प्रदेश के 25 जनपदों का प्रधानमंत्री राष्ट्रीय शिक्षुता मेला आयोजन में चयन-कपिल देव अग्रवाल

प्रदेश सरकार द्वारा राजकीय औद्योगिक संस्थानों में अप्रेंटिशिप मेला का आयोजन कराने से विभिन्न संस्थानों में अप्रेंटिशिप करने का लोगों को मिल रहा है सुनहरा अवसर।सभी सरकारी एवं गैर सरकारी अधिष्ठानों, कम्पनियों के संगठनों में जहां 30 से अधिक लोग सेवायोजित है उन्हें अप्रेंटिश रखना किया गया अनिवार्य।प्रधानमंत्री राष्ट्रीय शिक्षुता मेला आयोजन किये जाने हेतु प्रदेश के 25 जनपदों का किया गया चयन।चिन्हित जनपदों में प्रत्येक माह के द्वितीय सोमवार को प्रधानमंत्री राष्ट्रीय शिक्षुता मेला का होगा आयोजन।25 जनपदों में आगरा, अलीगढ़, अयोध्या, आजमगढ़, बरेली, बस्ती, चित्रकूट, गोण्डा, गोरखपुर, गाजियाबाद, झांसी, कानपुर, कानपुर देहात, लखनऊ, मेरठ, मिर्जापुर, मुरादाबाद, नोएडा, प्रयागराज, सहारनपुर, वाराणसी, हरदोई, बुलन्दशहर, जौनपुर तथा मुजफ्फरनगर शामिल।प्रमुख सचिव सुभाष चन्द्र शर्मा ने प्रधानमंत्री राष्ट्रीय शिक्षुता मेला आयोजन कराने हेतु सभी मण्डलायुक्त तथा सम्बन्धित जनपदों के जिलाधिकारियों को दिशा-निर्देश जारी किये।मेले के पूर्व मेला के सफल आयोजन हेतु प्रत्येक माह समिति की बैठक आहूत की जाय।जनपदों में उद्योगों व अधिष्ठानों तथा अभ्यर्थियों का शिक्षुता प्रशिक्षण हेतु भारत सरकार अप्रेन्टिशिप पोर्टल पर पंजीकरण अविलम्ब कराया जाय।भारत सरकार द्वारा प्रधानमंत्री राष्ट्रीय शिक्षुता मेले के प्रत्येक मेले हेतु 30 हजार रूपये का किया गया प्राविधान।

लखनऊ। प्रदेश के व्यावसायिक शिक्षा एवं कौशल विकास राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) कपिल देव अग्रवाल ने बताया कि प्रदेश सरकार द्वारा राजकीय औद्योगिक संस्थानों में अप्रेंटिशिप मेला का आयोजन कर लोगों को विभिन्न संस्थानों में अप्रेंटिशिप करने का अवसर प्रदान कर रही है। अप्रेंटिशिप मेले मे विभिन्न कम्पनियों को आमंत्रित किया जाता है। ये कम्पनियां मेले में आये लोगो का साक्षात्कार के माध्यम से अपने यहां अप्रेटिशिप करने हेतु चयन करती है। उन्होंने बताया कि लोगों को अधिक से अधिक अप्रेटिशिप करने का अवसर मिले इसके लिए सभी सरकारी एवं गैर सरकारी अधिष्ठानों, कम्पनियों के संगठनों में जहां 30 से अधिक लोग सेवायोजित है उन्हें अप्रेंटिश रखना अनिवार्य कर दिया गया है।

व्यावसायिक शिक्षा एवं कौशल विकास राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) ने बताया कि प्रधानमंत्री राष्ट्रीय शिक्षुता मेला आयोजन किये जाने हेतु प्रदेश के 25 जनपदों का चयन किया गया है। इन जनपदों में प्रत्येक माह के द्वितीय सोमवार को प्रधानमंत्री राष्ट्रीय शिक्षुता मेला का आयोजन किया जायेगा। अवकाश की स्थिति में अगले कार्य दिवस में यह मेला आयोजित किया जायेगा। उन्होंने बताया कि 25 जनपदों में आगरा, अलीगढ़, अयोध्या, आजमगढ़, बरेली, बस्ती, चित्रकूट, गोण्डा, गोरखपुर, गाजियाबाद, झांसी, कानपुर, कानपुर देहात, लखनऊ, मेरठ, मिर्जापुर, मुरादाबाद, नोएडा, प्रयागराज, सहारनपुर, वाराणसी, हरदोई, बुलन्दशहर, जौनपुर तथा मुजफ्फरनगर शामिल है।

प्रमुख सचिव व्यावसायिक शिक्षा एवं कौशल विकास श्री सुभाष चन्द्र शर्मा ने प्रदेश के चिन्हित 25 जनपदों में प्रधानमंत्री राष्ट्रीय शिक्षुता मेला आयोजन कराने हेतु सभी मण्डलायुक्त तथा सम्बन्धित जनपदों के जिलाधिकारियों को दिशा-निर्देश जारी किये है। उन्होंने बताया कि शिक्षुता प्रशिक्षण के क्रियान्वयन हेतु जिलाधिकारी की अध्यक्षता में समिति गठित की गयी है जिसमे जनपद के नोडल प्रधानाचार्य राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान तथा उपायुक्त जिला उद्योग एवं निर्याच प्रोत्साहन केन्द्र संयुक्त रूप से सदस्य सचिव व सह सदस्य नामित है। मेला के सफल आयोजन हेतु प्रत्येक माह समिति की बैठक आहूत कर ली जाय। जनपदों में उद्योगों व अधिष्ठानों तथा अभ्यर्थियों का शिक्षुता प्रशिक्षण हेतु भारत सरकार अप्रेन्टिशिप पोर्टल पर पंजीकरण अविलम्ब कराया जाय। उन्होंने बताया कि भारत सरकार द्वारा प्रधानमंत्री राष्ट्रीय शिक्षुता मेले के प्रत्येक मेले हेतु 30 हजार रूपये का प्राविधान किया गया है।