September 23, 2021

Nishpaksh Dastak

Nishpaksh Dastak

चीनी मिल के पेराई सत्र 2020-21 के सम्पूर्ण गन्ना मूल्य का भुगतान

 

रौजागांव चीनी मिल के पेराई सत्र 2020-21 के सम्पूर्ण गन्ना मूल्य के भुगतान से कृषकों मे खुशी की लहर।

 

अब्दुल जब्बार एडवोकेट

अयोध्या/भेलसर।  बलरामपुर चीनी मिल्स लिमिटेड यूनिट रौजागांव जिला अयोध्या द्वारा पेराई सत्र 2020-21 में खरीद किये गये सम्पूर्ण गन्ना का गन्ना मूल्य भुगतान 19-07-2021 को कृषकों के बैंक खाते मे भेज दिया गया है।यूनिट हेड निष्काम गुप्ता ने बताया कि जिन कृषक भाइयो का बैंक खाता मिल मे फ़ीड नहीं था(नॉन अकाउंट होल्डर)उनका गन्ना मूल्य भुगतान संबंधित समितियों मे भेज दिया गया है।अतः ऐसे कृषको से अनुरोध है की अपना बैंक खाता नंबर अपने संबन्धित समिति मैं देकर अपना भुगतान प्राप्त कर ले।इसी क्रम मे आगे बढ़ते हुए इकाई प्रमुख निष्काम गुप्ता ने किसानों को एक अहम जानकारी देते हुए बलराम ऐप के बारे मे बताया कि बलराम ऐप उपयोग करने से कृषक भाइयों के गन्ने की खेती मे बढ़ते हुए लागत मूल्य को काम करने,वैज्ञानिक विधि से खेती करके अधिकतम उत्पादन प्राप्त करने एवं कृषकों की सुविधा को व कृषकों के सशक्तिकरण के लिए,टिकाऊ खेती करने और चीनी मिल से सीधे जुड़ने के लिए लाभदायक विकल्प है।एक बार ऐप में लॉगिन करते ही कृषक के गन्ना खेत संबंधीं सभी जानकारियां उपलब्ध हो जाएंगी।गन्ने से संबंधित किसी भी समस्या के निदान हेतु अपना अनुरोध लिखकर अथवा फोटो द्वारा साझा कर समाधान प्राप्त कर सकेंगे,तौल पर्ची एवं गन्ना मूल्य भुगतान आदि की जानकारी पा सकेंगे। साथ ही बताया की बलराम ऐप गूगल के प्ले-स्टोर से अथवा संबंधित चीनी मिल सूपर्वाइज़र से सम्पर्क कर आसानी से डाउनलोड कर सकते है।

 

चीनी मिल के महाप्रबंधक (गन्ना) इकबाल सिंह ने बताया की रौजागाँव चीनी मिल द्वारा अपने सभी गन्ना ग्रामों का सर्वे कार्य सुचारु पूर्वक पूरा कराया जा चुका है जल्द ही सभी गन्ना ग्रामों का सर्वे खतौनी निकाल कर परदर्शन कार्य शीघ्र ही चालू कर दिया जाएगा।अतः समस्त कृषकों से अपील है की अपने संबंधित क्षेत्र के गन्ना सूपर्वाइज़र से सम्पर्क कर समस्त खेतों का सर्वे ठीक प्रकार से देखकर अगर उसमे कोई त्रुटि है तो आवश्यक सुधार करा ले।जो किसान भाई गन्ने के नये सदस्य बनना चाहते है वे अपने संबंधित गन्ना समिति मे जाकर जल्द से जल्द नये समिति सदस्य की प्रक्रिया पूरी करा ले,जिससे आपको गन्ना आपूर्ति मे असुविधा न हो।