नितिन अग्रवाल का सपा पर हमला

उत्तर प्रदेश सरकार के आबकारी राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार ) नितिन अग्रवाल ने 100 दिनों में किये गए कार्यो को लेकर प्रेस कॉन्फ्रेंस की, प्रेस कॉन्फ्रेंस में समाजवादी पार्टी पर हमला करते हुए उन्होंने कहा कि पिछली सरकार में बहुत भ्रष्टाचार था। आबकारी विभाग भ्रष्टाचार की भेट चढ़ गया था जो राजस्व यूपी सरकार को मिलना चाहिए था वह राजस्व कुछ चंद लोगो के पास जाता था। आबकारी विभाग बहुत महत्वपूर्ण विभाग है सरकार का यह विभाग राजस्व का एक बड़ा स्रोत है। 2017 में जब मेरी सरकार बनी तो आबकारी विभाग का राजस्व 1400 हजार करोड़ का था पिछले योगी जी के पांच वर्षो में राजस्व 1400 हजार करोड़ से बढाकर 36 हजार करोड़ कर दिया।

2022 में योगी आदित्यनाथ की 2.0 सरकार बनने के बाद 100 दिनों की कार्य योजना बनाकर काम किया वही ट्रांसफर पॉलिसी पर बोलते हुए नितिन अग्रवाल ने कहा की शासन के दिशा निर्देश पर ट्रांसफर पॉलिसी के तहत आ रहे थे उनका ट्रांसफर हुआ किसी गोपनीयता से नहीं हुए विभाग में ट्रांसफर हुए ट्रांसपैरेंस तरीके से हुए है।

कच्ची शराब से पिछले दिनों कई जिलों में हुई घटना पर नितिन अग्रवाल ने कहा की जहाँ भी ऐसी घटना हुई वह शक्ति से कार्यवाही की है जहां ऐसी घटना हुई उसमे मेरे विभाग के अधिकारी की भूमिका पाई गई तो उनको सस्पेंड भी किया गया और कार्यवाही भी की गई मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के सख्त आदेश है की अगर कही भी ऐसी घटना होती है तो सख्ती से कार्यवाही की जाये किसी को भी बक्शा न जाये चाहे जो भी हो चेकिंग दस्ता जिस तरह से काम कर रहा है मेरी पूरी कोशिश रहेगी की कोई घटना न हो।

वही 100 दिनों में किये गए कार्य प्रदेश में विकास के क्रम में आबकारी विभाग द्वारा नये उद्योगों की स्थापना तथा आबकारी विभाग में पहले से चली आ रही जटिल व्यवस्थाओ और नियमों को सरल कर बिजनेस के दर्शन को अपनाते हुए विभागीय कार्य-कलापों को अत्यन्त आसान बनाने के लिये लगातार कार्य किये जा रहे है 100 दिवस की कार्ययोजना के अन्तर्गत वर्ष 2022-23 में देशी शराब, विदेशी मदिरा, बीयर, भांग तथा माडल शाप की दुकानों का व्यवस्थापन पूर्ण कर लिया गया है।धर्म नगरी जनपद अयोध्या के रामकोट और रायगंज बाई नगर पालिका क्षेत्र, जनपद मथुरा के वृन्दावन क्षेत्र, जनपद वाराणसी में गंगा नदी से । कि.मी. की दूरी तक, जनपद प्रयागराज में संगम क्षेत्र में चित्रकूट धाम, बाराबंकी के देवा शरीफ, और सहारनपुर के देवबंद म्यूनिसपैलिटी में पूर्व से ही मद्य निषेध घोषित है। सरकार की मंशा के अनुसार अधिसूचना दिनांक 31.05.2022 द्वारा मथुरा के 22 वार्डो में भी मद्य निषेध घोषित कर दिया गया है।