विश्वकर्मा ब्रिगेड का प्रांतीय अधिवेशन लखनऊ में सम्पन्न

अजय सिंह

लखनऊ। अधिवेशन के मुख्य अतिथि पूर्व मंत्री श्री राम आसरे विश्वकर्मा जी रहे।विश्वकर्मा ब्रिगेड के प्रदेश आशुतोष विश्वकर्मा ने अध्यक्षता तथा संचालन राष्ट्रीय सचिव राजेश विश्वकर्मा ने किया।प्रदेश अध्यक्ष आशुतोष विश्वकर्मा ने सामाजिक प्रस्ताव प्रस्तुत किया।30 से अधिक ब्रिगेड के अध्यक्षो ने प्रस्ताव का समर्थन किया।

प्रस्ताव सर्वसम्मति से पारित हुआ।ब्रिगेड के सभी नौजवानों ने निष्ठा और ईमानदारी से काम करने का संकल्प लिया।मुख्य अतिथि अभाविशिम के राष्ट्रीय अध्यक्ष पूर्वमन्त्री राम आसरे विश्वकर्मा ने कहा कि हम अधिवेशन मे प्रदेश भर से आये नौजवानों का आभार प्रकट करते है। ब्रिगेड के सभी नौजवान विश्वकर्मा समाज के अस्मिता अस्तित्व और एकजुटता को बनाये रखने तथा सम्मान स्वाभिमान और पहचान को बनाये रखने के लिये संकल्प ले।

विश्वकर्मा समाज के ऊपर हो रहे उत्पीडन अत्याचार अपमान और उपेक्षा को रोकना और आपस मे समभाव सौहार्द कायम करना ही विश्वकर्मा ब्रिगेड का लक्ष्य है।
श्री विश्वकर्मा ने कहा कि ब्रिगेड अपने संघर्षों के बल पर कार्य करने के कारण ही प्रदेश का विश्वकर्मा समाज आज विश्वकर्मा ब्रिगेड के नौजवानों पर भरोसा करने लगा है।

ऐसे मे ब्रिगेड के नौजवानों की जिम्मेदारी बढ जाती है। केन्द्र और प्रदेश सरकारों की गलत नीतियों के चलते प्रदेश मे गरीबी भुखमरी महगांई और बेरोजगारी लगातार बढती जा रही है। मंहगी शिक्षा होने के कारण नौजवान गुणवत्ता युक्त और रोजगारपरक शिक्षा से नौजवान बंचित हो रहा है जिससे लाखों विश्वकर्मा समाज के नौजवान बेरोजगार हो गये है। प्रदेश सरकार द्वारा पुश्तैनी और परम्परागत कारोबार जैसे लोहे लकडी के रोजगार को बढावा न देने कारण विश्वकर्मा समाज का विकास रूक सा गया है। नौकरी और रोजगार के अवसर न मिलने के कारण नौजवानों मे निराशा ब्याप्त हो गयी है।

आये दिन विश्वकर्मा समाज के ऊपर हो रहे उत्पीडन समाज के नौजवानों की हत्याएं महिलाओं के साथ दुर्व्यवहार जमीनों पर कब्जे तथा फर्जी मुकदमों मे फंसाना आदि घटनाओं से विश्वकर्मा समाज दुखी और निराश है। जनपद बागपत बहराईच श्रावस्ती और महराजगंज मे समाज के ऊपर हुए जघन्य अत्याचार से विश्वकर्मा समाज मे आक्रोश ब्याप्त है।विश्वकर्मा समाज पर सत्ता संरक्षित लोगो के अत्याचार पर कार्यवाही न कर भाजपा सरकार बेखबर होकर अपना गुणगान मे लगी है। श्री विश्वकर्मा ने कहा कि सपा सरकार मे विश्वकर्मा समाज के विकास के चलाये विशेष अभियान जैसे कुटीर उद्योग के ग्राम सभा की जमीन का पट्टा विश्वकर्मा लोहार बढई समाज के नौजवानों को आईटीआई का प्रमाण पत्र सरकारी विभागों मे पुश्तैनी काम करने वाले लोगो को ही नौकरी और रोजगार देने का कार्य वर्तमान भाजपा सरकार ने बन्द कर दिया।

विश्वकर्मा समाज के गौरव और सम्मान के प्रतीक भगवान विश्वकर्मा के पूजा दिवस 17 सितम्बर को सपा सरकार द्वारा किये गये सार्वजनिक अवकाश को वर्तमान सरकार ने निरस्त करके भगवान विश्वकर्मा का अपमान किया है। विश्वकर्मा समाज भगवान विश्वकर्मा के का अपमान बर्दाश्त नहीं करेगा। विश्वकर्मा ब्रिगेड का यह अधिवेशन भाजपा सरकार के इस कृत्य की निन्दा करता है और मांग करता है कि सरकार 17 सितम्बर को विश्वकर्मा पूजा का सार्वजनिक अवकाश घोषित करे।अब यह विश्वास हो गया है कि सरकार सरकार ही समाज को सुरक्षा सम्मान रोजगार और विकास दे सकती है।


श्री विश्वकर्मा ने कहा कि विश्वकर्मा ब्रिगेड को प्रत्येक जनपद मे 100 नौजवानों की फौज तैयार करनी होगी जो विषम परिस्थितियों में एकजुट होकर मुकाबला कर सके और समाज के लोगो को सुरक्षा और राहत दें सके। हर जनपद हर तहसील और हर ब्लाक मे ब्रिगेड का संगठन तैयार किया जायेगा। विश्वकर्मा ब्रिगेड के नौजवानो का संगठन प्रत्येक जनपद तहसील ब्लाक मे एक व्हाट्सअप ग्रुप बनाकर ब्रिगेड की गतिविधियों का संचालन करेगा और आपसी सूचनाओं का आदान प्रदान करेगा। विश्वकर्मा समाज के नौजवानों मे हीनता की भावना त्याग करने उनमें आत्म विश्वास पैदा करने और देश और समाज के बेहतर भविष्य के लिये काम करना होगा। महापुरुषों के इतिहास का जन जन मे पहुचाना होगा तथा विश्वकर्मा समाज की खोयी हुई प्रतिष्ठा को वापस लाना होगा। संगठन को प्रशिक्षण शिविर लगाकर नौजवानों को शिक्षित किया जायेगा। कार्यक्रम को महासभा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ईo विजेश शर्मा महासभा के प्रदेश अध्यक्ष अच्छेलाल विश्वकर्मा प्रदेश उपाध्यक्ष राम अवतार विश्वकर्मा सूरजबली विश्वकर्मा शिवकुमार विश्वकर्मा संगठन मंत्री बंटी शर्मा प्रदेश सचिव राजपाल विश्वकर्मा एडवोकेट सहित विश्वकर्मा ब्रिगेड के सभी जिलाध्यक्षों ने सम्बोधित किया।