सी.एम.एस. के सर्वाधिक सात छात्र बने आई.ए.एस.

लखनऊ। सिटी मोन्टेसरी स्कूल के सात छात्रों ने इस वर्ष भारतीय प्रशासनिक सेवा (आई.ए.एस.) में चयनित होकर कीर्तिमान स्थापित किया है एवं सी.एम.एस. का नाम पूरे देश में गौरवान्वित किया है। सी.एम.एस. प्रदेश का ऐसा अकेला विद्यालय है, जिसके सात छात्र इस वर्ष आई.ए.एस. बने हैं। इन छात्रों में यशार्थ शेखर (12वीं रैंक), कृतिका शुक्ला (123वीं रैंक), तरूण कुमार शुक्ला (231वीं रैंक), अनुजा त्रिवेदी (241वीं रैंक), तुषार आनंद (301वीं रैंक), आयुष कुमार शिहारे (391वीं रैंक) एवं स्पर्श वर्मा (644वीं रैंक) शामिल हैं। सी.एम.एस. संस्थापक व प्रख्यात शिक्षाविद् डा. जगदीश गाँधी एवं सी.एम.एस. प्रेसीडेन्ट प्रो. गीता गाँधी किंगडन ने सी.एम.एस. के इन सभी होनहार छात्रों की उपलब्धियों पर प्रसन्नता जाहिर करते हुए विश्वास व्यक्त किया है कि ये मेधावी छात्र अपने सेवा काल के दौरान एकता व शान्ति के विचारों को सम्पूर्ण विश्व में प्रवाहित करेंगे। सी.एम.एस. के इन सभी होनहार छात्रों की अभूतपूर्व सफलता पर पूरे सी.एम.एस. परिवार को गर्व है, जिन्होंने अपनी मेधा, प्रतिभा व लगन से पूरे देश में सी.एम.एस. का नाम रोशन किया है।

सी.एम.एस. के इन मेधावी छात्रों ने अपनी सफलता का श्रेय अपने माता-पिता एवं शिक्षकों के अलावा सी.एम.एस. के शान्तिपूर्व व ईश्वरीय एकता से ओतप्रोत शैक्षिक वातावरण को दिया है। इन छात्रों का कहना है कि सी.एम.एस. का प्रेरणादायी शैक्षिक वातावरण छात्रों को उत्साह से भर देता है। सी.एम.एस. गोमती नगर (प्रथम कैम्पस) के छात्र रहे यशार्थ ने प्राथमिक शिक्षा से सी.एम.एस. से प्राप्त की एवं आई.सी.एस.ई. (कक्षा-10) की परीक्षा 96.20 प्रतिशत अंको के साथ उत्तीर्ण की। कृतिका शुक्ला की सम्पूर्ण प्रारम्भिक शिक्षा भी सी.एम.एस. महानगर एवं सी.एम.एस. गोमती नगर (प्रथम कैम्पस) से हुई है। इन्होंने आई.एस.सी. (कक्षा-12) की परीक्षा 95 प्रतिशत अंको से उत्तीर्ण की। आई.ए.एस. में 231वीं रैंक हासिल करने वाले तरूण कुमार शुक्ला सी.एम.एस. आनन्द नगर कैम्पस के छात्र रहे हैं। इसी प्रकार, सी.एम.एस. से शिक्षा प्राप्त अनुजा त्रिवेदी, तुषार आनंद, आयुष कुमार शिहारे एवं स्पर्श वर्मा ने भी सी.एम.एस. से शिक्षा प्राप्त कर आई.ए.एस. बनने के अपने सपनों को साकार किया है।