अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस प्रतापगढ़ में लाखों लोगों ने किया योगाभ्यास

जिले में धूमधाम से मनाया गया आंठवा अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस।अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस पर पूरे जनपद में लाखों लोगों ने किया योगाभ्यास।

प्रतापगढ़। आजादी के अमृत महोत्सव के अन्तर्गत ‘‘मानवता के लिये योग’’ की थीम के तहत आंठवे अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस पर आज पुलिस लाइन के परेड ग्राउण्ड प्रतापगढ़ में जनपद स्तरीय योग शिविर का भव्य आयोजन किया गया है जिसमें हजारो युवक/युवतियॉ, स्कूली बच्चे, अधिकारी/कर्मचारी, नगर के प्रबुद्ध नागरिको, स्वयं सेवी संगठनों के स्वयंसेवक बड़ी संख्या में प्रातः 6 बजे से प्रातः 7 बजे तक उपस्थित रहकर योग शिविर में प्रतिभाग किये और विभिन्न प्रकार के योगासनों को किया। इस योग शिविर में मा0 विधायक सदर राजेन्द्र कुमार मौर्य, विधायक विश्वनाथगंज जीत लाल पटेल, जिलाधिकारी डा0 नितिन बंसल, पुलिस अधीक्षक सतपाल अंतिल, प्रशासनिक सदस्य मा0 राजस्व परिषद उ0प्र0 रजनीश गुप्ता, मुख्य विकास अधिकारी ईशा प्रिया, भाजपा जिलाध्यक्ष हरिओम मिश्र, अपर जिलाधिकारी (वि0/रा0) मुकेश चन्द्र, मुख्य राजस्व अधिकारी राकेश सिंह, पूर्व विधायक हरि प्रताप सिंह, जिला विकास अधिकारी ओम प्रकाश मिश्र, जिला आयुर्वेदिक चिकित्सा अधिकारी डा0 सरोज शंकर राम, जिला सूचना अधिकारी विजय कुमार, जिला पंचायत राज अधिकारी रविशंकर द्विवेदी, जिला विद्यालय निरीक्षक सर्वदानन्द, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी भूपेन्द्र सिंह एवं जनपद स्तरीय अधिकारियों सहित व्यापार मण्डल, लायन्स क्लब, ब्रहमकुमारी, भारत विकास परिषद के पदाधिकारियों व एन0सी0सी0 के बच्चों ने योगाभ्यास किया। पतंजलि योग पीठ के योग प्रशिक्षकों ने शिविर में सभी प्रतिभागियों को योग विधा से परिचित कराते हुये विभिन्न योगासनों को सम्पन्न कराया जिसके अन्तर्गत स्कन्ध संचालन, स्कन्ध चक्र, घुटना संचालन, ताड़ासन, वृक्षासन, भद्रासन, वज्रासन/वीरासन, उष्ट्रासन, शशांकासन, मकरासन, भुजंगासन, सेतुबंध आसन, त्रिकोणासन आदि प्रकार के योगाभ्यास कराये गये तथा इनके लाभ के विषय में भी जानकारी दी गयी। योग प्रशिक्षकों द्वारा बताया गया कि जीवन जीने की श्रेष्ठतम विधा योग है और योग से ही व्यक्ति की काया निरोग रह सकती है।

योग भारत की प्राचीन परम्परा का एक अमूल्य उपहार है यह दिमाग और शरीर की एकता का प्रतीक है, मनुष्य और प्रकृति के बीच सामंजस्य है, विचार, संयम और पूर्ति प्रदान करने वाला है तथा स्वास्थ्य और भलाई के लिये एक समग्र दृष्टिकोण को भी प्रदान करने वाला है। योगाभ्यास से लोगों को जुड़ना चाहिये क्योकि इससे विभिन्न प्रकार की बीमारियों से बचा जा सकता है। कार्यक्रम का संचालन पतंजलि योग पीठ के संयोजक गोविन्द प्रसाद खण्डेलवाल ने किया। सुरमयी संगीत महाविद्यालय की प्रबन्धिका लक्ष्मी मिश्रा एवं अन्य महिलाओं द्वारा राष्ट्रगान के साथ इस विशेष योग शिविर का समापन हुआ। कार्यक्रम के अन्त में मा0 विधायक एवं जिलाधिकारी द्वारा पतंजलि योग पीठ के योग प्रशिक्षकों को अंगवस्त्रम् एवं पुष्प देकर सम्मानित किया गया। जनपद में अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर समस्त विकास खण्डों, विद्यालयों, आंगनबाड़ी केन्द्रों, मदरसों, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों, जिला कारागार, वृद्धाआश्रम, समस्त बीज गोदामों पर, ग्राम पंचायतों के पंचायत भवन सहित अन्य स्थानों पर योग शिविर का आयोजन किया गया है जिसमें योग प्रशिक्षकों द्वारा विभिन्न प्रकार के योगाभ्यास कराये गये एवं उसके लाभ के सम्बन्ध में जानकारी दी गयी। अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर पूरे जनपद में लगभग 5 लाख लोगों ने योगाभ्यास किया।