ श्रीवास्तव ने गहरी नाराजगी जतायी, औचित्य पर उठाये सवाल। मंत्री एवं विधायक के सवाल पर लोक निर्माण विभाग के अभियंता निरुत्तर मूकदर्शक बने रहे। मंत्री जितिन कुमार ने रविन्द्रपुरी के सड़क निर्माण कार्य रोकते हुए मौके से निर्माण सामग्री हटाये जाने का दिया निर्देश। सड़क निर्माण में हीलाहवाली बर्दाश्त नहीं-जितिन प्रसाद

अजय सिंह

वाराणसी। उत्तर प्रदेश के लोक निर्माण विभाग मंत्री जितिन प्रसाद ने सड़कों के मरम्मत एवं निर्माण कार्य को युद्ध स्तर पर अभियान चलाकर मानक के अनुरूप गुणवत्ता के साथ निर्धारित समय सीमा में पूर्ण कराए जाने हेतु विभागीय अभियंताओं को कड़े निर्देश। वाराणसी दौरे के दौरान बुधवार को देर रात तक वाराणसी के निर्माणाधीन सड़कों का स्थलीय निरीक्षण करने के पश्चात गुरुवार को सर्किट हाउस सभागार में विभागीय अभियंताओं की जमकर क्लास लगाई और कड़े निर्देश दिए कि निर्माणाधीन सड़को को उच्च गुणवत्ता के साथ तत्काल पूर्ण कराया जाए। इसमें किसी भी स्तर पर लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होंने फुलवरिया फोरलेन मार्ग को शीघ्र पूर्ण कराए जाने पर विशेष जोर दिया। लोक निर्माण विभाग द्वारा रविंद्रपुरी में लगभग 3 फीट ऊंचाई में बनाए जा रहे सड़क के मानक पर उत्तर प्रदेश के स्टांप एवं न्यायालय पंजीयन शुल्क राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) रविंद्र जायसवाल एवं विधायक सौरभ श्रीवास्तव द्वारा गहरी नाराजगी व्यक्त करते हुए इसके औचित्य पर सवाल उठाये जाने पर लोक निर्माण विभाग के अभियंता निरुत्तर मूकदर्शक बने रहे। जिस पर मंत्री जितिन कुमार ने निर्माण कार्य रोकते हुए मौके से निर्माण सामग्री हटाकर सड़क साफ कराए जाने का निर्देश है।

सड़क निर्माण में हीलाहवाली बर्दाश्त नहीं-जितिन प्रसाद

उत्तर प्रदेश के लोक निर्माण विभाग मंत्री जितिन प्रसाद ने कहा कि वाराणसी जनपद प्रधानमंत्री जी का संसदीय क्षेत्र है। यहाँ जो भी निर्माण कार्य हो, वह गुणवत्तापूर्ण हो। किसी भी प्रकार की कोई भी लापरवाही नहीं होनी चाहिए ससमय कार्य पूर्ण करे। उन्होंने निर्देशित करते हुए कहा कि लंबित एवं अपूर्ण परियोजना का कार्य दिसंबर तक पूर्ण हो जाना चाहिए। इस दौरान लोक निर्माण विभाग, ग्रामीण अभियंत्रण विभाग, निर्माण निगम एवं सेतु निगम विभाग के अभियंताओं द्वारा अपने-अपने विभागों की कार्य प्रगति से मंत्री को अवगत कराया गया। जिस पर मंत्री ने निर्देशित करते हुए कहा जो भी धनराशि शासन द्वारा उपलब्ध कराई गई है, उस धनराशि का सदुपयोग करते हुए आम जनमानस को परियोजनाओं का लाभ पहुंचाया जाए। उन्होंने विभागीय अभियंताओं को निर्देशित करते हुए कहा कि कहा कि विभाग के अंतर्गत निर्मित कराए जाने वाली सड़कों की सूची जनपद के जनप्रतिनिधियों को उपलब्ध कराएं। जिससे वह जनसुनवाई के समय सरकार की उपलब्धियों की जानकारी आम जनमानस को भी उपलब्ध करा सकें। उन्होंने सख्त चेतावनी देते हुए कहा कि नवनिर्मित सड़कों की गुणवत्ता में यदि कोई कमी पाई जाती है, तो संबंधित अभियंता एवं ठेकेदारो के विरुद्ध प्रत्येक दशा में कड़ी कार्यवाही की जायेगी। उन्होंने राजकीय निर्माण निगम, ग्रामीण अभियंत्रण विभाग एवं लोक निर्माण विभाग के लक्षित कार्यों को दिसंबर माह तक प्रत्येक दशा में पूर्ण कराए जाने पर जोर दिया।

