यूक्रेन में फंसेविद्यार्थियों/व्यक्तियों का आपदा कंट्रोल रूम का संचालन

यूक्रेन देश में फंसे हुए उ0प्र0 के विद्यार्थियों/व्यक्तियों की स्वदेश वापसी के संबंध में राज्य सरकार द्वारा प्रदेश स्तर पर राज्य आपदा कंट्रोल रूम का संचालन 24×7 किया जा रहा ।
कंट्रोल रूम में स्थापित टोल फ्री हेल्पलाइन नं0 (0522) 1070 तथा मोबाइल नं0 9454441081 के माध्यम से यूक्रेन में फंसे विद्यार्थियांे/व्यक्तियों एवं उनके अभिभावकों/सम्बन्धियों से लगातार समन्वय स्थापितकरते हुए सूचनाएं प्राप्त की जा रही ।
राज्य स्तरीय कंट्रोल रूम द्वारा अब तक यूक्रेन में फंसे प्रदेश के कुल 767 विद्यार्थियों/व्यक्तियों की सूचना एकत्र की गयी, जिसे अग्रिम कार्यवाही हेतु विदेश मंत्रालय, भारत सरकार को प्रेषित किया गया है, ताकि प्रदेश के फंसे हुए व्यक्तियों/विद्यार्थियों को यूक्रेन से सुरक्षित भारत वापस लाया जा सके ।
राज्य स्तरीय कंट्रोल रूम में तैयार यूक्रेन में फंसे व्यक्तियों की सूची जनपदोंको भी प्रेषित की गई व उन्हें प्रभावित परिवारों के साथ निरंतरसमन्वय बनाये रखने के निर्देश दिए गए ।
उ0प्र0 राज्य आपदा कंट्रोल रूम यूक्रेन, पोलैण्ड, रोमानिया में स्थितभारतीय दूतावास के समस्त सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर सतत् नजरबनाए हुए है, ताकि उनके द्वारा जारी नयी एडवाइजरीज कोपीड़ित व्यक्तियों/विद्यार्थियों तक पहुंचाया जा सके ।
यूक्रेन में फंसे भारतीय नागरिकों को लेकर एक हवाई जहाज बुडापेस्ट से भारतके लिए उड़ान भरेगा और 27 फरवरी 2022 को प्रातः 7.45 बजे नईदिल्ली पहुंचेगा, जिसमंे उ0प्र0 के 37 नागरिक वापस आ रहे ।
देश वापस लौटे उ0प्र0 के नागरिकों को उनके गंतव्यजनपदों तक पहुंचाने के लिए दिल्ली एयरपोर्ट में हेल्प डेस्क की स्थापना ।
प्रदेश सरकार द्वारा यूक्रेन से वापस आने वाले व्यक्तियों को उनके गंतव्य केजनपदों में पहुंचाने के लिए एयरपोर्ट पर वाहनों तथा ट्रांजिट की व्यवस्था की गई है ।


  लखनऊ
यूक्रेन देश में फंसे हुए उत्तर प्रदेश के विद्यार्थियों/व्यक्तियों की स्वदेश वापसी के संबंध में राज्य सरकार द्वारा प्रदेश स्तर पर राज्य आपदा कंट्रोल रूम का संचालन 24×7 किया जा रहा है। कंट्रोल रूम में स्थापित टोल फ्री हेल्पलाइन नं0 (0522) 1070 तथा मोबाइल नं0 9454441081 के माध्यम से यूक्रेन में फंसे विद्यार्थियांे/व्यक्तियों एवं उनके अभिभावकों/सम्बन्धियों से लगातार समन्वय स्थापित करते हुए सूचनाएं प्राप्त की जा रही हैं।यह जानकारी आज यहां देते हुए राज्य सरकार के प्रवक्ता ने बताया कि राज्य स्तरीय कंट्रोल रूम द्वारा अब तक यूक्रेन में फंसे प्रदेश के कुल 767 विद्यार्थियों/व्यक्तियों की सूचना एकत्र की गयी है, जिसे अग्रिम कार्यवाही हेतु विदेश मंत्रालय, भारत सरकार को प्रेषित किया गया है, ताकि उत्तर प्रदेश राज्य के फंसे हुए व्यक्तियों/विद्यार्थियों को यूक्रेन से सुरक्षित भारत वापस लाया जा सके। राज्य स्तरीय कंट्रोल रूम में तैयार यूक्रेन में फंसे व्यक्तियों की सूची जनपदों को भी प्रेषित की गई है व उन्हें प्रभावित परिवारों के साथ निरंतर समन्वय बनाये रखने के निर्देश दिए गए हैं।


प्रवक्ता ने बताया कि राज्य स्तरीय कंट्रोल रूम द्वारा विदेश मंत्रालय, भारत सरकार में संचालित कंट्रोल रूम के साथ भी समन्वय बनाते हुए सूचनाओं को उपलब्ध कराया जा रहा है। उत्तर प्रदेश राज्य आपदा कंट्रोल रूम यूक्रेन, पोलैण्ड, रोमानिया में स्थित भारतीय दूतावास के समस्त सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर सतत् नजर बनाए हुए है, ताकि उनके द्वारा जारी नयी एडवाइजरीज को पीड़ित व्यक्तियों/विद्यार्थियों तक पहुंचाया जा सके। इन एडवाइजरीज को राहत आयुक्त कार्यालय के ट्विटर अकाउंट द्वारा भी आम जनमानस को सूचित करने के लिए उपलब्ध कराया जा रहा है।प्रवक्ता ने बताया कि यूक्रेन में फंसे व्यक्तियों की स्वदेश वापसी की व्यवस्था के सम्बन्ध में अपडेटेड एडवाइजरीज़ भारतीय दूतावास कीव, यूक्रेन द्वारा लगातार उनकी वेबसाइट www.eoiukraine.gov.in/index.php तथा https: //www.indianembassywarsaw.gov.in / पर अपलोड की जा रही हैं।


यूक्रेन में फंसे भारतीय नागरिकों को लेकर एक हवाई जहाज बुडापेस्ट से भारत के लिए उड़ान भरेगा और 27 फरवरी, 2022 को प्रातः 7.45 बजे नई दिल्ली पहुंचेगा, जिसमंे उत्तर प्रदेश के 37 नागरिक वापस आ रहे हैं। देश वापस लौटे उत्तर प्रदेश के नागरिकों को उनके गंतव्य जनपदों तक पहुंचाने के लिए नई दिल्ली में उत्तर प्रदेश के स्थानिक आयुक्त कार्यालय के समन्वय से दिल्ली एयरपोर्ट में हेल्प डेस्क की स्थापना की गई है, जिसमें स्थानिक आयुक्त कार्यालय के साथ जनपद गाजियाबाद तथा गौतमबुद्धनगर जनपद के अधिकारी तैनात किए गए हैं। उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा यूक्रेन से वापस आने वाले व्यक्तियों को उनके गंतव्य के जनपदों में पहुंचाने के लिए एयरपोर्ट पर वाहनों तथा ट्रांजिट की व्यवस्था भी की गई है।
——–