अब मनाया जायेगा बिजली महोत्सव एवं ऊर्जा दिवस

प्रदेश के समस्त 75 जनपदों में 25 जुलाई से 31 जुलाई, 2022 तक ‘बिजली महोत्सव एवं ऊर्जा दिवस’ कार्यक्रम मनाये जाने के निर्देश।प्रत्येक जनपद में न्यूनतम 02 कार्यक्रम आयोजित कराना अनिवार्य होगा।आजादी के अमृत महोत्सव के अन्तर्गत ऊर्जा एवं नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय द्वारा लिए गये निर्णय के अनुसार माह जुलाई, 2022 में उज्ज्वल भारत, उज्ज्वल भविष्य-ऊर्जा/2047 मनाया जाएगा।कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य भारत सरकार एवं राज्य सरकारों द्वारा आजादी से अब तक ऊर्जा एवं नवीकरणीय ऊर्जा के क्षेत्र में विकास एवं भविष्य में प्राप्त होने वाली विकास की सम्भावनाओं का प्रदर्शन किया जाना।

 लखनऊ। राज्य सरकार द्वारा प्रदेश के समस्त 75 जनपदों में 25 जुलाई से 31 जुलाई, 2022 तक ‘बिजली महोत्सव एवं ऊर्जा दिवस’ कार्यक्रम मनाये जाने के निर्देश दिए गये हैं। इस अवधि में प्रत्येक जनपद में न्यूनतम 02 कार्यक्रम आयोजित कराना अनिवार्य होगा। इनके अन्तर्गत अद्यतन ऊर्जीकृत ग्राम एवं स्वतंत्रता संग्राम से जुड़े हुए स्थलों पर कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा।यह जानकारी आज यहां राज्य सरकार के प्रवक्ता ने दी। प्रवक्ता ने बताया कि इस सम्बन्ध में मुख्य सचिव द्वारा समस्त जिलाधिकारियों, प्रबन्ध निदेशक उत्तर प्रदेश पावर कॉरपोरेशन लि0, प्रबन्ध निदेशक पूर्वांचल विद्युत वितरण निगम लि0, वाराणसी, मध्यांचल विद्युत वितरण निगम लि0, लखनऊ, दक्षिणांचल विद्युत वितरण निगम लि0, आगरा, पश्चिमांचल विद्युत वितरण निगम लि0, मेरठ, केस्को, कानपुर को प्रदेश में बिजली महोत्सव एवं ऊर्जा दिवस के आयोजन के निर्देश दिए गये हैं।


प्रवक्ता ने बताया कि आजादी के अमृत महोत्सव के अन्तर्गत ऊर्जा एवं नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय द्वारा लिए गये निर्णय के अनुसार माह जुलाई, 2022 में उज्ज्वल भारत, उज्ज्वल भविष्य-ऊर्जा/2047 मनाया जाएगा। यह कार्यक्रम सम्पूर्ण देश भर में दिनांक 25 जुलाई, 2022 से 31 जुलाई, 2022 तक बिजली महोत्सव एवं ऊर्जा दिवस के रूप में सभी जनपदों में मनाया जाएगा। कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य भारत सरकार एवं राज्य सरकारों द्वारा आजादी से अब तक ऊर्जा एवं नवीकरणीय ऊर्जा के क्षेत्र में विकास एवं भविष्य में प्राप्त होने वाली विकास की सम्भावनाओं का प्रदर्शन किया जाना है। अद्यतन ऊर्जीकृत ग्राम एवं स्वतंत्रता संग्राम से जुड़े हुए स्थलों पर कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा। ऊर्जा विभाग से सम्बन्धित योजनाओं यथा सौभाग्य योजना, दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना, वन नेशन वन ग्रिड, उपभोक्ता अधिकार, सोलर रूफ टॉप योजना इत्यादि योजनाओं का प्रदर्शन एवं संक्षिप्त ऑडियो-वीडियो चलचित्र तथा भारत सरकार के सार्वजनिक उपक्रम द्वारा बनाये गये ऑडियो-वीडियो चलचित्र का भी अनिवार्य रूप से प्रदर्शन किया जाएगा।


भारत सरकार एवं राज्य सरकार द्वारा संचालित योजनाओं के लाभार्थियों एवं योजनाओं के क्रियान्वयन में किये गये उत्तम कार्य हेतु सम्बन्धित कार्मिकों को सम्मानित भी किया जाएगा। बिजली महोत्सव में सांस्कृतिक कार्यक्रम, जनपद की स्थानीय कला का प्रदर्शन किया जाएगा। महोत्सव में प्रदर्शनी भी लगायी जाएगी। कार्यक्रम स्थल पर नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा की ऊर्जा संरक्षण एवं कुसुम योजना, प्रीपेड स्मार्ट मीटर, रूफ टॉप सोलर योजना, उपभोक्ता अधिकार, घरेलू प्रीपेड स्मार्ट मीटर, ग्राम ऊर्जीकरण, विद्युत उत्पादन एवं पारेषण विषयों पर नुक्कड़ नाटक का आयोजन किया जाएगा।प्रवक्ता ने बताया कि कार्यक्रम में मंत्रिगण, सांसदगण, विधायकगण एवं जनप्रतिनिधियों को आमंत्रित किया जाएगा। कार्यक्रम में विद्यार्थियों का प्रतिभाग सुनिश्चित कराया जाएगा। सम्पूर्ण कार्यक्रम के लिए प्रबन्ध निदेशक, उत्तर प्रदेश पावर कॉरपोरेशन लि0 को नोडल अधिकारी नामित किया गया है। कार्यक्रमों में पिछले 75 वर्षाें में राज्य द्वारा ऊर्जा के क्षेत्र में प्राप्त उपलब्धियों को प्रदर्शित किया जाएगा तथा आगामी 25 वर्ष के लिए रोड मैप पर चर्चा की जाएगी।