READ MORE-भारत में योग का इतिहास

मंत्री जितिन प्रसाद ने निर्देशित करते हुए कहा कि निर्माण कार्यों से संबंधित विभागीय अधिकारी क्षेत्र में जाकर सड़कों के निर्माण कार्य के प्रगति एवं गुणवत्ता का निरीक्षण अनिवार्य रूप से करें तथा संतोषजनक कार्य न करने वाले ठेकेदारों के विरुद्ध आवश्यक कार्यवाही भी करें। सेतु निगम विभाग की समीक्षा के दौरान उन्होंने संबंधित अभियंता को निर्देश दिया कि लक्षित सेतु के निर्माण कार्य की गुणवत्ता पर विशेष ध्यान दें। सड़कों के निर्माण कार्य एवं उनके रखरखाव संबंधी प्रगति की समीक्षा बैठक प्रत्येक माह के प्रथम सप्ताह में अनिवार्य रूप से कराई जाए। बैठक में सड़कों पर अतिक्रमण एवं ब्लैक स्पॉट तथा अन्य आवश्यक बिंदुओं पर भी चर्चा की जाए। उन्होंने कहा की लहरतारा-फुलवरिया फोरलेन मार्ग का निर्माण कार्य से संबंधित अधिकारियों को कहा की भूमि अधिग्रहण के मामलों को दो से तीन दिन में निपटाएं। इस दौरान आ रही समस्याओं को बताएं, उसका समाधान होगा। उन्होंने लहरतारा-फुलवरिया फोरलेन मार्ग को हर हाल में दो महीनों के अंदर चालू कराए जाने का निर्देश देते हुए चेताया कि अब समय सीमा नहीं बढ़ाई जाएगी।

उन्होंने उन्होंने विशेष रूप से जोर देते हुए कहा कि सड़क निर्माण कार्य के दौरान मार्ग में आ रहे मंदिर, मजार को दूसरे स्थान पर शिफ्ट किया जाए। साथ ही सड़क निर्माण के दौरान चिन्हित पेड़ों पीडब्ल्यूडी और वन विभाग के अधिकारी आपस में समन्वय बनाकर उसे काटने के कार्य में तेजी लाएं। जिससे सड़क का निर्माण कार्य समय से पूर्ण कराया जा सके। सड़क की सभी लाइटें रात में जलनी चाहिए अन्यथा कठोर कार्रवाई की जाएगी। बैठक में उत्तर प्रदेश के स्टांप एवं न्यायालय पंजीयन शुल्क राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) रविंद्र जायसवाल, आयुष एवं खाद्य सुरक्षा राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) दयाशंकर मिश्र ‘दयालु’, अध्यक्ष जिला पंचायत पूनम मौर्या, नवनिर्वाचित महापौर अशोक तिवारी, एमएलसी हंसराज विश्वकर्मा, विधायक सौरभ श्रीवास्तव, विधायक डॉ अवधेश सिंह, विधायक सुनील पटेल, विधायक सुशील सिंह व महानगर अध्यक्ष विद्यासागर राय के अलावा जिलाधिकारी एस.राजलिंगम, मुख्य विकास अधिकारी हिमांशु नागपाल सहित कार्यदाई संस्थाओं के अभियंता प्रमुख रूप से उपस्थित रहे। सड़क निर्माण में हीलाहवाली बर्दाश्त नहीं-जितिन प्रसाद