मेरी भविष्यवाणी शत-प्रतिशत सत्य

चतुरी चाचा के प्रपंच चबूतरे से………

नागेन्द्र बहादुर सिंह चौहान

बड़के दद्दा ने प्रपंच का आगाज करते हुए कहा- मैंने पिछले इतवार को इसी चबूतरे पर भविष्यवाणी की थी कि उत्तर प्रदेश सहित उत्तराखंड, गोवा व मणिपुर राज्यों में भाजपा सरकार बनेगी। साथ ही, इस बार आम आदमी पार्टी पँजाब को कांग्रेस से छीन लेगी। मेरी यह भविष्यवाणी 10 मार्च को शत-प्रतिशत सत्य साबित हो गई। भाजपा ने अपने हिंदुत्व के साथ सुशासन और लोक कल्याणकारी योजनाओं को बेहतरीन ढंग से जोड़ रखा है। देश के मतदाताओं पर नरेन्द्र मोदी व योगी आदित्यनाथ का जादू चल रहा है। अब तो देश में यूपी के ‘बुलडोजर बाबा’ की धमक सुनाई पड़ रही है। योगीजी ने बुलडोजर को विकास एवं सुशासन का पर्याय बना दिया है। दरअसल, भाजपा ने अपने विजय रथ को आगे बढ़ाने के लिए सरकारी योजनाओं के करोड़ों लाभार्थियों का एक नया वोट बैंक तैयार कर लिया है। इस वोट बैंक में सभी जाति-धर्म के मतदाता शामिल हैं। आज की तारीख में विपक्षी दलों के पास इस वोट बैंक की कोई काट नहीं है।

चतुरी चाचा आज बड़े प्रसन्नचित होकर अपने प्रपंच चबूतरे पर बैठे थे। चबूतरे पर मास्क और सेनिटाइजर की जगह लड्डू और बतासफेनी रखी थी। चतुरी चाचा गांव के बच्चों का मुंह मीठा करवा रहे थे। पुरई चबूतरे की क्यारियों की सिंचाई कर रहे थे। आज मौसम होलिकाना था। मुंशीजी, कासिम चचा व ककुवा होली से जुड़ी बातें कर रहे थे। मेरे चबूतरे पर पहुँचते ही चतुरी चाचा ने कहा- पहले जलपान करो, फिर प्रपंच करो। सभी परपंचियों ने लड्डू व बतासफेनी खाकर नल का ताजा पानी पीया। चार राज्यों में भाजपा की अभूतपूर्व जीत से बड़के दद्दा बेहद खुश थे। क्योंकि, उनकी भविष्यवाणी सच साबित हुई। आज पहली बार चतुरी चाचा ने बड़के दद्दा को प्रपंच शुरू करने का आदेश दिया। बड़के दद्दा तो जैसे इसी बात का इंतजार कर रहे थे। उन्होंने कहा- मैं भाजपा का सदस्य नहीं हूं। लेकिन, भाजपा के सुशासन और जमीनी कार्यों से खुश हूं। मोदी-योगी की राष्ट्रवादी सोच एवं ईमानदारी के कारण करोड़ों लोगों की तरह मैं भी भाजपा समर्थक बन गया हूँ। मैंने भाजपा सरकार की कार्य पद्धति और संगठन की चुनावी रणनीति को देखते हुए जीत की भविष्यवाणी की थी। तब लोग मेरी बात पर भरोसा नहीं कर रहे थे। परन्तु, मतगणना के बाद वही लोग मुझे बधाई दे रहे हैं।

