अल्ट्रासाउंड सेंटरों पर हुई छापेमारी

अल्ट्रासाउंड सेंटरों पर हुई छापेमारी, स्वास्थ्य विभाग की टीम के पहुंचते ही फर्जी सेंटरों के शटर बंद कर भागे संचालक। दो तीन सेंटरों के कागजों में पाई गई खामियां, होगी कार्रवाई।

सहारनपुर। बेहट कस्बे में कुकुरमुत्तों की तरह पनप रहे अल्ट्रासाउंड सेंटरों पर अचानक हुई छापेमारी से हड़कंप मच गया। जांच के दौरान कई सेंटरों के कागजों में खामियां पाई गई हैं। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र प्रभारी डॉ नितिन कंडवाल ने बताया कि उक्त सेंटरों के खिलाफ जल्द कार्रवाई की जाएगी।मंगलवार को जिलाधिकारी के आदेशानुसार बेहट कस्बे में चल रहे फर्जी अल्ट्रासाउंड सैंटरो की नायाब तहसीलदार अनिल कुमार एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र प्रभारी डॉ नितिन कंडवाल के नेतृत्व में टीम ने पहुंचकर अल्ट्रासाउंड सेंटरों के कागजों की जांच पड़ताल की गई इस दौरान कुछ फर्जी सेंटरों के संचालक अपने शटर बंद कर भागते नजर आए। कस्बे में एक अल्ट्रासाउंड संचालक तो नशे में मिले हैं और अल्ट्रासाउंड उनकी सहायक महिला करती है।

इस सब कार्रवाई के बाद सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र प्रभारी डॉ नितिन कंडवाल ने बताया कि जिन सेंटरों के कागजात सही नहीं पाए गए हैं उनके खिलाफ रिपोर्ट ऊपर भेज दी गई है। जल्द ही उन सेंटरों को सीज कर उनके संचालकों के खिलाफ कार्रवाई अमल में लाई जाएगी उन्होंने बताया कि जिस सेंटर के संचालक नशे में मिले उनके खिलाफ भी रिपोर्ट भेज दी गई है जल्द ही कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार कस्बे में एक ऐसा अल्ट्रासाउंड सेंटर है जिसका स्वामी स्वयं तो नशे में रहता है और एक प्राइवेट महिला से अल्ट्रासाउंड कराता है इस संबंध में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र प्रभारी डॉ नितिन कंडवाल ने कहा कि उक्त सेंटर की शिकायत मिली है जल्द ही उसके खिलाफ भी बड़ी कार्रवाई होगी।