महाराजगंज फरेंदा में स्वास्थ्य सुविधाओं से खिलवाड़

मरीजों की सुविधा को दरकिनार कर कर्मचारियों की सुविधा के लिए करते हैं अटैच। अटैच के नाम पर स्वास्थ्य सुविधाओं से होता है खिलवाड़।

सुनील कुमार पांडेय

महाराजगंज। जनपद महाराजगंज के फरेंदा क्षेत्र में नया प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र लेजार महादेवा की स्वास्थ्य सुविधाएं मात्र एक फार्मासिस्ट के सहारे ही चल रही है। इससे मरीजों को भी दुश्वारियों का सामना करना पड़ रहा है। स्वास्थ्य सेवाओं की पंगु व्यवस्था से क्षेत्र में झोलाछाप डॉक्टरों की पौबारह है। क्षेत्र की जनता के लिए स्वास्थ्य सुविधा मुहैया कराने हेतु नया प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र लेजार महादेवा पर केवल एक ही फार्मासिस्ट की तैनाती होने से वह हाथी का दांत साबित हो रहा है। फार्मासिस्ट की छुट्टी अथवा अन्य काम से जाने पर अस्पताल बंद होने की नौबत हो जाती है जबकि यहां पर 2 दर्जन से अधिक लोगों की ओपीडी औसतन प्रत्येक दिन रहती है। ऐसे में क्षेत्र के लोगों को परेशान होकर प्राइवेट अस्पतालों का सहारा लेना पड़ता है अथवा झोलाछाप डॉक्टरों की शरण में जाना पड़ता है।

क्षेत्र में झोलाछाप डॉक्टर पूरी तरह सक्रिय हैं कम रेट पर लोगों का इलाज कर रहे हैं और कई दफा मरीजों की जान के साथ बेधड़क खिलवाड़ करने से भी बाज नहीं आ रहे हैं। इस संबंध में फार्मासिस्ट महेंद्र सिंह ने बताया कि स्वास्थ्य केंद्र पर अकेले ही सारी जिम्मेदारियों का निर्वहन करना पड़ता है कम से कम एक स्वीपर और वार्ड बॉय की तैनाती इस केंद्र पर कर दी जाए ताकि मरीजों की स्वास्थ्य सुविधा पटरी पर आ सके। अवनी परिधि नामक संस्था से नियुक्त वार्ड बॉय अजय गुप्ता ने बताया कि सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लक्ष्मीपुर से हमारा स्थानांतरण नया प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र लेजार महादेवा के लिए किया गया था लेकिन अधीक्षक द्वारा हमें सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बनकटी पर अटैच कर दिया गया है हम अपने ड्यूटी का निर्वहन कर रहे हैं हमें जहां कहा जाएगा हम वहां ड्यूटी करेंगे।

इस संबंध में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बनकटी के अधीक्षक डॉ एमपी सोनकर ने बताया कि मात्र एक फार्मासिस्ट की तैनाती के कारण पिछले दिनों पूरा दिन स्वास्थ्य केंद्र पर ताला लटका रहा । डॉक्टर व स्टाफ नर्स की तैनाती के लिए उच्चाधिकारियों को अवगत करा दिया गया है जल्द ही व्यवस्था सुदृढ़ होगी। वार्ड बॉय अजय गुप्ता के अटैच होने के संबंध में उन्होंने बताया कि यह हमारे कार्यकाल से पहले का मामला है इसे कैसे अटैच किया गया है हमें जानकारी नहीं है यदि ऐसा है तो जांच कर उचित कार्यवाही करते हुए वार्ड बॉय के तैनाती स्थल पर भेज दिया जाएगा।