पिटबुल ब्राउनी को नगर निगम ने वापस उसके मालिक को सौंपा

अपनी 80 साल की मालकिन को काट के मौत के घाट उतारने वाले पिटबुल ब्राउनी को नगर निगम ने वापस उसके मालिक अमित त्रिपाठी को सौंपा।

लखनऊ। नगर निगम ने पिटबुल ब्राउनी को 14 दिन अपने ऑब्जर्वेशन में रखा और फिर उसके बर्ताव को सही पाए जाने के बाद अमित की एप्लीकेशन पर पिटबुल को वापस अमित त्रिपाठी को सौंप दिया गया।80 साल की मालकिन सुशीला त्रिपाठी की मौत के बाद नगर निगम पिटबुल को अपने साथ ले गया था और नगर निगम के बनाए डॉग शेल्टर होम में रखा था जहां पर उसके बर्ताव का परीक्षण किया जा रहा था लेकिन इस बीच अमित त्रिपाठी लगातार एप्लीकेशन के माध्यम से नगर निगम के अधिकारियों से रिक्वेस्ट कर रहे थे कि उन्हें पिटबुल वापस सौंप दिया जाए। जब नगर निगम में 14 दिन के ऑब्जरवेशन के बाद पाया कि पिटबुल ब्राउनी के व्यवहार में कोई हिंसा नहीं है बल्कि आप खुला छोड़ देने पर वह नॉर्मल बिहेव कर रहा था उसके बाद नगर निगम के अधिकारियों ने पिटबुल को अमित त्रिपाठी को सौंप दिया।अमित ने उसकी मां के साथ हुए हादसे को लेकर मीडिया से बातचीत में कहा कि, ‘वो एक हादसा था। ये मेरे लिये भी बेहद डरावना था। मैने अपनी मां को खोया है और में अभी तक इस सदमें से नही निकल पाया हूं।लेकिन मैं ब्राउनी को किसी और के हाथों में नहीं देख सकता था। इसी लिये जैसा मुझसे कहा गया मैने वैसा ही किया। 14 दिनों के बाद अब वो फिट है। मेरे करीबी हैं जिनको पिटबुल हैंडओवर की जा रही है।