हर घर पानी खुद निगरानी

405
हर घर पानी खुद निगरानी
हर घर पानी खुद निगरानी

हर घर पानी खुद निगरानी

फिल्म ’हर घर पानी खुद निगरानी’ का हुआ अनावरण। यूपी में विभाग कि सफलता से परिपूर्ण यात्रा पर आधारित ई-बुक का भी हुआ विमोचन।


लखनऊ। यूपी ने 75 लाख से अधिक नल कनेक्शन देने वाले 4 राज्यों में स्थान बनाते हुए नया कीर्तिमान स्थापित कर लिया है। योगी सरकार की इस बड़ी उपलब्धि को नमामि गंगे एवं ग्रामीण जलापूर्ति विभाग ने मंगलवार को “हर घर जल 75 लाख नल” समारोह के रूप में उत्साह के साथ मनाया।गोमतीनगर स्थित इंदिरागांधी प्रतिष्ठान के मरकरी हॉल में मुख्य अतिथि जल शक्ति मंत्री स्वतंत्र देव सिंह ने समारोह का शुभारंभ दीप प्रज्जवलन कर किया। इस मौके पर योजना को गांव-गांव, प्रत्येक ग्रामीण तक पहुंचाने वाले 75 इंजीनियरों, अधिकारियों, कर्मचारियों का सम्मान किया गया। राज्य मंत्री रामकेश निषाद भी बतौर विशिष्ट अतिथि कार्यक्रम में उपस्थित रहे।


स्वतंत्र देव सिंह ने विभाग की समस्त टीम को इस उपलब्धि पर बधाई देते हुए 75 इंजीनियर, अधिकारी और कर्मचारियों को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया। इसके साथ ही जल जीवन मिशन की दो साल की सफलतापूर्वक यात्रा पर आधारित फिल्म ’हर घर पानी खुद निगरानी’ का अनावरण किया गया। इस अवसर पर विभाग की उपलब्धियां गिनाती ई बुकलेट का विमोचन किया। कार्यक्रम में खासकर बुंदेलखंड में विपरीत परिस्थितियों में किस तरह से गांव-गांव तक स्वच्छ पेयजल उपलब्ध कराया जा रहा है, विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रमों के माध्यम से मंचित किया गया। पूर्वी, पश्चिमी यूपी के साथ प्रदेश के विभिन्न ग्रामीण क्षेत्रों में हर घर जल पहुंचने से मिली खुशियों को सांस्कृतिक झलकियों से प्रस्तुत किया गया।

यह भी पढ़ें – आज पेश होगा मोदी सरकार का आखिरी पूर्ण बजट

हर घर पानी खुद निगरानी


जल शक्ति मंत्री स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि एक समय ऐसा लग रहा था की हम लक्ष्य कैसे प्राप्त करेंगे लेकिन बहुत कम समय में विभाग के अधिकारियों -कर्मचारियों के अथक परिश्रम से हमने 75 लाख ग्रामीण परिवारों तक शुद्ध पानी पहुंचाने का लक्ष्य प्राप्त किया है। इसमें हमको गांव के लोगों का सहयोग भी मिला है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का सपना पूरा करते हुए नल से शुद्ध जल पहुँचाने का काम पूरा किया जा रहा है। अधिकारी 2047 में पानी की स्थिति और चुनौतियों को देखते हुए भविष्य के लिए व्यवस्था कर रहे हैं।

गांव- गांव घरों में नल से जल देने की व्यवस्था राष्ट्रवाद की भावना से पूरी हो रही है। उन्होंने कहा कि पुण्य कमाना हो तो पूरी ईमानदारी के साथ गरीब के घर तक पानी पहुंचाया जाए, जिससे गरीब रोग मुक्त रहें, स्वस्थ रहें, इसके लिये राज्य सरकार पूरी तरह से प्रतिबद्ध है। गरीब के लिये एक-एक बूँद अमृत के समान होती है। उन्होंने अधिकारियों से कहा विभाग के प्रति समर्पण की धारणा होनी चाहिए तभी महापुरुषों के सपने साकार होंगे।


