रामकृष्ण मिशन सेवा श्रम (चैरिटेबल हॉस्पिटल) मेंमिलेगी बेहतर सुबिधा -योगी


प्रधानमंत्री के नेतृत्व में भारत ने कोरोना का विश्व के अंदर सबसे बेहतरीन प्रबन्धन किया।प्रत्येक देशवासी स्वामी विवेकानन्द जी का पूरे श्रद्धाभाव के साथ स्मरण करता है।यह हॉस्पिटल भी आयुष्मान भारत की इनपैनल्ड सूची में शामिल होना चाहिए।मुख्यमंत्री ने वृन्दावन, जनपद मथुरा में रामकृष्ण मिशन सेवा श्रम (चैरिटेबल हॉस्पिटल) में कैथ लैब का उद्घाटन किया।एक सामान्य व्यक्ति को निःशुल्क स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान करने के लिए आयुष्मान भारत और मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना सहायक साबित हो रहीं।इस हॉस्पिटल में नर्सिंग कॉलेज की प्रक्रिया को भीआगे बढ़ाना चाहिए, यहां पैरामेडिकल कोर्स भी चलाए जा सकते।मथुरा एवं ब्रज क्षेत्र के वासियों के लिए अत्यन्त सौभाग्य का विषय किरामकृष्ण मिशन सेवाश्रम हॉस्पिटल के माध्यम से स्वास्थ्यके क्षेत्र में उच्च गुणवत्ता युक्त सेवाएं प्राप्त हो रहीं।चैरिटेबल हॉस्पिटल का उद्देश्य सस्ती औरविश्वसनीय स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराना होना चाहिए।मुख्यमंत्री ने मथुरा के श्री बांके बिहारी मंदिर में दर्शन-पूजन किया।


मथुरा।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ वृन्दावन, जनपद मथुरा में रामकृष्ण मिशन सेवाश्रम (चैरिटेबल हॉस्पिटल) में कैथ लैब का उद्घाटन किया। इस अवसर पर अपने सम्बोधन में उन्होंने कहा कि रामकृष्ण मिशन सेवाश्रम पिछले 114 वर्षों से स्वास्थ्य, शिक्षा और कल्याण के क्षेत्र में समाज को धर्मार्थ अपनी सेवाएं प्रदान कर रहा है। मथुरा एवं ब्रज क्षेत्र के वासियों के लिए अत्यन्त सौभाग्य का विषय है कि रामकृष्ण मिशन सेवाश्रम हॉस्पिटल के माध्यम से स्वास्थ्य के क्षेत्र में उच्च गुणवत्ता युक्त सेवाएं प्राप्त हो रही हैं। उन्होंने कहा कि वर्ष 2019 में राष्ट्रपति श्री राम नाथ कोविन्द जी के साथ इसी चैरिटेबल हॉस्पिटल के शारदा ब्लॉक के उद्घाटन कार्यक्रम में शामिल होने का उन्हें शुभ अवसर प्राप्त हुआ था।


