पं0 गोविन्द बल्लभ पंत महान स्वतंत्रता संग्राम सेनानी थे-मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री ने महान स्वतंत्रता संग्राम सेनानी, उ0प्र0 के प्रथम मुख्यमंत्री तथा भारत के पूर्व गृह मंत्री भारत रत्न पं0 गोविन्द बल्लभ पंत की 135वीं जयन्ती पर उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि दी। पंत जी की कर्मठता, राष्ट्र निष्ठा और संगठन क्षमता को ध्यान में रखकर उन्हें उ0प्र0 के मुख्यमंत्री पद का दायित्व दिया गया। पं0 गोविन्द बल्लभ पंत ने देश और प्रदेश की सेवा की तथा उ0प्र0 को तत्कालीन समय में विकास का एक मॉडल देने का प्रयास किया।

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज महान स्वतंत्रता संग्राम सेनानी, उत्तर प्रदेश के प्रथम मुख्यमंत्री तथा भारत के पूर्व गृह मंत्री भारत रत्न पं0 गोविन्द बल्लभ पंत की 135वीं जयन्ती पर यहां लोक भवन स्थित उनकी प्रतिमा के सम्मुख चित्र पर पुष्प अर्पित कर उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि दी।मुख्यमंत्री ने कहा कि पं0 गोविन्द बल्लभ पंत एक महान स्वतंत्रता संग्राम सेनानी थे। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के नेतृत्व में चले स्वाधीनता आन्दोलन में उन्होंने बढ़-चढ़ कर भाग लिया। पंत जी की कर्मठता, राष्ट्र निष्ठा और संगठन क्षमता को ध्यान में रखकर उन्हें उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री पद का दायित्व दिया गया।

स्वतंत्र भारत में वे उत्तर प्रदेश के प्रथम मुख्यमंत्री हुए, तत्पश्चात उन्हें भारत के गृह मंत्री के रूप में कार्य करने का अवसर प्राप्त हुआ। विभिन्न पदों पर रहते हुए पं0 गोविन्द बल्लभ पंत ने देश और प्रदेश की सेवा की तथा उत्तर प्रदेश को तत्कालीन समय में विकास का एक मॉडल देने का प्रयास किया।इस अवसर पर लखनऊ की महापौर संयुक्ता भाटिया, पूर्व मंत्री महेन्द्र सिंह तथा अन्य जनप्रतिनिधिगण, मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्र, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री, सूचना एवं गृह संजय प्रसाद, सूचना निदेशक शिशिर सहित शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।