चतुरी चाचा ने बड़के दद्दा की पीठ थपथपाते हुए कहा- बेटा, तुम तौ बड़े राजनीतिक पंडित होय गय हौ। हम तौ सोचित रहय कि तुम खेतिन नीक करत हौ। मुला, तुम तौ राजनीतिव बड़ी नीक करत हौ। तुमार राजनीतिक समझ बड़ी नीक हय। वैसे अखिलेसवा शुरुआत म चुनाव बड़ी मजबूती ते लड़िय रहा रहय। बीच म सब खड़बड़ाय गवा। मुलायम पूत राजनीति केरे सगरे दगे कारतुस इक्कठा करय म जुटे रहे। अइसी तन मुलायम बहू अपर्णा भगवाधारी होइगै। नेवला स्वामी सपा क जितावै ठेका लिहिन रहय। उई ससुरदास खुदय चुनाव हारिगे। हम तौ कहित हय कि मुलायम जौ करहल न जाती, तौ अखिलेसव क नैय्या पार न लागत। अखिलेस क बड़बोलापन अउ मुस्लिम गुंडागर्दी प्रेम सपा ख़ातिन रोड़ा साबित भवा। यहय रहा तौ बसपा अउ कांग्रेस तिना सपव यूपी ते उच्छिन्न होय जाइ। फिरि भाजपा उत्तर प्रदेश म निष्कंटक राज करी। लोकतंत्र म विपक्ष मजबूत होय क चही। तबहिन जनता का भरपूर लाभ मिलिहै।

इसी बीच चंदू बिटिया परपंचियों के लिए कुल्हड़ वाली स्पेशल चाय और आलू के चिप्स-पापड़ लेकर आ गई। ककुवा ने चाय के साथ चर्चा को बढ़ाया। ककुवा बोले- पांच राज्यन के विधानसभा चुनाव म कयू मिथक टूटिगे अउ कयू रिकार्ड बनिगे। यूपी म 37 साल बादि कौनिव पार्टी दुबारा सत्ता म लौटी हय। कहा जात रहय कि नोयडा जाय वाला मुख्यमंत्री पैदर होइ जात हय। मुला, योगी बाबा इ मिथक का तुरि दिहिन। उई कयू दफा नोयडा गे। बुलडोजर बाबा फिरि मुख्यमंत्री पद केरी शपथ लेय जाय रहे। यही तिना उत्तराखंड जब ते बना, हुवाँ कौनिव पार्टी क सरकार अगले चुनाव म नाइ जीती। मुला, भाजपा अबसिला लौटि आई। बसि, मुख्यमंत्री धामी बेचारा धड़ाम होइगा। गोवा अउ मणिपुरवम भाजपा रिपीट मारि दिहिस। सब भइय्या मोदी क करिसमा हय। वैसी तन पँजाब म आप गज़बय कय डारिस। कांग्रेस ते सूबा ते छीन लिहिस। अकाली दल अउ कांग्रेस क बड़े-बड़े सुरमा ढेर होइगे। केजरीवाल का आतंकी अउ भगवंत मान का नशेड़ी बताव वाले बड़के नेता मुँह लुकाय परे हयँ। हमका तौ लागत हय कि आगे चलिके कांग्रेस केरी जगह आम आदमी पार्टी मुख्य विपक्षी दल बनि जाइ।

बड़ी देर से शांत बैठे कासिम चचा बोले- यूपी में सपा को ही जीतना था इस बार। लेकिन, बसपा ने भाजपा को वाकओवर दे दिया। मायावती ने एक सोची-समझी रणनीति से अंदरखाने में भाजपा का साथ दिया। उधर, हैदराबाद से आये मियां ओवैसी ने यहां सपा की लड़ाई को कमजोर किया। कांग्रेस तो पहले से ही यूपी की जंग से बाहर थी। अखिलेश यादव ने अकेले भाजपा जैसी शक्तिशाली पार्टी से टक्कर ली। सपा ने जिन लोगों से चुनावी गठबंधन किया, वे लोग भी ज्यादा कुछ कर नहीं सके। इसके बावजूद सपा को पिछले विधानसभा चुनाव से डेढ़ गुने सीटें इस बार मिली हैं। समाजवादी पार्टी का वोट शेयर भी बढ़ गया है। भाजपा से सपा ही लोहा लेगी। भाजपा को धर्म आधारित राजनीति छोड़नी पड़ेगी। यहां यह बात साफ कर दूं कि मैं सपा का न सदस्य हूँ और न ही समर्थक हूँ। बस, जो सही बात है, वही कह रहा हूँ। बाकी, मैं प्रधानमंत्री मोदी व मुख्यमंत्री योगी का व्यक्तिगत मुरीद हूँ।