सदी की सबसे बड़ी महामारी कोरोना ने हम सबकी क्षमता का परीक्षण किया और हम सबके सेवाभाव को भी बहुत गहनता से परखा। बहुत सारी संस्थाएं, जो सेवा के क्षेत्र में बहुत अच्छा कार्य करती थीं, लेकिन उन्हें उतना महत्व नहीं मिल पाता था। कोरोना कालखण्ड में एक बार फिर से देश व दुनिया के सामने यह बात सामने आयी कि सेवाभाव से कार्य करने वाली कौन सी संस्थाएं हैं। उन्होंने कहा कि ब्रज क्षेत्र में स्वास्थ्य की उत्तम सुविधाओं के लिए रामकृष्ण मिशन के चैरिटी हॉस्पिटल के क्षेत्र में अग्रणी नाम है। कोरोना की अब तक चार लहरें आ चुकी हैं। इसमें दूसरी लहर सर्वाधिक भयावह थी। उस दौरान उन्होंने मथुरा-वृन्दावन क्षेत्र का दौरा किया था। उस समय प्रशासन, कोरोना वॉरियर्स और हेल्थ वर्कर्स ने सेवाभाव का सर्वोत्तम उदाहरण प्रस्तुत किया। प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में भारत ने कोरोना का विश्व के अंदर सबसे बेहतरीन प्रबन्धन किया। जीवन और जीविका को कैसे बचाया जा सकता है, इसका उदाहरण भी दुनिया के सामने प्रस्तुत किया।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने श्री बांके बिहारी मन्दिर,मथुरा में दर्शन पूजन करते हुए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि अत्याधुनिक सुविधा से युक्त रामकृष्ण मिशन हॉस्पिटल की लैब का उद्घाटन किया जा रहा है। लैब का निर्माण रेल विकास निगम लि0 के सहयोग से किया गया है। यह कैथलैब एंजियोग्राफी, एंजियोप्लास्टी, पेसमेकर इंसर्शन तथा अन्य हृदय सम्बन्धी प्रक्रियाओं के संचालन में सहायक सिद्ध होगी। उन्होंने कहा कि रामकृष्ण मिशन की स्थापना स्वामी विवेकानन्द जी ने अपने पूज्य गुरुदेव रामकृष्ण परमहंस जी की स्मृति में की थी। भारत के सनातन धर्म को वैश्विक स्तर पर पहचान दिलाने के लिए स्वामी विवेकानन्द जी ने मंच प्रदान किया था, यह बहुत ही अभिनन्दनीय है। प्रत्येक देशवासी स्वामी विवेकानन्द जी का पूरे श्रद्धाभाव के साथ स्मरण करता है। देश व धर्म के प्रति विवेकानन्द जी की सेवाएं उन्हें महानता के शिखर तक ले जाती हैं। शिक्षा, स्वास्थ्य व मानव कल्याण के क्षेत्र में जो अद्भुत कार्य रामकृष्ण मिशन ने किया है, वह सराहनीय है। इसका उदाहरण रामकृष्ण मिशन का यह हॉस्पिटल प्रस्तुत करता है। उन्होंने कहा कि स्वच्छता किसी भी अस्पताल की प्रथम शर्त होती है। वर्ष 2014 में प्रधानमंत्री जी ने स्वच्छ भारत मिशन के माध्यम से वैश्विक स्तर पर स्वच्छता का संदेश दिया था। स्वच्छता का हमारे व्यक्तित्व पर भी प्रभाव पड़ता है। 300 बेड वाला रामकृष्ण मिशन हॉस्पिटल स्वच्छता, सुपर स्पेशियलिटी सुविधाओं व सेवाभाव से युक्त है।


आयुष्मान भारत योजना के तहत देश में लोगों को 05 लाख रुपये सालाना स्वास्थ्य बीमा कवर उपलब्ध कराया जा रहा है। यह हॉस्पिटल भी आयुष्मान भारत की इनपैनल्ड सूची में शामिल होना चाहिए। इसके लिए हॉस्पिटल प्रबन्धन व जिला प्रशासन को तैयारी करनी चाहिए। एक सामान्य व्यक्ति को निःशुल्क स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान करने के लिए आयुष्मान भारत और मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना सहायक साबित हो रही हैं।चैरिटेबल हॉस्पिटल का उद्देश्य सस्ती और विश्वसनीय स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराना होना चाहिए। इस हॉस्पिटल में नर्सिंग कॉलेज की प्रक्रिया को भी आगे बढ़ाना चाहिए, क्योंकि यहां पर 100 प्रतिशत छात्रों का प्लेसमेंट किया जा सकता है। यहां पैरामेडिकल कोर्स भी चलाए जा सकते हैं। राज्य सरकार इस कार्य में पूरा सहयोग प्रदान करेगी। इसके पूर्व, मुख्यमंत्री जी ने मथुरा के श्री बांके बिहारी मंदिर में दर्शन-पूजन भी किया।इस अवसर पर पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री जयवीर सिंह, रेल विकास निगम लि0 के अध्यक्ष एवं प्रबन्ध निदेशक प्रदीप गौर सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण व शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।