गंगा एक्सप्रेस वे को केंद्र सरकार से मिले पर्यावरण और वन सहित सभी क्लियरेंस, 95 फीसदी जमीन का अधिग्रहण।गंगा एक्सप्रेस वे में 594 किमी में 50 फीसदी भूमि पर कब्जा लिया गया, जुलाई के अंत तक पूरा कब्जा लेंगे।दिसंबर तक पूर्वांचल एक्सप्रेस वे बलिया से लेकर बिहार के बक्सर तक जुड़ेगा।

लअजय सिंह

औद्योगिक विकास निर्यात प्रोत्साहन विभाग मंत्री नंद गोपाल गुप्ता ‘नंदी’ ने योगी सरकार के दूसरे कार्यकाल के सौ दिन पूरे होने पर विभागीय उपलब्धियों के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि हमारा प्रयास है कुंभ में दिल्ली से प्रयागराज तक सीधे गंगा एक्सप्रेस वे से लोग पहुंचें। उत्तर प्रदेश पूरे देश में 2017 से 2022 तक उत्तम प्रदेश बना है और अब सर्वोत्तम प्रदेश बनने की ओर अग्रसर है। प्रदेश में और भी एक्सप्रेसवे बनाने के बारे में चर्चा हो रही है।


लोकभवन में शुक्रवार को आयोजित प्रेस वार्ता में उन्होंने कहा कि सरकार के सौ दिनों में हमने 80 हजार 224 करोड़ के निवेश को धरातल पर उतारा है। यह केवल एमओयू नहीं है, बल्कि जिन लोगों ने जमीन लेकर निर्माण शुरू या उत्पादन शुरू किया है, वह है। उन्होंने कहा कि आज उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था सुधरी है, जिस कारण उत्तर प्रदेश में बड़े स्तर में निवेश आया है। आज देश में उत्तर प्रदेश निवेश के लिए सबसे बड़ा स्पॉट है। उत्तर प्रदेश में बनी नीतियों के चलते उत्तर प्रदेश में बड़ी-बड़ी कंपनियों ने निवेश किया है। उत्तर प्रदेश में लगातार एक्सप्रेसवे का जाल बिछाया जा रहा है। उत्तर प्रदेश में छह एक्सप्रेसवे पहले से संचालित है और सात एक्सप्रेसवे निर्माणाधीन हैं। पूरे भारत के एक्सप्रेसवे नेटवर्क का करीब 38 फीसदी उत्तर प्रदेश में है। गंगा एक्सप्रेसवे अभी नहीं बना है, यह तब है। यह बड़ी उपलब्धि है।


उन्होंने कहा कि स्वामी विवेकानंद युवा सशक्तिकरण योजना में दो करोड़ स्मार्टफोन और टैबलेट बांटे जाने हैं। हम बांट भी रहे हैं। उन्होंने विपक्षी पार्टियों पर आरोप लगाया कि तमाम ऐसे लोग जो चुनाव के समय में चाहे सपा, बसपा या कांग्रेस रही हो, तमाम लोकलुभावन वादे बिना रोडमैप के किए थे। हमने 2017 में संकल्प पत्र जारी किया था, जो संकल्प हमने लिया, उसे पूरा किया और जनता ने इन सबको नकार के प्रचंड बहुमत दिया है। हमने जो भी संकल्प लिया है, उसे भी पूरा करेंगे।इस दौरान राज्यमंत्री जसवंत सैनी, अपर मुख्य सचिव सूचना नवनीत सहगल, अपर मुख्य सचिव औद्योगिक विकास अरविंद कुमार, अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी आदि मौजूद थे।

गंगा एक्सप्रेसवे उत्तर प्रदेश का सबसे बड़ा प्रोजेक्ट-औद्योगिक विकास मंत्री

औद्योगिक विकास मंत्री ने कहा कि गंगा एक्सप्रेस वे को केंद्र सरकार से पर्यावरण और वन सहित सभी क्लियरेंस मिल चुके हैं और 95 फीसदी भूमि का अधिग्रहण भी किया जा चुका है। गंगा एक्सप्रेस वे में 594 किमी में 50 फीसदी भूमि पर कब्जा ले लिया गया, जुलाई के अंत तक पूरा कब्जा ले लेंगे। दिसंबर तक पूर्वांचल एक्सप्रेस वे बलिया से लेकर बिहार के बक्सर तक जुड़ेगा। गंगा एक्सप्रेसवे का शिलान्यास दिसंबर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया था। हम गंगा एक्सप्रेसवे के और विकास के लिए एनएचएआई से भी संपर्क में हैं। यह उत्तर प्रदेश का सबसे बड़ा प्रोजेक्ट है। इतने कम समय में सभी क्लियरेंस पाना बड़ा चैलेंज था और हम इसमें सफल हुए हैं।

गाजीपुर और बलिया के डीएम को चार-चार सौ करोड़ रुपए दिए-

नंदी ने कहा कि पूर्वांचल एक्सप्रेस वे को बलिया से जोड़ने के लिए एनएचएआई से एमओयू हो चुका है। एनएचएआई ने हमें 500 करोड़ रुपए भूमि अधिग्रहण के लिए दिए हैं। गाजीपुर और बलिया के डीएम को चार-चार सौ करोड़ रुपए की धनराशि दे दी गई है। हमारा प्रयास है कि सितंबर के अंत तक जमीन लेकर पूर्वांचल एक्सप्रेस वे से बलिया को जोड़ दें और बक्सर में जो पुल एनएचएआई का गंगा जी पर बन रहा है उसे भी दिसंबर तक पूरा कर लेंगे। [/Responsivevoice]