राज्य मंत्री रामकेश निषाद ने कहा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी कि महत्वाकांक्षी योजना को प्रदेश कि योगी सरकार ने धरातल पर उतारा है। पूर्व कि सरकारों ने कभी गरीब तक कैसे पानी पहुंचेगा इसकी चिंता भी नहीं की। योगी सरकार प्रत्येक ग्रामीण तक शुद्ध पेयजल पहुंचाने का बड़ा कार्य कर रही है। क़ृषि उत्पादन आयुक्त मनोज कुमार सिंह ने कहा कि हर घर जल देने कि योजना आने के बाद जिस तेजी से काम हुआ है वो काबिले तारीफ़ है। उन्होंने कहा कि मानक पर काम होगा तो लम्बे समय तक योजना का लाभ ग्रामीणों को मिलेगा


नमामि गंगे एवं ग्रामीण जलपूर्ति विभाग के प्रमुख सचिव अनुराग श्रीवास्तव ने जीवन मिशन कि हर घर जल योजना पर प्रकाश डालते हुए 75 लाख नल कनेक्शन देने कि उपलब्धि पर विभाग के समस्त अधिकारियों को बधाई दी। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विजन के अनुरूप और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व क्षमता की बदौलत प्रदेश जल जीवन मिशन के आपेक्षित परिणाम आए हैं जिसे और आगे बढ़ाना है। केवल पानी पहुँचाना ही नहीं, संसाधन बनाने के साथ उसको बरकरार रखना भी जरूरी है। इसमें जन जन कि सहभागिता हो पानी की गुणवत्ता का भी पूरा ध्यान रखना है।


जल जीवन मिशन ने प्रदेश के 75 लाख ग्रामीण परिवारों को नल कनेक्शन देकर बेहतर सफलता हासिल की है। इस बड़ी उपलब्धि में सर्वश्रेष्ठ योगदान देने वाले विभाग के कर्मचारियों, अधिकारियों और सहयोगियों व संस्थानों के प्रतिनिधियों को सम्मानित किया गया। सम्मान पाकर कर्मचारियों और अधिकारियों के चेहरे ख़ुशी से खिल उठे कार्यक्रम में 75 कर्मचारियों, अधिकारियों और सहयोगियों संस्थानों के प्रतिनिधियों को सम्मानित किया गया।जल जीवन मिशन की हर घर जल योजना ने सर्वाधिक ग्रामीण आबादी वाले यूपी ने बहुत कम समय में एक बड़ा मुकाम हासिल किया है। 2 करोड़ 62 लाख से अधिक ग्रामीण परिवारों में से 75, 26, 740 से अधिक ग्रामीण परिवारों को नल कनेक्शन देने वाले राज्यों में चौथा स्थान हासिल किया है। यूपी से आगे बिहार 1 करोड़ 58 से अधिक, महाराष्ट्र 1 करोड़ छह लाख से अधिक और गुजरात 91 लाख से अधिक नल कनेक्शन देने वाले राज्य हैं। यूपी चौथा राज्य है जिसने काफी कम समय में कीर्तिमान स्थापित किया है।


सर्वाधिक आबादी वाले उत्तर प्रदेश की इस बड़ी उपलब्धि पर आधारित सांस्कृतिक कार्यक्रमों ने समां बाँध दिया। जल ही जीवन है बिन जल सब सून…. श्रीपाल गौड़ के निर्देशन में जल की महत्ता पर आधारित नुक्कड़ नाटक मंचन ने सभी का मन मोह लिया। नुक्कड़ नाटक में मलय दत्ता, अमन वर्मा, संजू, पूजा, मोनू, अनुपम और श्रीपाल ने शानदार प्रस्तुति दी। इसके बाद 18 कलाकारों ने बुंदेलखंड पर आधारित लोक नृत्य की प्रस्तुति देकर सभी की वाहवाही लूटी। गायिका अंशिका सिंह ने जल जीवन मिशन पर आधारित ’गंगा जी का निर्मल पानी’ गीत पर मनमोहक प्रस्तुति दी। कार्यक्रम में अवध के रंग भी दिखे तो कथक पर अधारित नृत्य नाटिकाओं ने मन मोह लिया। समापन पर बृज की होली के वो रंग बिखरे कि दर्शक एक टक देखते ही रह गये।

हर घर पानी खुद निगरानी