मुंशीजी ने विषय परिवर्तन करते हुए कहा- होली खोपड़ी पर है। आप लोग राजनीति के पीछे पड़े हैं। भाजपा और आप तीन दिन से होली और दिवाली दोनों एक साथ मना रही है। रूस यूक्रेन में खून की होली खेल रहा है। रशिया आज 18वें दिन भी शहर-दर-शहर मिसाइलें, रॉकेट व बम फोड़कर दिवाली मना रहा है। कोरोना जैसी वैश्विक महामारी ने भारत सहित सारी दुनिया को ढाई साल से दुःखी कर रखा है। इधर, रूस-यूक्रेन महायुद्ध के चलते दुनिया को अलग तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। भारत के आम लोग इस कमर तोड़ महंगाई और बेरोजगारी के मध्य होली मनाने की तैयारी में जुटे हैं। यह साल भर का त्योहार है। गरीब से गरीब लोग भी होली को अच्छे से मनाने की जद्दोजहद कर रहे हैं। हालांकि, अब इस रंगे-बिरंगे, मस्ती, मिलन वाले त्योहार में पुरानी मिठास नहीं बची है। तमाम जगह तो बसन्ती पंचमी के दिन होलिकादहन स्थल पर ढांव (रण का पेड़) भी नहीं गाड़ा जाता है। ज़्यादातर गांवों में होली गायन ठप्प पड़ चुका है। युवा पीढ़ी न होली तापने जाती है और न उनकी होली मिलन में दिलचस्पी रहती है। अब तो होली परिवारीजनों, रिश्तेदारों व मित्र मंडली में सिमट गई है। होली में अब सामुहिक आनन्द घटता ही जा रहा है।

मैंने परपंचियों को कोरोना महामारी का अपडेट देते हुए बताया कि विश्व में अबतक 45 करोड़ 55 लाख से अधिक लोग कोरोना से पीड़ित हो चुके हैं। इनमें 60 लाख 57 हजार से ज्यादा लोग बेमौत मारे जा चुके हैं। इसी तरह भारत में चार करोड़ 29 लाख 87 हजार से ज्यादा लोग कोरोना की जद में आ चुके हैं। देश में अबतक पांच लाख 15 हजार से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है।भारत में शत-प्रतिशत लोगों को कोरोना का टीका देने का कार्य पूर्ण होने वाला है। देश में 15 से 18 वर्ष आयु के बच्चों को कोरोना टीके की पहली डोज लग गई है। वहीं, ज्यादातर कोरोना योद्धाओं और बुजुर्गों को बूस्टर डोज दी जा चुकी है। एक मार्च से 12 से 15 वर्ष आयु वाले बच्चों को भी वैक्सीन लगाई जा रही है। भारत के टीकाकरण अभियान की सफलता से सारी दुनिया चकित है। आजकल कोरोना पूरी तरह नियंत्रण में है। बहरहाल, हम सबको कोविड प्रोटोकॉल का पालन करना चाहिए। तभी हम सब कोरोना महामारी से सुरक्षित रहेंगे।

अंत में ककुवा व मुंशीजी परंपरागत होली गीत सुनाए। कासिम मास्टर ने ढोलक और बड़के दद्दा ने झाँझ बजाकर उनका साथ दिया। चतुरी चाचा ने सभी को होली की बधाई एवं शुभकामनाएं दीं। इसी के साथ आज का प्रपंच समाप्त हो गया। मैं अगले रविवार को चतुरी चाचा के प्रपंच चबूतरे पर होने वाली बेबाक बतकही के साथ फिर हाजिर रहूँगा। तबतक के लिए पँचव राम-राम……! [/Responsivevoice]