July 27, 2021

Nishpaksh Dastak

Nishpaksh Dastak

व्यक्ति नही संस्था थे, राम उजागिर पांडेय-सुनील यादव

पुण्यतिथि पर फार्मेसिस्टों ने स्व राम उजागिर पांडेय के सिद्धांतों पर चलने का संकल्प लिया।डिप्लोमा फार्मेसिस्ट एसो के संस्थापक ‘फार्मेसी रत्न’ स्व राम उजागिर पांडेय की 18वीं पुण्य तिथि पर रक्तदान, सेमिनार, श्रद्धांजलि सभा सहित विभिन्न कार्यक्रम आज सम्पन्न


लखनऊ – डिप्लोमा फार्मेसिस्ट एसोसिएशन उत्तर प्रदेश के संस्थापक महामंत्री ‘फार्मेसी रत्न’ स्व राम उजागिर पांडेय व्यक्ति नहीं एक संस्था थे, जिनके बताए रास्ते पर चलने से फार्मेसिस्ट संगठन के साथ पूरे कर्मचारी समुदाय का भला होगा ।आज स्व पांडेय की 18 वी पुण्यतिथि पर सिविल चिकित्सालय में आयोजित श्रद्धांजलि सभा को संबोधित करते हुए फार्मेसिस्ट फेडरेशन के अध्यक्ष सुनील यादव ने उक्त विचार वर्णित किया । श्री सुनील यादव ने स्व पांडेय जी को एक कुशल रणनीतिकार के साथ अच्छा साहित्यकार भी बताया । उन्होंने कहा कि पांडेय जी द्वारा लिखे गए पत्रो का संकलन करने से संघ को बहुत लाभ हुआ है । पांडेय जी कहते थे कि संघ को सदैव गतिमान और संघर्षरत रहना चाहिए ।


लखनऊ के बलरामपुर चिकित्सालय में फीपो के अध्यक्ष डॉ के के सचान ने आज 18वीं बार रक्तदान कर श्रद्धांजलि अर्पित कीवहीं डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी अस्पताल(सिविल) में फार्मेसिस्ट फेडरेशन के अध्यक्ष सुनील यादव की अध्यक्षता में श्रद्धांजलि सभा की गई, प्रभारी अधिकारी फार्मेसी श्री एच एन चौधरी ने स्व पांडेय जी के चित्र पर माल्यार्पण कर सभा का शुभारंभ किया । सभी चीफ फार्मेसिस्टों, फार्मेसिस्टों, लैब टेक्नीशियन, xray टेक्नीशियन, कंप्यूटर ऑपरेटर, कार्यालय स्टाफ,नर्सेस, वार्ड बॉय, सफाई कर्मियों ने भी पुष्प अर्पित कर स्व पांडेय जी को याद किया ।


कर्मचारी शिक्षक संयुक्त मोर्चा के अध्यक्ष वी पी मिश्र ने पांडेय जी के साथ बिताए क्षणों को याद करते हुए उन्हें राज्य कर्मचारियों का मसीहा बताया । उन्होंने कहा कि स्व पांडेय जी कर्मचारियों में लोकप्रिय नेता थे, प्रदेश के कर्मचारियों को एकजुट करने में पांडेय जी की भूमिका हमेशा यादगार रहेगी


राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के अध्यक्ष सुरेश रावत, महामंत्री अतुल मिश्र ने स्व पांडेय को संघर्षो का प्रतीक बताया और श्रद्धांजलि दी
स्व पांडेय जी ने फार्मेसी छात्रों को एकजुट करके संघर्ष की शुरुवात की थी और डिप्लोमा फार्मेसिस्ट एसोसिएशन का गठन किया था । सतत संघर्ष करते हुए फार्मासिस्ट संवर्ग में चीफ फार्मेसिस्ट से लेकर संयुक्त निदेशक तक के पद सृजित कराये ।


फेडरेशन के जनपद अध्यक्ष एस एन सिंह, सचिव जी सी दुबे, राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के जिलाध्यक्ष सुभाष श्रीवास्तव, प्रवक्ता अजय पांडेय , वन विभाग के डॉ पी के सिंह, अनिल प्रताप सिंह, अजय कश्यप, शिव जी कुशवाहा, कासिम अली, एम पी चौधरी आदि ने पुष्प अर्पित करते हुए कर्मचारियों से एकजुट रहकर पांडेय जी के बताए रास्ते पर चलने का आह्वान किया ।


डॉ एस पी एम सिविल चिकित्सालय संयुक्त कर्मचारी संघ के अध्यक्ष महेंद्र पांडेय, मंत्री विवेक तिवारी, गिरीश विश्वकर्मा ,रमेश यादव, सत्य प्रकाश यादव, जे के निगम, राय, जावेद, फ़ैज़ी, राजेश सिंह, खुर्शीद, रियाज, आदि ने प्रमुख रूप से सभा को संबोधित कर पांडेय जी को याद किया, सभा मे अनेक प्रशिक्षु फार्मेसिस्टों भी उपस्थित रहे। डीपीए लखनऊ के अध्यक्ष सुशील त्रिपाठी सहित अन्य फार्मेसिस्ट साथियों ने स्व पांडे जी को याद किया ।


वहीं प्रदेश के अन्य जनपदों में भी स्व पांडेय जी की पुण्यतिथि पर रक्तदान, सेमिनार , फल वितरण सहित अनेक जनोपयोगी कार्यक्रमो का आयोजन किया गया । ज्ञातव्य है कि कर्मचारी नेता राम उजागिर पांडेय का 6 जुलाई 2003 को एक सड़क दुर्घटना में असामयिक निधन हो गया था । तब से हर वर्ष पूरे प्रदेश में उन्हें 6 जुलाई को श्रद्धांजलि अर्पित कर याद किया जाता है ।