22 जून को सद्गुरु नेत्र चिकित्सालय चित्रकूट धाम की टीम लगाएगी निःशुल्क नेत्र कैम्प

जालौन।कोंच में एसएन गुप्ता बड़ा मील में 22 अप्रैल को निःशुल्क नेत्र परीक्षण शिविर का आयोजन होगा। आयोजित कैम्प में सबसे भरोसेमन्द संस्थान सदगुरू नेत्र चिकित्सालय चित्रकूट की टीम नेत्र रोगियों का परीक्षण करेंगी और उनकी आवश्यक जाँच व सलाह दी गयी। यह जानकारी एसएन गुप्ता बड़ा मील के मालिक नेत्र शिविर के आयोजक सुरेश गुप्ता बाबू जी ने दी।
सुरेश गुप्ता बाबू जी ने बताया कि नेत्र रोगी इस निःशुल्क नेत्र का लाभ उठाएं, उन्होंने कहा कि उनके यहां भारत के सबसे भरोसेमन्द सद्गुरु नेत्र चिकित्सालय चित्रकूट की टीम द्वारा नेत्र रोगियों का परीक्षण किया जाएगा व जिन लोगों के आँखों में मोतियाबिंद होगा उनका ऑपरेशन भी निःशुल्क चित्रकूट में किया जाएगा।

सुरेश गुप्ता बाबू जी ने बताया कि मोतियाबिंद के चिन्हित मरीजों को उसी दिन कोंच से बस द्वारा चित्रकूट निःशुल्क ले जाएगा व वहां पर निःशुल्क ऑपरेशन होने के बाद कोंच वापिस छोड़ दिया जाएगा। आयोजित नेत्र शिविर के बारे में सुरेश गुप्ता बाबू जी ने बताया कि आयोजित नेत्र शिविर के लिए सभी व्यवस्था कर दी गयी है, उनके यहां नेत्र विशेषज्ञों की टीम मरीजों को देखेगी। इसके अलावा सभी पर्चे बड़ा मील परिसर में बनेगें। उंन्होने बताया कि शिविर 22 जून बुधवार को सुबह 10 बजे से शुरु हो जाएगा व ठीक 2 बजे समाप्त होगा। उन्होंने कहा कि जिन्हें भी आंखों में किसी भी प्रकार की समस्या हो वह समय से आकर इस नेत्र परीक्षण कैम्प का लाभ उठाएं।

आधारकार्ड, फ़ोटो मरीज साथ लेकर आएं
इस निःशुल्क नेत्र परीक्षण कैम्प में जिन मरीजों के आँखों में मोतियाबिंद होगा, ऐसे मरीजों को चिन्हित करके उन्हें कोंच से बस द्वारा निःशुल्क चित्रकूट भेजा जाएगा। ऑपरेशन के लिए चिन्हित मरीजों को अपना आधारकार्ड व दो फ़ोटो साथ में लानी होगी, तभी आंखों के ऑपरेशन की प्रक्रिया शुरू हो पाएगी।

एट में भी लगेगा कैम्प
22 जून को कोंच के अलावा एट में भी यह निःशुल्क नेत्र शिविर लगाया जाएगा। एट में प्रतिष्ठान माँ शारदा एण्ड संस गल्ला मंडी के सामने भी यह नेत्र शिविर लगाया जाएगा। नेत्र शिविर के आयोजक मुकेश शिवहरे ने नेत्र रोगियों से इस निःशुल्क नेत्र शिविर का लाभ उठाने की बात कही। उन्होंने कहा कि सद्गुरु नेत्र चिकित्सालय चित्रकूट की टीम नेत्र रोगियों को देखेगी। यह नेत्र शिविर सुबह 10 बजे से दोपहर 2 बजे तक चलेगा और जिसके भी मोतियाबिंद आंखों में पाया जाएगा उसका ऑपरेशन चित्रकूट में किया जाएगा। ऐसे मरीज को एट से चित्रकूट बस द्वारा ले जाएगा व इसके बाद उसे पुनः एट छोड़ने का काम किया जाएगा।