UP में स्थापित होंगे ‘ना थ्रो-ना थ्रो’ ट्रिपल आर सेंटर

37
UP में स्थापित होंगे ‘ना थ्रो-ना थ्रो’ ट्रिपल आर सेंटर
UP में स्थापित होंगे ‘ना थ्रो-ना थ्रो’ ट्रिपल आर सेंटर

अब यूपी के सभी 762 नगरीय निकायों में स्थापित होंगे ‘ना थ्रो-ना थ्रो’ ट्रिपल आर सेंटर। 11 नगर निगमों के बजाय अब सभी वार्डों में उपलब्धता के आधार पर बनेंगे ट्रिपल आर सेंटर। 20 मई से 5 जून तक किया जाएगा अभियान का संचालन। मिशन लाइफ के व्यापक प्रचार प्रसार के लिए प्रदेश भर में किए जाएंगे विशेष कार्यक्रम। UP में स्थापित होंगे ‘ना थ्रो-ना थ्रो’ ट्रिपल आर सेंटर

लखनऊ। ‘ना थ्रो-ना थ्रो’ ट्रिपल आर सेंटर अब 11 नगर निगमों के बजाय उत्तर प्रदेश के सभी 762 नगरीय निकायों में स्थापित किए जाएंगे। सीएम योगी की मंशा का अनुरूप व्यावहारिकता के आधार पर अब हर वार्ड में एक आरआरआर सेंटर स्थापित किए जाने का निर्णय लिया गया है। इससे पूरे प्रदेश के सभी वार्डों में इन केन्द्रों के माध्यम से आम नागरिक अपने घरों की निष्प्रयोज्य सामग्री जैसे कपड़े, किताबें, खिलौने, इलेक्ट्रिकल और इलेक्ट्रानिक उपकरण, मशीनरी आदि दान दे सकेंगे। नगर निगम इनको एकत्रित कर जरूरतमंदों को वितरित करेगा। इन केन्द्रों को कपड़ा बैंक, किताब बैंक, बर्तन बैंक, खिलौना बैंक के रुप में विकसित किया जाएगा। आवासन और शहरी कार्य मंत्रालय, भारत सरकार के मेरी लाइफ मेरा स्वच्छ शहर अभियान के तहत यह पहल की गई है। इसके साथ ही, मिशन लाइफ अभियान के अन्तर्गत भी प्रदेश भर के नगरीय निकायों में विशेष जागरूकता कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा।

सभी नगरीय निकायों को निर्देश जारी


राज्य मिशन निदेशक, स्वच्छ भारत मिशन (नगरीय) नेहा शर्मा ने गुरुवार को सभी नगरीय निकायों को इस संबंध में निर्देश जारी किए। उन्होंने बताया कि पांच जून को विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर विशेष आयोजन किए जाएंगे। राज्य मिशन निदेशक ने बताया कि आवासन और शहरी कार्य मंत्रालय, भारत सरकार के मेरी लाइफ मेरा स्वच्छ शहर अभियान के तहत ‘ट्रिपल आर (रिड्यूस, रियूज एवं रिसायकल) ना थ्रो-ना थ्रो सेंटर’ बनाए जा रहे हैं। यह ट्रिपल आर सेंटर उपलब्धता के आधार पर हर वार्ड में स्थापित किए जाएंगे। निदेशक ने बताया कि स्वच्छ कनेक्ट के अन्तर्गत स्वयं सहायता समूह, जन प्रतिनिधि, व्यापारी वर्ग, स्टूडेंट्स, सर्विस क्लास समेत समाज के अन्य वर्गों को भी जोड़ा जाएगा।

वालंटियर्स के माध्यम से होगा संचालन


उन्होंने बताया कि ट्रिपल आर सेंटर का संचालन संबंधित नगरीय निकाय वालंटियर्स के माध्यम से किया जाएगा। इन केन्द्रों पर वस्तुओं को एकत्रित करने से लेकर वितरण के लिए विभिन्न स्वयंसेवी संस्थाओं, स्वयं सहायता समूह समेत अन्य संगठनों को जोड़ने की व्यवस्था की गई है। कोई भी व्यक्ति अपने घर के निष्प्रयोज्य वस्तुओं को उपलब्ध करा सकता है। वस्तुओं के क्लेक्शन के लिए ना थ्रो- ना थ्रो रथ भी सभी नगरीय निकायों में संचालित किए जाएंगे।

5 जून को समापन के अवसर पर होंगे विभिन्न कार्यक्रम


निदेशक नेहा शर्मा ने बताया कि मिशन लाइफ अभियान के संबंध में मुख्य सचिव की अध्यक्षता में हुई बैठक में प्राप्त निर्देशों के क्रम में प्रदेश के सभी नगरीय निकायों में आगामी 5 जून तक विशेष आयोजन किए जाएंगे। इनमें ये कार्यक्रम प्रमुख होंगे…

  • प्रत्येक निकायों में ‘रन फार लाइफ’ नाम से प्लॉग रन का आयोजन किया जाएगा।
  • निकायों द्वारा 5 जून 2023 को लाइफस्टाइल डे के रूप में मेगा इवेंट किया जाएगा, जिसमें नवनिर्वाचित जनप्रतिनिधियों को पर्यावरण अनुकूल जीवन शैली अपनाने की शपथ दिलाई जाएगी। शपथ ग्रहण कार्यक्रम में जनप्रतिनिधियों के साथ स्थानीय लोगों को भी जोड़ा जाएगा। साथ ही निकाय के समस्त अधिकारी और कर्मचारी भी शपथ लेंगे।
  • स्कूलों में पर्यावरण और लाइफ स्टाइल पर आधारित निबंध लेखन, वाल पेन्टिंग, पेन्टिंग प्रतियोगिता, वाद-विवाद प्रतियोगिता आदि का आयोजन कराया जाएगा।
  • अभियान के दौरान निकायों द्वारा सोशल मीडिया पर भी एक मैसिव कैम्पेन चलाया जाएगा।
  • अभियान में विशेष रूप से एनसीसी, एनएसएस स्काउड गाइड, रोटरी क्लब आदि स्वयंसेवी संस्थाओं को शामिल किया जाएगा। अभियान में अन्य रचनात्मक गतिविधियों को भी जोड़ा जा सकता है। UP में स्थापित होंगे ‘ना थ्रो-ना थ्रो’ ट्रिपल आर सेंटर