दफ्तर में शराब पीते मिले जूनियर इंजीनियर निलंबित

दफ्तर में ही शराब पीते मिले दो जूनियर इंजीनियर, मंत्री स्वतंत्र देव सिंह ने किया निलंबित।

बुलंदशहर में दफ्तर में ही शराब पीने का मामला सामने आया है। दो जूनियर इंजीनियरों को शराब पीते हुए पकड़ा गया है। जलशक्ति मंत्री स्वतंत्र देव सिंह ने इसे गंभीरता से लिया और दोनों को निलंबित कर दिया है।

बुलंदशहर में दफ्तर में ही शराब पीने का मामला सामने आया है। दो जूनियर इंजीनियरों को शराब पीते हुए पकड़ा गया है। मामला प्रदेश के जलशक्ति मंत्री स्वतंत्र देव सिंह तक पहुंचा तो इसे गंभीरता से लिया गया और दोनों को निलंबित करने का निर्देश दिया। दोनों के खिलाफ अनुशासनिक कार्यवाही भी शुरू कर दी गई है।


यह जानकारी प्रमुख अभियन्ता व विभागाध्यक्ष सिंचाई एवं जल संसाधन मुश्ताक अहमद ने दी है। उन्होंने बताया कि बुलंदशहर में बुलंदशहर खण्ड गंगा नहर के निरीक्षण के दौरान पाया गया कि उपखण्ड के लिपिक के कार्यालय में कमरा बंद कर जूनियर इंजीनियर राजीव कुमार और श्रीनिवास कार्यालय सहायक के साथ शराब का सेवन कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि सरकारी दफ्तर में मदिरा का सेवन अनैतिक होने के साथ ही कर्मचारी आचरण नियमावली के भी विपरीत है। इन तथ्यों की जांच प्रमुख अभियन्ता (जांच अनुभाग) द्वारा की गई। राजीव कुमार एवं श्रीनिवास अवर अभियंता को इस कृत्य के लिए दोषी पाया गया। उन्हें निलंबित करते हुए अनुशासनात्मक कार्यवाही किये जाने के आदेश जारी किए गए हैं।


अनुशासन से कोई समझौता नहीं: स्वतंत्रदेव


जलशक्ति मंत्री स्वतंत्र देव सिंह ने कहा है कि इस तरह की घटना की पूरे प्रदेश में कहीं भी पुनरावृत्ति होने पर संबधित के खिलाफ कठोरतम कार्यवाही की जायेगी। अनुशासन के मामले में कोई समझौता नहीं होगा। उन्होने कहा कि राज्य सरकार की कानून व्यवस्था एवं भ्रष्टाचार के मामले में जीरो टालरेंस की नीति है।