सिक्किम पुलिस ने अपने तीन साथियों को मारी गोली

सिक्किम पुलिस में तैनात जवान ने अपने तीन साथियों को गोली मारी, दो की मौत एक की हालत गंभीर.

अजय सिंह

दिल्ली के हैदरपुर प्लांट में तैनात एक जवान ने अपने तीन साथियों को गोली मार दी. इस घटना में दो जवान की मौत हो गई है जबकि तीसरे की हालत गंभीर बनी हुई है. पुलिस इस पूरे मामले की जांच कर रही है. अभी तक की जांच पता चला है कि आरोपी जवान ने आपस में हुई मामूली कहासुनी के बाद अपने साथियों पर गोली चलाई है.पुलिस अधिकारियों के अनुसार आरोपी जवान सिक्किम पुलिस से है. आरोपी ने घटना को अंजाम देने के बाद पास के पुलिस स्टेशन पर जाकर आत्मसमर्पण कर दिया है.

पुलिस ने मृतक जवानों के शव को कब्जे में लिया है. जबकि एक अन्य घायल जवान को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है. गौरतलब है कि पुूलिस/सेना के जवानों के किसी बात पर गुस्‍से में आकर अपने ही साथियों पर फायरिंग करने की घटनाएं हाल के समय में बढ़ी हैं. जानकार इसका कारण जवानों की काम की लंबी ड्यूटी और मुश्किल परिस्थितियों को मानते हैं.

पिछले सप्‍ताह ही में इसी तरह की घटना जम्‍मू-कश्‍मीर में सामने आई थी जब पुंछ के सुरनकोट में सुबह 5.30 बजे सेना के टेरोटियल आर्मी के एक जवान ने शुक्रवार को किसी बात पर नाराज होकर अपने साथियों पर गोली चला दी थी. घटना में दो जवान की मौत हो गई थी जबकि दो अन्‍य घायल हो गए थे. बाद में इस जवान ने खुद को भी गोली मार ली जिससे उसकी मौत हो गई थी. इस वर्ष मार्च में पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद में भी भी ऐसी ही घटना हुई थी.

पश्चिम बंगाल के सागरपारा की बीएसएफ की 117 बटालियन में मुख्य आरक्षक जॉनसन टोप्पो ने बीएसएफ के मुख्य आरक्षक एचजी शेखरन को गोली मार दी थी. बाद में उसने अपनी सर्विस राइफल से खुद को भी गोली मार ली थी. दोनों को तुरंत सागरपारा के नजदीकी अस्पताल में ले जाया गया था, जहां डॉक्टर ने उन्हें मृत घोषित कर दिया था.